Create

इंग्लैंड-न्यूजीलैंड एजबेस्टन टेस्ट में 18000 दर्शक आएँगे

इंग्लैंड (England) और न्यूजीलैंड (New Zealand) के बीच आगामी टेस्ट सीरीज का दूसरा और अंतिम (एजबेस्टन) मैच ब्रिटेन सरकार के पायलट प्रोजेक्ट का हिस्सा होगा, ताकि सामूहिक भागीदारी कार्यक्रमों के फायदे और नुकसान को समझा जा सके। टेस्ट के प्रत्येक दिन करीब 18,000 दर्शकों को अनुमति दी जाएगी जो कि स्टेडियम की क्षमता का 70 प्रतिशत है। यह सरकार के इवेंट रिसर्च प्रोग्राम के दूसरे चरण के भीतर पहला पायलट इवेंट भी होगा।

परियोजना का मुख्य उद्देश्य स्टेडियम के चारों ओर घूमते समय टेस्टिंग प्रोटोकॉल, सामाजिक डिस्टेंसिंग और चेहरे को ढकने का विश्लेषण करना है। यह लोगों के एकत्रित होने पर ट्रांसमिशन के जोखिमों पर सबूतों को समझने का एक प्रयास है। कोरोना वायरस के बाद दर्शकों को मैदान पर लाने की दिशा में यह एक बड़ा कदम है।

सरकारी प्रोटोकॉल के अनुसार टिकट धारकों को एनएचएस रैपिड लेटरल फ्लो टेस्ट से नेगेटिव कोविड 19 रिजल्ट प्रस्तुत करना होगा। जिस दिन वे मैच में जा रहे हैं, उससे पहले 24 घंटे के भीतर इसे पूरा किया जाता है। उन्हें कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अपनी सहमति भी देनी होगी। सभी टिकट धारकों की उम्र 16 वर्ष और उससे अधिक होनी चाहिए।

स्टेडियम में प्रवेश के लिए कतार में लगने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। आतिथ्य क्षेत्रों को छोड़कर मैदान के अंदर सामाजिक दूरी की आवश्यकता नहीं है। इस बीच बैठने के दौरान या खाने-पीने की चीजों का सेवन करते समय चेहरे को ढकने की जरूरत नहीं है।

इस प्रस्ताव को संस्कृति सचिव ऑलिवर डाउडेन ने पारस्परिक रूप से स्वीकार किया है और सार्वजनिक स्वास्थ्य इंग्लैंड, इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड, बर्मिंघम सिटी काउंसिल और एजबेस्टन के सुरक्षा सलाहकार समूह द्वारा समर्थन किया गया है।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप से पहले यह प्रयोग काफी अहम माना जा सकता है। देखना होगा कि एजबेस्टन में यह कितना सफल रहता है।

Quick Links

Edited by निरंजन
Be the first one to comment