पाकिस्तान को T20 World Cup से पहले लगा बड़ा झटका, दिग्गज खिलाड़ी ने अचानक संन्यास लेकर चौंकाया

भारतीय खिलाड़ियों के साथ बिस्माह मारूफ और उनकी बेटी
भारतीय खिलाड़ियों के साथ बिस्माह मारूफ और उनकी बेटी

Bismah Maroof Retirement: साल 2024 क्रिकेट के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण होने वाला है, क्योंकि इस बार पुरुष और महिला टी20 वर्ल्ड कप दोनों का ही आयोजन होने वाला है। इन दोनों आईसीसी टूर्नामेंट में पाकिस्तान की भी मजबूत दावेदारी रहने वाली है लेकिन उससे पहले महिला टीम को एक बड़ा झटका लगा है। दिग्गज खिलाड़ी और पूर्व कप्तान बिस्माह मारूफ ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को तत्काल प्रभाव से अलविदा कह दिया है और वह अब सितम्बर-अक्टूबर में होने वाले महिला टी20 वर्ल्ड कप का हिस्सा नहीं होंगी।

2006 में पाकिस्तान के लिए डेब्यू करने वाली बिस्माह मारूफ का करियर शानदार रहा और वह टीम के लिए वनडे और टी20 में सबसे सफल बल्लेबाज रहीं। मारूफ ने वनडे फॉर्मेट में 136 मुकाबले खेलते हुए 3369 रन बनाये, जिसमें 21 अर्धशतक शामिल रहे। वहीं, टी20 में 140 मुकाबलों में 2893 रन बनाये। इस दौरान 12 अर्धशतकीय पारियां भी खेली। मारूफ ने लेग ब्रेक गेंदबाज के रूप में वनडे में 44 और टी20 में 36 विकेट भी लिए।

इस खिलाड़ी ने कुल 96 मैचों में पाकिस्तान की कप्तानी भी की। इस दौरान 62 टी20 में 27 जीत और 34 वनडे में 16 जीत हासिल की। टी20 में केवल सना मीर (65) ने मारूफ की तुलना में पाकिस्तान के लिए अधिक कप्तानी की, जबकि वनडे मैचों में वह मीर (72) और शाइजा खान (39) के बाद सूची में तीसरे स्थान पर हैं।

बिस्माह मारूफ ने संन्यास को लेकर क्या कहा?

32 वर्षीय खिलाड़ी ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म X पर एक नोट साझा किया और उसके माध्यम से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान किया। उन्होंने अपने नोट में क्रिकेट के अपने सफर के साथ-साथ उन सभी का शुक्रिया अदा किया, जिन्होंने उनका समर्थन किया। वहीं, यह भी बताया कि वह लीग क्रिकेट के लिए उपलब्ध रहेंगी।

गौरतलब हो कि मारूफ उस महिला टीम का हिस्सा थीं जिसने 2010 और 2014 में एशियाई खेलों में दो बार स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने महिला वनडे वर्ल्ड कप (2009, 2013, 2017 और 2022) के चार संस्करणों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया, जबकि न्यूजीलैंड में आयोजित 2022 संस्करण में टीम की कप्तानी भी की। मारूफ ने टी20 वर्ल्ड कप (2009, 2010, 2012, 2014, 2016, 2018, 2020 और 2023) के आठ संस्करणों में भाग लिया और क्रमशः ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में आयोजित 2020 और 2023 संस्करणों में टीम का नेतृत्व किया।

पाकिस्तान को निश्चित तौर पर अपनी इस अनुभवी खिलाड़ी की कमी टी20 वर्ल्ड कप में खलने वाली है। मारूफ का हालिया फॉर्म उतना अच्छा नहीं था लेकिन वह अपने अनुभव से जरूर अहम भूमिका अदा कर सकती थीं।

Quick Links

App download animated image Get the free App now