Create

3 दिग्गज भारतीय क्रिकेटर जो शायद अपना आखिरी टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं 

भारतीय टी20 क्रिकेट टीम
भारतीय टी20 क्रिकेट टीम
akhilesh.tiwari19

भारतीय क्रिकेट टीम टी20 वर्ल्ड कप की तैयारी में लगी हुई है। टीम में लगातार कई युवा खिलाड़ियों को मौके दिए जा रहे हैं। नवदीप सैनी, शिवम दुबे, दीपक चाहर और वाशिंगटन सुंदर जैसे खिलाड़ियों को आजमाया जा रहा है, ताकि टी20 वर्ल्ड कप तक एक मजबूत टीम का निर्माण किया जा सके।

हालांकि उससे पहले आज हम आपको भारतीय टीम के तीन ऐसे दिग्गज खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो शायद अब भारत की ओर से टी20 क्रिकेट खेलते हुए फिर कभी नहीं दिखेंगे।

यह भी पढ़ें : 3 भारतीय क्रिकेटर जिन्हें अब लंबे समय तक टेस्ट टीम से निकालना मुश्किल होगा

जानिए कौन हैं वो तीन दिग्गज खिलाड़ी :-

#3 रविचंद्रन अश्विन

रविचंद्रन अश्विन
रविचंद्रन अश्विन

साल 2017 में चैंपियंस ट्रॉफी के बाद रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा दोनों ही दिग्गज स्पिनरों के भारत की टी20 टीम से बाहर कर दिया गया और उनकी जगह कलाई स्पिनरों ने ले ली। हालांकि इतने लंबे समय बाद जहां रविंद्र जडेजा ने तो अपने बेहतरीन प्रदर्शन से वापसी कर ली लेकिन रविचंद्रन अश्विन टी20 टीम में वापसी करने में विफल रहे।

यही नहीं रविचंद्रन अश्विन के क्रिकेट के इस सबसे छोटे प्रारूप से बाहर होने का कारण यह भी रहा कि उनका बल्लेबाजी और गेंदबाजी प्रदर्शन इस प्रारूप के अनुकूल नहीं था। वहीं उनकी गैरमौजूदगी में कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल जैसे युवा स्पिनरों ने मध्यक्रम में भारत के लिए विकेट निकालने के साथ ही रनों की रफ्तार पर भी रोक लगाने का काम किया।

यही कारण रहा कि अश्विन फिर भारतीय टी20 टीम में वापसी नहीं कर सके। अश्विन ने भारत के लिए अपने अंतिम पांच टी20 मैचों में केवल दो ही विकेट चटकाए और इस दौरान उन्होंने जमकर रन भी लुटाए थे। अश्विन ने अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर में 46 मैचों में 6.97 की इकॉनमी रेट के साथ कुल 52 विकेट ही लिए हैं।

#2 केदार जाधव

केदार जाधव
केदार जाधव

भारत की ओर से वनडे क्रिकेट में कुछ शानदार पारियों की बदौलत ही केदार जाधव को भारतीय टी20 क्रिकेट टीम में शामिल किया गया था लेकिन वह अपने उस प्रदर्शन को क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में जारी नहीं रख सके। 34 साल के इस बल्लेबाज ने केवल 9 टी20 मैच ही खेले हैं, जिसमें उन्होंने केवल एक अर्धशतक लगाया है।

यही नहीं इस दौरान जाधव का औसत भी लगभग 20 का रहा। वहीं बल्लेबाजी के अलावा उन्होंने गेंदबाज में भी कोई लाजवाब प्रदर्शन नहीं किया। ऐसे में उनके इस लचर प्रदर्शन को देखते हुए अब यह कहना मुश्किल ही होगा कि शायद ही केदार जाधव अब भारतीय टी20 टीम में खेलते हुए दिखें।

यही नहीं उनके टी20 टीम से बाहर होने का एक कारण यह भी है कि अब टीम के पास केदार जाधव की जगह हार्दिक पांड्या जैसे बेहतरीन आलराउंडर और ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी मौजूद हैं, जो मैच के अंतिम ओवरों में बड़े हिट लगा सकते हैं।

#1 महेंद्र सिंह धोनी

महेेंद्र सिंह धोनी
महेेंद्र सिंह धोनी

टी20 क्रिकेट ही बात हो और महेंद्र सिंह धोनी का नाम ना आए, ऐसा हो ही नहीं सकता। क्योंकि धोनी ने ही अपनी कप्तानी में भारत को 2007 में टी20 विश्वकप के पहले ही टूर्नामेंट में चैंपियन बनाया था। हालांकि अब ऐसा माना जा रहा है कि शायद ही एमएस धोनी फिर कभी भारत के लिए टी20 क्रिकेट खेलते नजर आएं।

दरअसल विश्वकप 2019 के खत्म होने के बाद से ही धोनी क्रिकेट से ब्रेक पर चल रहे हैं। ऐसे में अब यह कयास भी लगाए जा रहे हैं कि महेंद्र सिंह धोनी जल्द ही क्रिकेट को अलविदा भी कह सकते हैं। यही कारण रहा कि चयनकर्ता भी लगातार उनकी जगह विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में ऋषभ पंत को मौका दे रहे हैं। जिससे आने वाले टी20 विश्वकप की तैयारी हो सके। आपको बता दें कि धोनी ने अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर में कुल 98 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 126.1 के स्ट्राइक रेट और 37.6 की औसत से 1617 रन बनाए हैं।

Edited by मयंक मेहता

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...