Create
Notifications

गौतम गंभीर का बड़ा बयान, अगर डीआरएस होता तो अनिल कुंबले के 1000 विकेट होते

अनिल कुंबले
अनिल कुंबले
Nitesh

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने अनिल कुंबले (Anil Kumble) को लेकर एक बड़ी प्रतिक्रिया दी है। गौतम गंभीर के मुताबिक अगर अनिल कुंबले के जमाने में डीआरएस होता तो शायद उनके 1 हजार विकेट होते।

दरअसल हाल ही में पूर्व दिग्गज युवराज सिंह ने अहमदाबाद में भारत और इंग्लैंड के बीच हुए तीसरे टेस्ट मैच की पिच को लेकर सवाल उठाए थे। गौतम गंभीर से ईएसपीएन क्रिकइंफो पर पूछा गया कि क्या वो युवराज के इस राय से इत्तेफाक रखते हैं तो उन्होंने कहा,

हां विकेट आज की क्रिकेट में अलग हैं लेकिन डीआरएस की भूमिका उसमें काफी अहम होती है। अगर हरभजन सिंह और अनिल कुंबले के समय में डीआरएस होता तो फिर कुंबले के 1000 विकेट होते और हरभजन सिंह 700 विकेट्स चटकाते। डीआरएस की भूमिका खासकर इंडिया में काफी अहम होती है, क्योंकि यहां पर अंदरुनी किनारा काफी लगता है।

ये भी पढ़ें: विनय कुमार का चौंकाने वाला बयान, कहा मैं भारत के लिए और टेस्ट मुकाबले खेल सकता था

गौतम गंभीर ने आगे कहा कि अगर अहमदाबाद टेस्ट मैच में पिच स्पिनरों को फेवर कर रही थी तो इसमें भारतीय स्पिनर्स की कोई गलती नहीं थी। यहां पर ध्यान देने वाली बात ये है कि 30 में से 28 विकेट स्पिनर्स ने निकाले जबकि मात्र दो ही विकेट तेज गेंदबाजों को मिले।

गौतम गंभीर ने पिच को लेकर दी प्रतिक्रिया

गौतम गंभीर के मुताबिक जब पिच स्पिनर्स के अनुकूल होती है तो फिर रविचंद्रन अश्विन जैसे गेंदबाजों पर काफी प्रेशर आ जाता है। उन्होंने कहा,

विकेट्स सभी गेंदबाजों के लिए एक जैसा रहता है। अश्विन ने नहीं कहा था कि इस तरह की विकेट बनाई जाए। टीम मैनेजमेंट ने ऐसा करने के लिए कहा था। जब आप इस तरह की विकेट तैयार करते हैं तो फिर अश्विन के ऊपर बेहतर परफॉर्मेंस करने का दबाव आ जाता है।

ये भी पढ़ें: पृथ्वी शॉ अहम टूर्नामेंट के लिए प्रमुख टीम के बने कप्तान


Edited by Nitesh

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...