Create

विराट कोहली और बीसीसीआई के बीच मतभेद पर पूर्व क्रिकेटर ने दी बेबाक राय

विराट कोहली और बीसीसीआई अधिकारियों ने अलग-अलग बयान दिए थे
विराट कोहली और बीसीसीआई अधिकारियों ने अलग-अलग बयान दिए थे

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) का मानना है कि विराट कोहली (Virat Kohli) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के बीच कप्‍तानी का पूरा मामला बेहतर तरीके से संभाला जा सकता था।

सौरव गांगुली और बीसीसीआई के अन्‍य पदाधिकारियों ने कहा था कि कोहली को भारतीय टी20 कप्‍तानी नहीं छोड़ने का आग्रह किया गया था और साथ ही साथ क्रिकेटर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज से ब्रेक मांगा था। हालांकि, कोहली ने दक्षिण अफ्रीका जाने से पहले प्रेस कांफ्रेंस में इन दोनों ही बयानों को गलत ठहराया था।

अपने यूट्यूब चैनल पर आकाश चोपड़ा से पूछा गया कि अगर विराट कोहली और बीसीसीआई के बीच मौजूदा स्थिति को पेशेवर तरीके से ठीक किया जा सकता था। इस पर चोपड़ा ने जवाब दिया, 'इसको निश्चित ही बेहतर तरीके से संभाला जा सकता था। कई ऐसी चीजें हैं, जो बेहतर तरीके से हो सकती थी, जहां उन्‍हें पूछने या फिर बातचीत की जरूरत है।'

क्रिकेटर से कमेंटेटर बने चोपड़ा ने साथ ही कहा कि बीसीसीआई को कोहली के कप्‍तान के रूप में योगदान को देखकर उन्‍हें ऐसा फैसला लेने का कारण समझाना चाहिए।

आकाश चोपड़ा ने कहा, 'आपको असल में पूछने की जरूरत नहीं जब आप किसी को कप्‍तानी पद से हटा रहे हो। आपको बताना होता है, लेकिन यह स्थिति बेहतर तरीके से संभाली जा सकती थी। आपको ध्‍यान देना चाहिए कि कप्‍तान ने बहुत अच्‍छा प्रदर्शन किया, लेकिन आप आगे बढ़ रहे हैं और कुछ भी बता नहीं रहे हैं। वो बातचीत हो सकती थी।'

विराट कोहली ने खुलासा किया कि चयन समिति के चेयरमैन चेतन शर्मा ने उन्‍हें कप्‍तानी से हटाए जाने की सूचना टेस्‍ट टीम की घोषणा के डेढ़ घंटे पहले दी थी।

विराट कोहली को फोन उठाकर उनसे बात करना चाहिए थी: चोपड़ा

आकाश चोपड़ा का मानना है कि विराट कोहली को भी इस तरह के बयान देने से पहले बीसीसीआई को सफाई देना चाहिए थी। उन्‍होंने ध्‍यान दिया, 'विराट कोहली को भी फोन उठाकर उनसे बातचीत करना चाहिए था। उन सभी से, जिनके बयान उन्‍हें पसंद नहीं आए क्‍योंकि यह बातें सूत्रों के हवाले से नहीं आई थी, इसमें बीसीसीआई अधिकारी शामिल थे।'

आकाश चोपड़ा ने कहा कि अफवाहों के बाजार को इस मामले से सबसे ज्‍यादा फायदा हुआ। उन्‍होंने कहा, 'तो ऐसे बातचीत करते हैं कि हम दो में से कोई एक वयस्‍क जैसे बड़ा और बीसीसीआई अधिकारी भी यही चीज कर सकते थे। जनता के बीच गंदे कपड़े धोना कभी अच्‍छी चीज नहीं है। अफवाह का बाजार गर्म हो चला और फिर समान सूत्र, समान ड्रामा, हम स्‍क्‍वायर वन पर पहुंच गए, जो हम बिलकुल नहीं चाहते थे।'

आकाश चोपड़ा ने कहा कि इन विवादों का असर भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका दौरे के प्रदर्शन पर नहीं पड़ेगा। उन्‍होंने कहा कि भारतीय टीम पेशेवर ईकाई है और अच्‍छा प्रदर्शन करेगी।

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment