आईसीसी के प्रत्येक पूर्ण सदस्य टीमों के मौजूदा सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय ख़िलाड़ी

2019 आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में अब 11 महीने से कम का समय बाकी है। अगले 11 महीनों में, क्रिकेट के सबसे टूर्नामेंट के लिए खुद को तैयार करने के लिए विश्वकप में भाग लेने वाली सभी टीम ज्यादा से ज्यादा ओडीआई क्रिकेट खेलेंगे। इंग्लैंड ने हाल ही में उच्चतम वनडे स्कोर का रिकॉर्ड तोड़ दिया, और अगर यह कोई संकेत है, तो इंग्लैंड में पिच गेंदबाजों की बजाय बल्लेबाजों का पक्ष लेगी, जैसा कि यह पहले होते आया है। क्वालिफाई की हुई सभी दस टीमें विश्व कप में अपनी सबसे मजबूत एकादश के साथ खेलने के लिए अगले एक साल में अपनी तैयारी करने की कोशिश कर रही। भले ही प्रत्येक खिलाड़ी एक टीम के लिए महत्वपूर्ण है, फिर भी कुछ ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके प्रदर्शन और फॉर्म टीम के लिए बहुत मायने रखते हैं और पूरी तरह से टीम के प्रदर्शन को प्रभावित करते हैं। यहाँ हम प्रत्येक आईसीसी पूर्ण सदस्य के वर्तमान में सर्वश्रेष्ठ वनडे खिलाड़ी पर नज़र डाल रहे हैं जो अगले साल आयोजित होने वाली सबसे बड़ी क्रिकेट स्पर्धा में उनकी टीम के महत्वपूर्ण होगें। नोट: - हालांकि जिम्बाब्वे और आयरलैंड विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रहे, फिर भी इन दोनों टीमों के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को इस सूची में शामिल किया गया है।

# 1 पॉल स्टर्लिंग (आयरलैंड)

हालांकि आयरलैंड क्रिकेट ने वर्तमान से भी बेहतर दिन देखें है, जब 2007 के विश्व कप में उन्होंने एक शानदार प्रदर्शन किया था, टीम ने हाल ही में एसोसिएट टीमों के खिलाफ लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। हालांकि विलियम पोर्टरफील्ड ने पिछले आठ सालों से टीम के लिए एक एंकर बल्लेबाज़ की भूमिका निभाई थी, लेकिन हाल ही के वर्षों में पॉल स्टर्लिंग ने कुछ हद तक यह भूमिका निभा रहे हैं। यह करिश्माई दाएं हाथ का खिलाड़ी 2017 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाला खिलाड़ी था, जिसमें उन्होंने 15 पारियों में 656 रन बनाये थे और 2018 में 10 पारियों में 399 रन बनाए हैं। इस 27 वर्षीय खिलाड़ी के लिए अभी भी बहुत क्रिकेट बाकी है, बहुत हद्द तक संभव है कि वह भविष्य में आयरलैंड के लिए सभी बल्लेबाजी रिकॉर्ड तोड़ दें। वनडे आंकड़े: - मैच- 96, रन- 3295, औसत- 35.43, स्ट्राइक रेट- 90.32 उच्चतम स्कोर - 177 , शतक- 7, अर्धशतक: 16

सिकंदर रजा (जिम्बाब्वे)

यह ज़िम्बाब्वे के लिए दिल तोड़ने वाला पल था, जब वे 1983 से पहली बार क्रिकेट विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रहे। फिर भी, आईसीसी विश्वकप क्वालिफायर के दौरान टीम के लिए काफी सारी अच्छी बातें सामने आयीं थीं। ब्रेंडन टेलर की सफल वापसी ने निश्चित रूप से उन्हें भविष्य में पुनः सफल होने की आशा दी, लेकिन सिकंदर रजा का उभारना ज्यादा बड़ी बात रही, जो कि टीम के लिए एक बेहतरीन ऑलराउंडर साबित हो सकते हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि रजा ने जिम्बाब्वे टीम में पहली पसंद के ऑलराउंडर के रूप में एल्टन चिगुंबुरा की जगह हासिल कर ली है। हालांकि जिम्बाब्वे विश्व कप क्वालिफायर जीतने में नाकाम रहे, लेकिन रजा ने मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट पुरस्कार जीता क्योंकि उन्होंने 319 रन बनाए और 7 मैचों में 15 विकेट लिए। अगर रजा ने इस तरह का प्रदर्शन जारी रखा, तो वह ज़िम्बाब्वे क्रिकेट पर एक सकारात्मक प्रभाव छोड़ेंगे और भविष्य में सफलतायें भी दिलाएंगे। वनडे आंकड़े: - मैच- 85, रन – 3295, बल्लेबाजी औसत - 34.51, उच्चतम स्कोर - 141 विकेट- 50, इकोनॉमी - 4.85, गेंदबाजी औसत - 37.41

राशिद खान (अफगानिस्तान)

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पिछले 3 वर्षों में अफगानिस्तान क्रिकेट टीम ने जो प्रगति की है, वह कुछ ऐसा है जो आने वाली पीढ़ियों द्वारा याद किया जाएगा। हालाँकि यह एक पूर्ण टीम प्रयास था, फिर भी जब हम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अफगानिस्तान की प्रगति के बारे में बात करते हैं तो राशिद खान का नाम अकसर दीमाग में आता है। वर्तमान में पूरी दुनिया में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज में से एक, इस 19 वर्षीय गेंदबाज़ ने 2015 विश्व कप के बाद वनडे क्रिकेट में किसी भी अन्य गेंदबाज की तुलना में सबसे अधिक विकेट लिए हैं। वह 2017 में 43 विकेट लेकर दूसरे सबसे ज्यादा वनडे विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे और 2018 में अभी 20 विकेट लेकर सबसे ऊपर हैं। सबसे तेज 100 एकदिवसीय विकेट के रिकॉर्ड को तोड़ने के बाद, रशीद क्रिकेट के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक बनने के रास्ते पर हैं। वनडे आंकड़े: - मैच- 44, विकेट- 100, इकोनॉमी- 3.96, गेंदबाजी औसत- 14.4 गेंदबाजी स्ट्राइक दर- 21.81, सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन- 7/18

जेसन होल्डर (वेस्टइंडीज)

एक समय था जब विश्वकप जीतने के लिए कैरीबियाई टीम प्रबल दावेदार मानी जाती थी, और आज इस टीम को क्वालीफाई करने के लिए संघर्ष करते देखना इस टीम के प्रशंसकों के लिए काफी निराशाजनक है। जहाँ गेल और सैमुअल्स बहुत लंबे समय से खेलते आ रहे हैं और टीम के लिए कई मैचों जीते हैं, यह उनके कप्तान जेसन होल्डर रहे हैं जो हाल के दिनों में उनकी टीम के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे है। गेंदबाजी हमले का नेतृत्व करना या मध्य ओवर में टीम के बल्लेबाजी क्रम को संभालना, होल्डर जेसन होल्डर वेस्ट इंडीज की टीम के एक चमकते सितारे रहे हैं। आईसीसी विश्वकप क्वालिफायर के दौरान होल्डर ने 15 विकेट लिए और विंडीज को फाइनल में पहुँचाने में मदद करते हुए 219 रन बनाये। विंडीज़ टीम के लिए होल्डर भविष्य में भी एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। वनडे आंकड़े: - मैच- 77, रन- 1229, बल्लेबाजी औसत- 26.71, बल्लेबाजी स्ट्राइक रेट- 95.94 विकेट- 106, इकोनॉमी - 5.39, गेंदबाजी औसत- 31.28, सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी- 5/27 एंजेलो मैथ्यूज (श्रीलंका) श्रीलंकाई टीम ने अपने तीन वरिष्ठ खिलाड़ियों, महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा और तिलकरत्ने दिलशान के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयाद के बाद से एक गिरावट देखी है। उनका प्रदर्शन इतना खराब रहा कि वे एकदिवसीय श्रृंखला में अपने घर पर जिम्बाब्वे से भी हार गए। वर्तमान में, श्रीलंकाई टीम दो वरिष्ठ खिलाड़ियों - उपल थरंगा और सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी एंजेलो मैथ्यूज पर काफी हद तक निर्भर है। हालांकि वह पिछले कुछ सालों में लगातार चोटों के चलते लगातार खेल पाने में सक्षम नही रहे हैं, फिर भी जब भी वह टीम के लिए खेलता है तो वह असाधारण प्रदर्शन करते आये हैं। 2017 में, उन्होंने 64 के औसत से लगभग 600 रन बनाए और अक्सर टीम के लिये आवश्यक मौकों पर रन बनाये और सफलता प्रदान की। आने वाले महीनों में श्रीलंका ओडीआई प्रारूप में वापसी की कोशिश करेगा, और इसके लिए, उन्हें अपने कप्तान मैथ्यूज की जरूरत होगी। वनडे आंकड़े: - मैच – 196, रन- 5107, बल्लेबाजी औसत- 41.86, उच्चतम स्कोर- 139 * विकेट- 114, इकोनॉमी- 4.61, गेंदबाजी औसत- 34.21, सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी- 6/20

शाकिब अल हसन (बांग्लादेश)

जहाँ एक ओर श्रीलंका और वेस्टइंडीज की टीमों का प्रदर्शन पिछले कुछ सालों से लगातार ख़राब होता गया है, वहीं बांग्लादेश क्रिकेट टीम को वनडे क्रिकेट में इसी अवधि में लगातार सफलतायें मिलती रही है। 2015 विश्व कप में और फिर 2017 चैंपियंस ट्रॉफी में, उन्होंने सभी क्रिकेट प्रशंसकों को आश्चर्यचकित कर दिया, उनकी टीम एक परिपूर्ण टीम के रूप में खेलती रही है। हालांकि, श्रीलंका और वेस्ट इंडीज की तरह ही, इस टीम का भार भी उनके वरिष्ठ खिलाडियों पर होता है और आमतौर पर यह कार्य उनके वरिष्ठ ऑलराउंडर और कप्तान शाकिब अल हसन पर होता है। हालाँकि तमीम इकबाल, मशरफी मुर्तजा और मुशफिकुर रहीम जैसे अन्य वरिष्ठ खिलाड़ी भी हैं, जो बांग्लादेश के लिए अच्छा प्रदर्शन करते आये हैं, शाकिब न केवल एक अच्छे कप्तान हैं बल्कि बांग्लादेश की बल्लेबाजी और गेंदबाजी के आधार हैं। वह पिछले कुछ समय से ऑलराउंडर्स रैंकिंग के शीर्ष पर रहे हैं और भविष्य में बांग्लादेश क्रिकेट सफलताओं के लिए उनपर निर्भर करेगा। वनडे आंकड़े: - मैच- 185, रन- 5243, बल्लेबाजी औसत- 34.95, शतक-7, अर्धशतक-37 विकेट- 235, इकोनॉमी - 4.44, गेंदबाज़ी औसत- 29 .46, सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी- 5/47 मिचेल स्टार्क (ऑस्ट्रेलिया) इस वर्ष की शुरुआत में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लिए भयावह सैंडपेपर गेट प्रखरण का निसंदेह रूप से भविष्य में ऑस्ट्रेलियाई टीम पर दीर्घकालिक प्रभाव होगा, जैसा इंग्लैंड के खिलाफ वनडे श्रृंखला में उनके निराशाजनक प्रदर्शन से स्पष्ट है। अपने दो प्रमुख बल्लेबाजों, वार्नर और स्मिथ के ऊपर एक साल के प्रतिबन्ध के बाद अब विश्वकप के लिए उनकी उम्मीदें फिलहाल एरोन फिंच, मिशेल स्टार्क और जोश हैज़लवुड पर है। हालांकि हाल ही में चोटों के कारण मिचेल स्टार्क नियमित आधार पर वनडे मैच नहीं खेले हैं, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि मिचेल स्टार्क पूरी दुनिया में सबसे अच्छे तेज गेंदबाज है। अपनी तेज़ गति और उचित लेंथ की गेंदबाजी के साथ वह दुनिया भर में बल्लेबाजी टीमों के लिए खतरा होते है। ऑस्ट्रेलिया की कमजोर दिखती बल्लेबाज़ी के चलते आने वाले विश्व कप में स्टार्क के कंधों पर 2019 में फिर से विश्वकप जीतने के लिये अच्छा प्रदशन करने का दबाव होगा। वनडे आंकड़े: - मैच- 72, विकेट- 141, गेंदबाजी औसत- 20.95, इकोनॉमी- 4.93 गेंदबाजी स्ट्राइक रेट- 25.4, सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी- 6/28

हसन अली (पाकिस्तान)

इमरान खान से वसीम अकरम और वकार यूनिस से शोएब अख्तर तक, पाकिस्तान के गेंदबाजों में हमेशा अपना लोहा मनवाया है और किसी भी बल्लेबाज क्रम को तहस नहस करने की काबिलियत रखी, और हसन अली विरासत इस विरासत को आगे बढ़ा हैं। यह हसन अली का आगमन ही था जिसने लंबे समय से खोई गई शक्ति को पाकिस्तान टीम में वापस ले आयी, जो कि 2000 के दशक के मध्य से कुछ हद तक गायब थी। वसीम अकरम के बाद रैंकिंग पर चार्ट में शीर्ष पर पहुँचने वाले पहले पाकिस्तानी वनडे तेज गेंदबाज, हसन अली 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के बाद से उभरे हैं। पाकिस्तान के विजयी अभियान में वह न केवल सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी थे, बल्कि आगे चलकर वह 18 मैचों में 45 विकेट लेकर 2017 में दुनिया में सबसे ज्यादा वनडे विकेट लेने वाले खिलाड़ी थे। केवल 24 साल के, हसन अली के पास अपने करियर में बहुत सारे क्रिकेट बाकी हैं और भविष्य में पाकिस्तान के लिए वह प्रभावशाली होंगे। वनडे आंकड़े: - मैच- 30, विकेट- 62, गेंदबाजी औसत- 21.40, इकोनॉमी - 5.29 गेंदबाजी स्ट्राइक रेट- 24.2, सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी- 5/34

केन विलियमसन (न्यूज़ीलैंड)

वर्तमान न्यूजीलैंड बल्लेबाज़ी क्रम से सर्वश्रेष्ठ वनडे प्लेयर का चयन करना, शेन वॉर्न और मुथैया मुरलीधरन के बीच बेहतर स्पिनर चुनना जितना मुश्किल है। न्यूजीलैंड के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ियों में से दो केन विलियमसन और रॉस टेलर के बीच प्रतिस्पर्धा के चलते ऐसा हुआ है। दोनों टेस्ट और वनडे में ब्लैक कैप्स के लिए सनसनीखेज प्रदर्शन करते रहे हैं, लेकिन जब हाल के दिनों में टीम के प्रदर्शन पर समग्र प्रभाव की बात आती है, तो विलियमसन अनुभवी टेलर से कुछ आगे नज़र आते हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के ‘शानदार फैब फोर’ में से एक, विलियमसन ने 2016 में ब्रेंडन मैकुलम से कप्तानी संभालने के बाद से अपने जीवन का सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलते आ रहे है। उन्होंने लगातार 50 से अधिक औसत से रन बनाए हैं और पिछले चार वर्षों से ब्लैक कैप्स का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है। न्यूजीलैंड को 2019 के विश्व कप सफलता दिलाने के लिए विलियमसन को अपना फॉर्म बरकरार रखना होगा। वनडे आंकड़े: - मैच- 137, रन- 5156, औसत - 46.87, स्ट्राइक रेट- 83.22 उच्चतम स्कोर- 145 * , शतक- 11, अर्धशतक- 33

हाशिम अमला (दक्षिण अफ्रीका)

