Create
Notifications

8 विदेशी खिलाड़ी जिन्हें आप नहीं जानते होंगे उन्होंने कभी आईपीएल में खेला था

Image result for michael klinger kochi tuskers
reaction-emoji
आशीष कुमार

दुनिया की सबसे बड़ी टी-20 लीग, इंडियन प्रीमियर लीग, पिछले काफी समय से भारतीय युवा क्रिकेटरों को उनका कौशल दिखने का आदर्श मंच उपलब्ध करवाती रही है। रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या, उमेश यादव, युजवेंद्र चहल और कई अन्य खिलाड़ी आईपीएल की खोज हैं।

सिर्फ भारतीय ही नहीं, कई विदेशी खिलाड़ियों ने भी पिछले कुछ वर्षों में आईपीएल में शानदार प्रदर्शन कर अपनी राष्ट्रीय टीम में वापसी की है। एबी डीविलियर्स, क्रिस गेल और लसिथ मलिंगा, शॉन मार्श, क्रिस मॉरिस और ग्लेन मैक्सवेल इन खिलाड़ियों की श्रेणी में आते हैं।

हालांकि, कुछ अन्य विदेशी खिलाड़ी ऐसे भी थे जो इस लीग में उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सके और सीमित अवसरों के बाद गुमनामी में चले गए।

यहां, हम आठ ऐसे विदेशी खिलाड़ियों पर एक नज़र डालेंगे जिन्हें शायद आप नहीं जानते होंगे उन्होंने कभी आईपीएल में खेला था:

1.माइकल क्लिंगर (कोच्चि टस्कर्स केरला, 2011)

Image result for michael klinger kochi tuskers

ऑस्ट्रेलिया के घरेलू सर्किट में एक बड़ा नाम, माइकल क्लिंगर ने आईपीएल 2011 में कोच्चि टस्कर्स केरल के लिए अपना पहला और आखिरी सीज़न खेला था।

केरल फ्रैंचाइज़ी ने 30 वर्षीय क्लिंगर को आईपीएल नीलामी में 75,000 डॉलर की कीमत में खरीदा था। हालाँकि, दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ अपना पहला मैच खेलते हुए, वह सिर्फ 2 रन पर आउट हो गए थे।

क्लिंगर ने इस सीज़न में खेले 4 मैचों में 18.25 की औसत और 94.81 की स्ट्राइक रेट के साथ कुल 73 रन बनाए थे। अपने इस एकमात्र सीज़न में उनका उच्चतम स्कोर 29 था। इसके बाद दोबारा हमने कभी उन्हें आईपीएल में नहीं देखा।

2. एड्रियन बराथ (किंग्स इलेवन पंजाब, 2010)

अपने टेस्ट डेब्यू पर गाबा मैदान में धमाकेदार शतक से सभी को प्रभावित करने वाले त्रिनिदाद एंड टोबैगो के सलामी बल्लेबाज को किंग्स इलेवन पंजाब ने 2010 की आईपीएल नीलामी में 75,000 डॉलर में खरीदा था।

हालाँकि, बराथ को आईपीएल में ज़्यादा मैच खेलने के मौके नहीं मिले और अपने एकमात्र सीज़न में 3 मैचों में उन्होंने 21 की औसत से 42 रन बनाए और 33 उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा था।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

3. टायरन हेंडरसन (राजस्थान रॉयल्स, 2009)

Tyron Henderson celebrating after picking a wicket for Rajasthan Royals

खेल के सबसे छोटे प्रारूप में अपने लगातार अच्छा प्रदर्शन करने और दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दोनों में टी-20 मैचों में खेलने के अनुभव की वजह से, हेंडरसन को राजस्थान रॉयल्स ने 2009 की आईपीएल नीलामी में 650,000 डॉलर में खरीदा था। सीमर ऑलराउंडर ने हालांकि अपने एकमात्र आईपीएल सीजन में सिर्फ दो मैच खेले थे।

हेंडरसन आईपीएल में अपने काउंटी प्रदर्शन को दोहरा नहीं सके और 2 मैचों में 5.5 के औसत और 68.75 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ 11 रन ही बना पाए। गेंद के साथ उन्होंने अपने कुल छह ओवरों में सिर्फ एकमात्र विकेट लिया।

4. ग्राहम नेपियर (मुंबई इंडियंस, 2009)

एसेक्स के लिए 58 गेंदों में 152 रन बनाकर सुर्खियां बटोरने वाले, नेपियर को 2009 की आईपीएल नीलामी में मुंबई इंडियंस ने अपनी टीम में शामिल किया था।

दाएं हाथ के मध्यम-तेज़ गति के गेंदबाजी ऑलराउंडर को मुंबई फ्रेंचाइजी की ओर से केवल एक ही मैच खेलने का मौका मिला।

उस सीज़न में खेले एकमात्र मैच में, नेपियर ने 16 गेंदों में एक चौके के साथ सिर्फ 15 रन बनाए थे। जबकि गेंद के साथ, उन्होंने 6.75 की इकोनोमी रेट से 4 ओवर के अपने स्पेल में 27 रन देकर सिर्फ एक विकेट हासिल किया था।

5. डिलन डू प्रीज़ (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, 2009)

Dillon Du Preez during his IPL debut against Mumbai Indians

डिलन डू प्रीज़ को आईपीएल सीज़न 2009 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से खेलने का मौका मिला। इससे पहले उन्होंने दक्षिण अफ्रीकी घरेलू सर्किट में शानदार प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया था।

उन्होंने इस सीज़न के अपने डेब्यू मैच में सचिन तेंदुलकर के बेशकीमती विकेट सहित कुल 3 विकेट लिए थे।

डू प्रीज़ ने उस सीज़न में खेले कुल दो मैच में (एक मुंबई इंडियंस के खिलाफ और दूसरा राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ) कुल 7 ओवर फेंके और 8 की इकॉनोमी से 4 विकेट चटकाए और मुंबई इंडियंस के खिलाफ 3/32 उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी आंकड़ा रहा।

6. ली कार्सेलडीन (राजस्थान रॉयल्स, 2009)

मध्यम-तेज़ गति के गेंदबाज़ और आक्रमक बल्लेबाज़, ली कार्सेलडीन 2009 में गत चैंपियन राजस्थान रॉयल्स से जुड़े थे।

कार्सेलडीन को पाकिस्तानी खिलाड़ियों के प्रतिस्थापन के रूप में टीम में शामिल किया गया था। डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ अपने डेब्यू मैच में उन्होंने 39 रनों की शानदार पारी खेली थी।

आईपीएल में कार्सेलडीन ने खेले 5 मैचों में 20.25 की औसत और 119.12 की स्ट्राइक रेट के साथ कुल 81 रन बनाए और गेंदबाज़ में उन्होंने अपने एकमात्र ओवर में 6 रन देकर एक विकेट हासिल किया था।

7. मोर्ने वान विक (कोलकाता नाइट राइडर्स, 2009)

Morne Van Wyk during his 43* against RCB

दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर-बल्लेबाज को 2009 में कोलकाता नाइट राइडर्स ने अपनी टीम में चुना और विक ने यहां भी अपनी उपयोगिता साबित की।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए अपने डेब्यू मैच में उन्होंने धमाकेदार 43* रनों की पारी खेली, हालाँकि कोलकाता की टीम यह मैच हार गई थी। इस सीज़न में उनका सर्वाधिक स्कोर 74* रन रहा जो उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ बनाया था।

अपने एकमात्र सीज़न में खेले 5 मैचों में विक ने 55.67 की शानदार औसत और 126.52 की स्ट्राइक रेट से कुल 167 रन बनाए थे।

8. एश्ले नोफके (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, 2008)

एशले नोफ़के, जिन्होंने 2008 में भारत के खिलाफ एकदिवसीय मैच से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पर्दापण किया था ,अपने देश के साथी खिलाड़ी नाथन ब्रैकन के प्रतिस्थापन के रूप में बेंगलुरु टीम में शामिल हुए थे।

उस सीज़न में खेले अपने एकमात्र मैच में उन्होंने 4 ओवरों के अपने स्पेल में 40 रन देकर 1 विकेट हासिल किया था। बल्ले से उन्होंने केवल 9 रन बनाए थे और अपनी टीम को केकेआर के खिलाफ हार से बचा नहीं पाए।

Edited by निशांत द्रविड़
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...