Create

आईसीसी हॉल ऑफ़ फेम 2021 में शामिल होने वाले 10 खिलाड़ियों की जानकारी

Second Test - South Africa v Sri Lanka : Day One
Second Test - South Africa v Sri Lanka : Day One

आईसीसी ने भारत (India) और न्यूजीलैंड (New Zealand) के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल से पहले दस पूर्व खिलाड़ियों को हॉल ऑफ़ फेम में शामिल किया है। भारत के पूर्व क्रिकेटर वीनू मांकड़ का नाम भी इसमें शामिल किया गया है। उनके अलावा श्रीलंका के कुमार संगकारा भी हॉल ऑफ़ फेम में शामिल किये गए हैं। इस सभी को अलग-अलग युग के अनुसार चुना गया है।

मोंटी नोबल- ऑस्ट्रेलिया के इस ऑल राउंडर ने 1898 से लेकर 1909 तक खेला। इस दौरान उन्होंने 42 टेस्ट में 1997 रन बनाए और 121 विकेट भी अपने नाम किये।

ऑब्रे फॉकनर- दक्षिण अफ्रीका के इस ऑल राउंडर ने 1906 से लेकर 1924 तक टेस्ट क्रिकेट खेला। इस दौरान उन्होंने कुल 25 टेस्ट मैच खेले, जिसमें उन्होंने 40.79 की औसत से 1754 रन बनाए और 26.58 की औसत से 82 विकेट झटके। कम से कम 1000 टेस्ट रन और 50 विकेट वाले ऑलराउंडरों में शामिल फॉकनर के पास अब तक का पांचवां सर्वश्रेष्ठ औसत है।

लेरी कॉन्सटेंटाइन- वेस्टइंडीज के ऑल राउंडर ने 1928 से लेकर 1939 तक टेस्ट क्रिकेट खेला और 58 विकेट चटकाने के अलावा 635 रन भी बनाए। दूसरे वर्ल्ड वॉर के कारण मैच उस समय ज्यादा नहीं हुए।

स्टान मैककैब- ऑस्ट्रेलिया के इस खिलाड़ी ने 1930 से लेकर 1938 तक टेस्ट क्रिकेट खेला। डॉन ब्रैडमैन के समय वह ऑस्ट्रेलिया के दूसरे बेस्ट बल्लेबाज थे। उन्होंने छह शतकों के साथ 2748 रन बनाए। 1938 एशेज के दौरान ट्रेंट ब्रिज में 232 रन उनकी एक ऐसी पारी जिस पर ब्रैडमैन ने उनसे हाथ मिलाया और उससे कहा, "मैं इस तरह की पारी खेलने में सक्षम होने के लिए मैं तुम्हे एक शानदार डील दूंगा।"

वीनू मांकड़- भारत के लिए इस ऑल राउंडर ने 1946 से 1956 तक टेस्ट क्रिकेट खेला था। वह कपिल देव से पहले भारत के महान ऑल राउंडर थे। मांकड़ बाएँ हाथ के स्पिनर और दाएं हाथ के बल्लेबाज थे। उन्होंने 44 टेस्ट में 2109 रन बनाए और 162 विकेट भी चटकाए। मद्रास में पंकज रॉय के साथ उन्होंने पहले विकेट के लिए रिकॉर्ड 413 रनों की साझेदारी की थी।

टेड डेक्स्टर- इंग्लैंड के इस बल्लेबाज ने 1958 से लेकर 1968 के बीच टेस्ट क्रिकेट में खेला और 62 टेस्ट मैचों में 4502 रन बनाए।

बॉब विलिस- इस इंग्लिश गेंदबाज ने 1971 से लेकर 1984 के बीच खेलते हुए 90 टेस्ट में 325 विकेट हासिल किये। उनके बल्ले से 840 रन निकले। उन्होंने 64 वनडे में 80 विकेट भी हासिल किये।

डेसमंड हैंस- वेस्टइंडीज के बल्लेबाज ने 1978 से 1994 के बीच खेलते हुए धाकड़ बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। उन्होंने 7487 टेस्ट रन बनाए। वनडे क्रिकेट में भी वह एक बड़ा नाम माने जाते थे।

एंडी फ्लावर- जिम्बाब्वे की तरफ से हॉल ऑफ़ फेम में आने वाले एंडी फ्लावर पहले खिलाड़ी हैं। इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने 1992 से लेकर 2003 तक खेलते हुए 4794 रन बनाए।

कुमार संगकारा- श्रीलंका के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ने 2000 से लेकर 2015 तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला। वह तीनों प्रारूप में खेले थे। टेस्ट क्रिकेट में संगकारा ने 12400 रन बनाए। वनडे और टी20 प्रारूप में भी वह बेहतर खेलते थे।

Quick Links

Edited by निरंजन
Be the first one to comment