Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 क्रिकेटर जिनका रणजी प्रदर्शन उन्हें IPL 2018 में दे सकता है बड़ा मौक़ा

Rahul Pandey
ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 20:25 IST
Advertisement

2017-18 की रणजी ट्राफी इस प्रीमीयर टूर्नामेंट का 84वां सीज़न था, जो हाल ही में समाप्त हुआ। इस साल के टूर्नामेंट से पहले, विदर्भ पसंदीदा सूची में भी शामिल नहीं थीं। हालांकि, एक अविश्वसनीय प्रदर्शन ने उन्हें उनका पहला रणजी ट्रॉफी ख़िताब दिलाया, जैसा कि पिछले साल गुजरात ने किया था। हर सीजन में नए खिलाड़ियों का उभरना, जिनका नाम पहले कभी सुना न गया हो यह सिलसिला पिछले कई सालों से चलता रहा है। इंडियन प्रीमीयर लीग की बड़ी नीलामी के साथ, सभी फ्रेंचाइजियों की नज़र रणजी ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन करने वाले इन खिलाड़ियों पर होगी। आईये नज़र डाले ऐसे कुछ खिलाड़ीयों पर, जिन्होंने प्रतिष्ठित रणजी ट्रॉफी में अपने प्रदर्शन से इस बार अपना नाम बनाया है और 2018 में  आईपीएल की होने वाली नीलामी में चुने जाने की संभावना है।

# 5 अनमोलप्रीत सिंह

3649e-1514895885-800 अनमोलप्रीत सिंह निश्चित रूप से भविष्य के सितारे बनने वाले हैं। रणजी ट्रॉफी में पंजाब के इस युवा ने सिर्फ 5 मैचों में अपनी योग्यता साबित कर दी। उन्होंने 125.50 की अविश्वसनीय औसत से 753 रन बनाए, जिसमें दो बड़े 250 + स्कोर भी शामिल हैं। उन्हें 2015 में बीसीसीआई ने सबसे बेहतरीन अंडर -19 क्रिकेटर सम्मान एमए चिदंबरम ट्राफी से नवाज़ा था। 2016 में उन्हें अंडर-19 विश्व कप के लिए चुना गया था और उन्हें क्वार्टर फाइनल में पहली बार खेलने का मौका दिया गया था, जहां उन्होंने 42 गेंदों में तेज़ 41 रन बनाए। उन्होंने सेमीफाइनल में भी शानदार प्रदर्शन किया जहां उनके 72 रन ने उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिलाया। अनमोलप्रीत को आखिरकार 2017 में रणजी ट्रॉफी में मौका मिला, जहां उन्होंने हिमाचल प्रदेश के खिलाफ पहली पारी में अर्धशतक लगाया। हालांकि, युवराज सिंह को टीम में शामिल करने के लिए, अनमोलप्रीत को विवादित रूप से टीम से निकाल दिया गया। उन्हें अंडर -23 सीके नायडू ट्राफी में खेलने के लिए कहा गया था। अनमोलप्रीत ने इस अवसर को भी हाथ से जाने नहीं  दिया, और अंडर -23 में हिमाचल प्रदेश की टीम के खिलाफ बेहतरीन 202 रन की पारी खेली। उनकी इस शानदार पारी के चलते उन्हें रणजी ट्रॉफी के लिये दोबारा बुलाया गया, जहां उन्होंने गोवा के खिलाफ शतक लगा कर अपनी वापसी की घोषणा कर दी। यह सिर्फ शुरुआत थी, क्योंकि इसके बाद वह दो शानदार 250+ के स्कोर बनाने में भी सफल हुए थे। छत्तीसगढ़ के खिलाफ उनकी पारी एक यादगार परियों में से है जहाँ उन्होंने 262 गेंदों में 267 रनों की पारी खेली थी। उनकी दूसरी बड़ी पारी सर्विसेज के खिलाफ आई थी, जहां वह 252 रन पर नाबाद रहे थे। पंजाब के कप्तान हरभजन सिंह ने बाद में स्वीकार किया कि अगर उन्होंने पारी घोषित नहीं की होती तो अनमोलप्रीत तिहरा शतक भी जड़ सकने के करीब थे। रणजी में उनके शानदार प्रदर्शन ने उन्हें बोर्ड प्रेसिडेंट-XI के लिए वार्मअप मैच में श्रीलंका के खिलाफ खेलने का अवसर प्राप्त किया। हालांकि उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला, लेकिन अनमोलप्रीत को यह जान कर निश्चित तौर पर खुशी हुई होगी कि बल्ले के साथ उनके प्रदर्शन पर सबका ध्यान जा रहा है। उनके बड़े आकड़ों के अलावा, आईपीएल टीमों को उनकी रन बनाने की गति भी प्रभावित करेगी। दाएं हाथ से ऑफ ब्रेक गेंदबाजी करने की उनकी क्षमता उनके अवसरों को बढ़ाती है। कुल मिलाकर, अनमोलप्रीत किसी भी टीम के लिए एक अच्छी खरीद बन सकते है। इसे भी पढ़ें: आईपीएल नीलामी 2018 : 5 ऐसे खिलाड़ी जो 20 करोड़ से ज़्यादा की क़ीमत पर बिक सकते हैं  
1 / 5 NEXT
Published 10 Jan 2018, 14:45 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit