Create
Notifications
Advertisement

सचिन तेंदुलकर के वनडे करियर की 3 बेहतरीन पारियां जो टीम को जीत नहीं दिला पाई

  • तेंदुलकर के वनडे करियर में कई ऐसी पारियां रही जो भारत को जीत नहीं दिला पाई।
  • इस आर्टिकल में हमने श्रेष्ठ 3 पारियों को शामिल किया है, जो टीम को सफलता नहीं दिला पाई
Prashant
ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Modified 24 Apr 2020, 10:12 IST

सचिन तेंदुलकर 
सचिन तेंदुलकर 

अपने 24 सालों के क्रिकेट करियर में जिस तरह सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट जगत पर राज किया वह कोई और नहीं कर सकता। ' लिटिल मास्टर ' ने वनडे क्रिकेट में लगभग हर बल्लेबाजी रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है। उनके नाम सबसे अधिक रन (18426), सबसे अधिक शतक (49), सबसे ज्यादा अर्द्धशतक (96) और सबसे अधिक मैन ऑफ द मैच पुरस्कार (62) जैसे बेहतरीन रिकॉर्ड्स हैं।

इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि तेंदुलकर अपने करियर के एक बड़े हिस्से में टीम के अकेले भरोसेमंद खिलाड़ी रहे। उन्होंने न केवल पूरी टीम बल्कि एक अरब से अधिक भारतीयों की उम्मीदों का बोझ अपने कंधों पर ढोया। सचिन तेंदुलकर ने अकेले दम पर टीम को एकदिवसीय क्रिकट में कई सारी जीत दिलाई है। हालांकि कुछ अवसर ऐसे भी रहे जब बल्ले के साथ तेंदुलकर की जादूगरी भी भारतीय टीम को फिनिश लाइन नहीं पार करा पाई।

यह भी पढ़ें: 5 खिलाड़ी जो दो विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम की प्लेइंग XI का हिस्सा थे

आइए नजर डालते हैं कि सचिन तेंदुलकर द्वारा खेली गई 3 बेहतरीन पारियों पर जो टीम को जीत नहीं दिला पाईं:

#3 141 बनाम पाकिस्तान, 2004


सचिन तेंदुलकर अपनी बल्लेबाजी के दौरान शॉट खेलते हुए 
सचिन तेंदुलकर अपनी बल्लेबाजी के दौरान शॉट खेलते हुए 

भारत ने 2004 में रावलपिंडी में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान का सामना किया। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी की और 329 रन बनाए। पाकिस्तान की तरफ से यासिर हमीद और शाहिद अफरीदी के बीच 138 रन की शानदार ओपनिंग साझेदारी हुई और अब्दुल रज्जाक ने आखिर में एक तेजतर्रार पारी खेली।

जवाब में तेंदुलकर ने भारत के लिए अकेले पाकिस्तानी गेंदबाजी से लोहा लिया। सचिन ने 141 रन बनाए जिसमें 17 चौके और एक छक्का शामिल रहा। लेकिन वह 264 के टीम स्कोर पर आउट हो गए और भारत की पारी ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। भारतीय टीम 317 रन ही बना सकी और उसे 12 रन से हार का सामना करना पड़ा।

तेंदुलकर की पारी की अहमियत का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि उनके बाद टीम के लिए दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले राहुल द्रविड़ रहे, जिन्होंने 36 रन बनाए थे। भले ही भारत मैच हार गया था लेकिन सचिन की पारी ने करोड़ों प्रशंसकों का दिल जीत लिया था।


1 / 2 NEXT
Published 24 Apr 2020, 10:12 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit