3 कारण क्यों रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु आज तक नहीं जीत पाई है एक भी IPL की ट्रॉफी

RCB ने अभी तक एक भी ट्रॉफी नहीं जीती है (Photo Credit - IPLT20)
RCB ने अभी तक एक भी ट्रॉफी नहीं जीती है (Photo Credit - IPLT20)

Why RCB Did Not win Single IPL Trophy : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए एक और सीजन बिना ट्रॉफी के समाप्त हो गया। टीम से आईपीएल के 17वें सीजन के दौरान काफी ज्यादा उम्मीदें थीं लेकिन इस बार भी निराश हाथ लगी और आरसीबी की टीम ट्रॉफी नहीं जीत पाई। टीम को एलिमिनेटर मुकाबले में आकर हार का सामना करना पड़ा और उनका आईपीएल का खिताब जीतने का सपना एक बार फिर अधूरा रह गया है।

आरसीबी ने अभी तक आईपीएल इतिहास में 3 बार फाइनल में जगह बनाई है और कई बार प्लेऑफ तक भी पहुंचे हैं लेकिन इसके बावजूद वो ट्रॉफी अपने नाम नहीं कर पाए हैं। हम आपको इसके तीन कारण बताते हैं कि क्यों आरसीबी आज तक एक भी आईपीएल की ट्रॉफी अपने नाम नहीं कर पाई है।

1.बड़े मैचों का दबाव नहीं झेल पाना

इंटरनेशनल क्रिकेट में जो हाल भारतीय टीम का है, वही हाल आईपीएल में आरसीबी का है। जिस तरह इंडियन टीम आईसीसी के नॉकआउट मैचों में आकर हार जाती है, उसी तरह आरसीबी प्लेऑफ में आकर हार जाती है। टीम को 2009 के फाइनल, आईपीएल 2010 के सेमीफाइनल, 2011 के फाइनल, 2016 के फाइनल, 2022 के क्वालीफायर और 2024 के एलिमिनेटर में हार का सामना करना पड़ा। इससे यही पता चलता है कि टीम बड़े मैचों का दबाव नहीं झेल पाती है और इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ता है। जब आप लगातार नॉकआउट में आकर हार जाएं तो फिर आपकी कमजोरी पूरी दुनिया के सामने जाहिर हो जाती है।

2.जीतने वाली मानसिकता की कमी होना

अगर कोई टीम लगातार प्लेऑफ में आकर हार रही है तो कही ना कहीं उनके माइंडसेट की वजह से ऐसा हो रहा है। जब आप दिमागी तौर पर किसी चीज के लिए तैयार ही नहीं होते हैं तो फिर उस चीज को पूरा कैसे कर पाएंगे। आरसीबी का माइंडसेट नॉकआउट मैचों में आकर काफी खराब हो जाता है। वो अनावश्यक दबाव अपने ऊपर लेने लगते हैं और काफी डरकर खेलने लगते हैं। जब आप किसी भी मैच में डरकर खेलेंगे तो फिर आपका बेस्ट परफॉर्मेंस निकलकर सामने नहीं आ पाएगा और आरसीबी के साथ यही हो रहा है।

3.एक भी ट्रॉफी नहीं जीत पाने का दबाव

आरसीबी के ऊपर एक बड़ा दबाव इसका भी रहता है कि वो एक बार भी आईपीएल की ट्रॉफी नहीं जीत पाए हैं। हर सीजन में उतरने से पहले ही उनको लेकर ये चर्चा शुरु हो जाती है कि क्या इस बार टीम अपनी किस्मत बदल पाएगी। जब आपके ऊपर शुरु से ही इस तरह का टैग लग जाता है तो फिर आगे की राह काफी मुश्किल हो जाती है। आप अतिरिक्त दबाव के साथ खेलने लगते हैं और अपना नैचुरल परफॉर्मेंस नहीं दे पाते हैं।

Quick Links

App download animated image Get the free App now