एबी डीविलियर्स के संन्यास के बाद अब दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाजी क्रम में विशेष रूप से वनडे टीम में एक बड़ा शून्य उत्त्पन्न हो गया है। दक्षिण अफ़्रीकी टीम के लिए एबीडी के जैसा बल्लेबाज़ ढूंढना मुश्किल होगा, लेकिन फिर भी हम निश्चित रूप से यह कह सकते कि यह टीम अन्य विश्व स्तरीय बल्लेबाजों से भरी है। फाफ डु प्लेसिस और क्विनटन डी कोक काफी समय से अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हैं, लेकिन वह हाशिम अमला रहे हैं जो पिछले कई सालों से निरंतर टीम की बल्लेबाज़ी का आधार रहे हैं। जब एबीडी लगातार अपनी बल्लेबाजी से सभी का ध्यान खीच रहे थे, हाशिम अमला शांति से दक्षिण अफ़्रीकी टीम के लिए अपना काम करते रहे। सबसे तेज़ 5000, 6000 और 7000 वनडे रनों का रिकॉर्ड उनके नाम है, और अमला ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत के बाद से ही सबको प्रभावित किया है। टीम के सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी के रूप में, दक्षिण अफ्रीका को 2019 में उनका पहला विश्वकप खिताब जीतने का दारोमदार आमला के कन्धों के ऊपर होगा। वनडे आंकड़े: - मैच- 164, रन – 7535, औसत - 50.23, स्ट्राइक रेट- 88.90 उच्चतम स्कोर – 159, शतक- 26, अर्धशतक- 35

जोस बटलर (इंग्लैंड)

2015 विश्व कप में शर्मनाक प्रदर्शन के बाद से उच्चतम वनडे स्कोर का विश्व रिकॉर्ड तोड़ने तक, इंग्लैंड क्रिकेट टीम एक नई ब्रांड की क्रिकेट के साथ आज पूरी दुनिया में सबसे मजबूत टीमों में से एक बन गई है। वैसे तो जो रूट, इयोन मोर्गन और एलेक्स हेल्स जैसे कई मौजूदा खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से टीम के प्रदर्शन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है, लेकिन जोस बटलर अधिकतम प्रभाव डालने वाले ख़िलाड़ी बनकर उभरे। इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने अपने अपरंपरागत शॉट्स और असंभव परिस्थितियों से मैचों को निकलने की उनकी शानदार क्षमता के साथ खुद का एक नाम बनाया है। चाहे वह शीर्ष क्रम या निचले क्रम पर हो, चाहे पारी का निर्माण करना हो या तेज़ गति से रन बना पारी को खत्म करना, बटलर सब कुछ बड़ी आसानी से करने में सक्षम है, जो उन्हें वर्तमान पीढ़ी के सबसे पूर्ण ओडीआई खिलाड़ियों में से एक बनाता है। वह निस्संदेह इंग्लैंड की पहली विश्व कप जीत में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। वनडे आंकड़े: - मैच- 114, रन- 3091, बल्लेबाजी औसत- 40.67, स्ट्राइक रेट- 117.52 उच्चतम स्कोर- 129, शतक- 6, अर्धशतक 17, कैच/ स्टंपिंग - 144/23

विराट कोहली (भारत)

विराट कोहली वर्तमान में दुनिया के सबसे अच्छे वनडे खिलाड़ी हैं, और हाल के दिनों में वह जिस तरह से खेल रहे हैं, उससे बहुत ही कम संभावना है कि कोई भी उन्हें वनडे बल्लेबाजी रैंकिंग के शीर्ष से उतार पायेगा। कप्तान बनने से पहले भी वह पूरी दुनिया में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक थे, लेकिन पिछले 18 महीनों में उनके करियर ने शानदार राह पकड़ ली और उनका प्रदर्शन शानदार रहा है। 2017 के बाद से, उनका फॉर्म इंग्लैंड, श्रीलंका, भारत और दक्षिण अफ्रीका में असाधारण रहा है। साथ ही वह भारतीय टीम के कप्तान के रूप में बेहद शानदार रहे हैं और परिस्थिति कितनी भी कठिन रही हो, उन सब से परे वह टीम को जीत की ओर लेकर गये। कोहली 2017 के कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे थे। विश्व कप जीतने के लिए भारत प्रबल दावेदार है, और कोहली का फॉर्म निश्चित रूप से किसी भी अन्य खिलाड़ी की तुलना में भारत की संभावनाओं को प्रभावित करेगा। वनडे आंकड़े: - मैच- 208, रन- 9588, बल्लेबाजी औसत- 58.10, स्ट्राइक रेट- 92.14 उच्चतम स्कोर- 183, शतक- 35, अर्धशतक- 46 लेखक: कार्तिक सेठ अनुवादक: राहुल पांडे

Edited by Staff Editor