न्यूजीलैंड के खिलाफ T20I सीरीज को लेकर बांग्लादेश के कोच ने दिया बड़ा बयान, वर्ल्ड कप की तैयारी का किया जिक्र 

New Zealand v Bangladesh - Men
New Zealand v Bangladesh - Men's ODI Game 3

न्यूजीलैंड दौरे पर मौजूद बांग्लादेश को 27 दिसंबर से मेजबान टीम के खिलाफ 3 मैचों की T20I सीरीज (NZ vs BAN) खेलनी है। इससे पहले दोनों टीमों के बीच वनडे सीरीज खेली गई थी, जिसे न्यूजीलैंड अपने नाम करने में कामयाब रही थी लेकिन आखिरी मुकाबले में बांग्लादेश ने जबरदस्त जीत हासिल की थी और उसी जीत से मिले आत्मविश्वास का बांग्लादेश के हेड कोच चंडिका हथुरुसिंघा वनडे सीरीज में फायदा उठाना चाहते हैं।

नेपियर में 23 दिसंबर को खेले गए मुकाबले को जीतकर बांग्लादेश ने 18 मैचों में हार के बाद न्यूजीलैंड में अपनी पहली वनडे जीत दर्ज की थी। T20I फॉर्मेट में भी न्यूजीलैंड में बांग्लादेश का रिकॉर्ड बेहद खराब है और टीम ने अभी तक अपने सभी 9 मुकाबले गंवाए हैं। ऐसे में उनके सामने हार का सिलसिला तोड़ने की चुनौती होगी।

बांग्लादेश के मुख्य कोच चंडिका हथुरुसिंघा ने बुधवार को नेपियर में होने वाले पहले T20I मुकाबले से पूर्व रिपोर्टर्स से बात करते हुए कहा,

हमने यहां एक भी T20I मैच नहीं जीता है। यह वनडे क्रिकेट की तरह ही था लेकिन फिर हम आखिरी मैच जीतने में सफल रहे। निश्चित तौर पर इससे मानसिक रूप से मदद मिलेगी (नेपियर में न्यूजीलैंड पर वनडे में मिली जीत) जब आप अच्छी जीत दर्ज करते हो तो आपको हमेशा अच्छा लगता है और क्योंकि आपने कुछ ऐसा किया है जिसे आप फिर से दोहराना चाहते हो, भले ही प्रारूप कोई भी हो और इससे T20I से पहले हमारा आत्मविश्वास बढ़ेगा।

अगले साल होने वाले T20 वर्ल्ड कप से पहले बांग्लादेश को कुल 11 T20I मुकाबले खेलने हैं। इसके अलावा कई खिलाड़ी बीपीएल का भी हिस्सा होंगे। वेस्टइंडीज और अमेरिका में होने वाले टूर्नामेंट को ध्यान में रखते हुए, बांग्लादेशी कोच ने कहा कि उनकी योजना अलग-अलग कॉम्बिनेशन आजमाने की और खिलाड़ियों को स्पष्ट भूमिका सौंपने की है। हथरूसिंघा ने कहा,

हमें अब 11 मैच खेलने का मौका मिला है और फिर बीपीएल में भी लेकिन यह राष्ट्रीय टीम है इसलिए हम अपना कॉम्बिनेशन तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं और खिलाड़ियों को ऐसी भूमिकाएं दे रहे हैं जो वे वर्ल्ड कप के दौरान निभाएंगे और इसलिए यही योजना है। हमारे पास 11 मैच ही हैं। चाहे यह आदर्श हो या नहीं, हमें बस इतना ही मिला है, हमें उस दौरान अपनी योजनाओं और भूमिकाओं को सही करना होगा।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar