लॉर्ड्स पर अपना टेस्ट डेब्यू करने वाले 5 महान खिलाड़ी

लॉर्ड्स में डेब्यू करने वाले दिग्गज
लॉर्ड्स में डेब्यू करने वाले दिग्गज

यदि दुनिया का कोई ऐसा ग्राउंड है जिस पर हर क्रिकेटर टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहता है तो वह निश्चित रूप से लॉर्ड्स का प्रतिष्ठित ग्राउंड है। इस ग्राउंड से कई ऐसे फैक्ट जुड़े हैं जो इसे काफी शानदार बनाते हैं। बड़े कमरे और ढाल दो ऐसे ही फैक्टर हैं जो इस ऐतिहासिक मैदान से जुड़े हैं और अब लोक-साहित्य का हिस्सा बन चुके हैं।

ऑनर बोर्ड और मीडिया सेंटर दो ऐसी शानदार चीजें हैं जिन्हें दुनिया के अन्य कई स्टेडियमों में कॉपी किया जा रहा है। इस मैदान पर खेलना खिलाड़ियों के लिए गर्व की बात होती है और कुछ लकी खिलाड़ी होते हैं जिन्हें लॉर्ड्स पर अपना डेब्यू करने का मौका मिलता है और इस कड़ी में हालिया नाम जोफ्रा आर्चर का जुड़ा है।

एक नजर उन 5 महान खिलाड़ियों पर जिन्होंने लॉर्ड्स पर अपना टेस्ट डेब्यू किया था।

यह भी पढ़ें: एक दशक में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले टॉप 3 बल्लेबाज

#5 केविन पीटरसन

केविन पीटरसन
केविन पीटरसन

2005 एशेज के दौरान केविन पीटरसन को इंग्लैंड की टीम में शामिल किए जाने पर कई लोगों ने सवाल खड़े किए थे क्योंकि उनका एटीट्यूड लोगों को पसंद नहीं था। हालांकि, माइकल वॉन ने इन चीजों को नजरअंदाज करते हुए सीरीज़ के पहले टेस्ट में पीटरसन को लॉर्ड्स में टेस्ट डेब्यू करने का मौका दिया।

पीटरसन की डेब्यू इनिंग ने सबके मुंह बंद कर दिए और उन्होंने आक्रामक रवैये के साथ 21 रनों पर 5 विकेट गंवा चुकी इंग्लैंड की वापसी कराई। भले ही इंग्लैंड ने 239 रनों से मुकाबला गंवा दियाा, लेकिन पीटरसन ने दोनों पारियों में रन बनाए। पांचवें टेस्ट में शेन वॉर्न की शानदार गेंदबाजी के बावजूद पीटरसन की काउंटर अटैकिंग 158 रनों की पारी ने दिखाया कि वह स्पिन को भी अच्छी तरह खेल सकते थे।

2012 में भारत के खिलाफ मुंबई में एक बार फिर टर्न लेती पिच पर पीटरसन ने अपना कमाल दिखाया और 28 साल बाद इंग्लैंड को भारत में टेस्ट सीरीज़ जिताई।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

#4 सौरव गांगुली

सौरव गांगुली
सौरव गांगुली

1996 में इंग्लैंड दौरे पर गई भारतीय टीम के पास उस समय 23 साल के रहे सचिन तेंदुलकर के अलावा कोई सहारा नहीं था और पहले टेस्ट में खराब प्रदर्शन के बाद सौरव गांगुली को लॉर्ड्स में डेब्यू करने का मौका दिया गया।

गांगुली ने 20 बाउंड्री के साथ 131 रनों का स्कोर बनाया और ऑनर बोर्ड पर अपना नाम लिखवा लिया। इसके अलावा गांगुली ने 3 विकेट भी झटके थे।

#3 स्टीव स्मिथ

स्टीव स्मिथ
स्टीव स्मिथ

यह बेहद अजीब बात है कि इस पीढ़ी के सबसे बेहतरीन टेस्ट बल्लेबाज ने लेग स्पिनर के तौर पर अपना टेस्ट डेब्यू किया था। सुरक्षा कारणों से कुछ दिनों तक पाकिस्तान ने इंग्लैंड को अपना होम मैदान बनाया था और उसी दौरान स्टीव स्मिथ ने लॉर्ड्स पर पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया।

स्मिथ को उस समय शेन वॉर्न के रिप्लेसमेंट के तौर पर देखा जा रहा था, लेकिन उन्होंने खुद को इस पीढ़ी का बेस्ट टेस्ट बल्लेबाज बना लिया।

#2 जेम्स एंडरसन

जेम्स एंडरसन
जेम्स एंडरसन

क्रिकेट के सबसे सफल तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने सबसे पुराने मैदान पर अपना टेस्ट डेब्यू किया था। जिम्बाब्वे के खिलाफ गेंदबाजी की शुरुआत करने वाले एंडरसन ने अपने डेब्यू इनिंग में ही अपना पहली पारी में 5 विकेट हासिल किये।

लॉर्ड्स के साथ एंडरसन का प्यार इतना है कि उन्होंने अपना 300वां और 500वां विकेट भी लॉर्ड्स पर हासिल किया। लॉर्ड्स में 103 विकेट ले चुके एंडरसन एक मैदान पर सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं।

#1 राहुल द्रविड़

राहुल द्रविड़
राहुल द्रविड़

1996 में राहुल द्रविड़ ने सौरव गांगुली के साथ लॉर्ड्स पर अपना टेस्ट डेब्यू किया था। डेब्यू मुकाबले में द्रविड़ ने 95 रनों की पारी खेली और अंतिम चार विकेटों के लिए 133 रन जोड़े। द्रविड़ इतने महान खिलाड़ी थे कि वह केवल लॉर्ड्स के ऑनर बोर्ड पर नहीं रहेंगे बल्कि उनका नाम हर उस किताब में होगा जिस भी किताब में टेस्ट क्रिकेट का जिक्र किया जाएगा।

Quick Links

App download animated image Get the free App now