भानुका राजपक्षे और जॉनी बेयरस्टो को एक साथ प्लेइंग XI में फिट करने का पूर्व खिलाड़ी ने बताया रास्ता 

भानुका राजपक्षे और जॉनी बेयरस्टो में से किसी एक को ही अभी तक मौका मिला है
भानुका राजपक्षे और जॉनी बेयरस्टो में से किसी एक को ही अभी तक मौका मिला है

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने बताया कि पंजाब किंग्स (Punjab Kings) को भानुका राजपक्षे (Bhanuka Rajapaksa) को प्लेइंग XI में लाने एक लिए जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) को ड्रॉप करने की जरूरत नहीं है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने सुझाव दिया कि राजपक्षे और बेयरस्टो दोनों को टीम में जगह मिल सकती है अगर पंजाब को कगिसो रबाडा के रूप में एकमात्र विदेशी गेंदबाज खिलाने में कोई समस्या न हो।

जॉनी बेयरेस्टो ने अभी तक आईपीएल 2022 में पंजाब किंग्स के लिए चार मुकाबले खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 105.13 की स्ट्राइक रेट से केवल 41 रन ही बनाए हैं। वहीं उनकी अनुपस्थिति में भानुका राजपक्षा ने तीन मैचों में 230.56 की जबरदस्त स्ट्राइक रेट से 83 रन बनाए थे।

पंजाब किंग्स को आज मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स का सामना करना है और इस मुकाबले के लिए कई जानकारों ने बेयरस्टो की जगह राजपक्षे को खिलाने का सुझाव दिया है। इसको लेकर अपने यूट्यूब चैनल पर चोपड़ा ने कहा,

पंजाब किंग्स भानुका राजपक्षे को दोबारा प्लेइंग इलेवन में शामिल करने और जॉनी बेयरस्टो को बाहर निकालने के बारे में सोच सकती है। यह एक विकल्प हो सकता है। हालाँकि वो राजपक्षे को नंबर तीन पर और जॉनी बेयरस्टो को नंबर 4 पर खिला सकते हैं। उसके बाद लियाम लिविंगस्टोन को खिला सकते हैं। तीन विदेशी स्लॉट भरने के साथ, वे कगिसो रबाडा के साथ एकमात्र विदेशी गेंदबाज के रूप में खेल सकते हैं। बाकी जगह भारतीय गेंदबाज भर सकते हैं। बरार के अलावा तेज गेंदबाज संदीप शर्मा भी एक विकल्प हैं।

पूर्व खिलाड़ी ने आगे कहा कि पंजाब का बल्लेबाजी डिपार्टमेंट मजबूत नहीं दिख रहा है, पीबीकेएस हरप्रीत बरार या ऋषि धवन जैसे हरफनमौला खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में शामिल करके टीम को मजबूत करने की कोशिश कर सकती है। चोपड़ा ने कहा,

PBKS का आक्रामक बैटिंग एप्रोच ने पिछले दो मैचों में काम नहीं किया है। बेहतर संतुलन के लिए, बाएं हाथ के स्पिनर हरप्रीत बरार को टीम में शामिल किया जा सकता हैं। जब वह खेले थे तो उन्होंने अच्छा काम किया था। उनके पास ऋषि धवन के रूप में एक ऑलराउंडर भी है, इसलिए पंजाब उनके बारे में भी सोच सकती है।

पीबीकेएस को आक्रामक रुख के बीच संतुलन तलाशने की जरुरत हैं - आकाश चोपड़ा

बल्ले के साथ पंजाब की मैदान पर जाकर तेजी से खेलने और आउट होने की रणनीति ने अभी तक मिलेजुले नतीजे दिए हैं। पंजाब को अपना आक्रामक रवैया नहीं बदलने का सुझाव देते हुए, चोपड़ा ने उन्हें स्थिति को और अधिक ध्यान से समझने की सलाह दी। उन्होंने कहा,

पंजाब का आक्रामक रुख अपनाना एक बहुत अच्छी सोच है लेकिन टीम फिलहाल कहां खड़ी है, इसे देखते हुए उन्हें थोड़ा जागरूक होना होगा। वे या तो धमाल मचा रहे हैं या फेल रहे हैं।

आईपीएल 2022 में पंजाब सात में तीन जीत और चार हार के साथ अंक तालिका में आठवें स्थान पर है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now