Create
Notifications

"सौरव गांगुली के अंदर खिलाड़ियों का टैलेंट पहचानने की बेहतरीन क्षमता थी"

सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट की दिशा और दशा ही बदल दी
सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट की दिशा और दशा ही बदल दी
Nitesh
ANALYST

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को लेकर आकाश चोपड़ा ने बड़ी प्रतिक्रिया दी है। आकाश चोपड़ा ने सौरव गांगुली की कप्तानी की काफी तारीफ की और कहा कि उनके अंदर टैलेंट को पहचानने की बेहतरीन क्षमता थी।

सौरव गांगुली ने ऐसे समय में टीम इंडिया की कमान संभाली थी जब टीम काफी मुश्किल दौर से गुजर रही थी। लेकिन उन्होंने टीम को फिर से खड़ा किया और ये विश्वास दिलाया कि बाहर जाकर भी भारत मुकाबले जीत सकता है।

सौरव गांगुली ने काफी अच्छी तरह से भारतीय टीम को मैनेज किया था -आकाश चोपड़ा

अपने यू-ट्यूब चैनल पर आकाश चोपड़ा ने सौरव गांगुली को लेकर कहा "उस समय टीम में कई बड़े प्लेयर थे। सचिन तेंदुलकर राहुल द्रविड़, अनिल कुंबले और वीवीएस लक्ष्मण। गांगुली ने इन सबको काफी अच्छी तरह से मैनेज किया। गांगुली सबको साथ लेकर चले और सभी खिलाड़ियों से वो सलाह लेते थे और उनकी सुनते थे।"

आकाश चोपड़ा ने आगे कहा "गांगुली ने ट्रांजिशन पीरियड को काफी अच्छे से संभाला। उन्होंने एक नई टीम बनाई और उसके बाद चीजें लगातार बदलती रहीं। गांगुली की सबसे खास बात ये थी कि उनके अंदर टैलेंट की परख थी और एक कप्तान के अंदर ये क्वालिटी जरूर होना चाहिए। उन्हें पता था कि कौन सा खिलाड़ी कितनी दूर तक आगे जा सकता है। युवराज सिंह, जहीर खान, आशीष नेहरा, वीरेंदर सहवाग, हरभजन सिंह और यहां तक कि एम एस धोनी ने भी अपना डेब्यू उनकी ही कप्तानी में किया था।"

गौरतलब है कि सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत ने 49 टेस्ट खेले जिसमें से 21 में जीत मिली और 13 में हार का सामना करना पड़ा। वहीं वनडे में 146 मैंचों में उन्होंने कप्तानी की 76 में जीत हासिल की। 2002 में उनकी कप्तानी में नेटवेस्ट ट्रॉफी में मिली जीत आज भी लोगों के जेहन में ताजा है।

ये भी पढ़ें: "साकिब महमूद इंग्लैंड टेस्ट टीम में स्टुअर्ट ब्रॉड की जगह ले सकते हैं"

Edited by Nitesh
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now