Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

वर्ल्ड कप 2019: सभी टीमों की अंक तालिका में स्थान की संभावनाओं पर एक नजर

Modified 21 May 2019, 12:08 IST
टॉप 5 / टॉप 10
Advertisement

#6. बांग्लादेश

Enter caption

वर्ल्ड कप 2007 में भारतीय टीम को हराकर बड़ा उलटफेर करने वाली बांग्लादेशी टीम दोबारा जायंट-किलर बनने का पूरा माद्दा रखती है। इस टीम ने लगातार अपने प्रदर्शन में सुधार किया है जिसकी सबसे बड़ी वजह शाकिब अल हसन, मुश्फिकुर रहीम, तमीम इकबाल और मशरफे मोर्तजा जैसे दिग्गज खिलाड़ियों की टीम में मौजूदगी है। 

कप्तान महमुदुल्लाह अपनी टीम से दोबारा पिछले वर्ल्ड कप जैसा प्रदर्शन दोहराने की उम्मीद करेंगे। 

#5. न्यूजीलैंड

न्यूजीलैंड ने हमेशा आईसीसी टूर्नामेंटों में उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है। केन विलियमसन के रूप में उनके पास एक शानदार कप्तान हैं जो रॉस टेलर और मार्टिन गप्टिल की अनुभवी जोड़ी के साथ कीवी बल्लेबाज़ी को मजबूती प्रदान करते हैं। 

जेम्स नीशम, कॉलिन डी ग्रैंडहोम और मिचेल सैंटनर जैसे ऑलराउंडरों की मौजूदगी में यह टीम काफी संतुलित नज़र आती है। टूर्नामेंट में उनकी सबसे बड़ी चिंता तेज गेंदबाजों की कमी होगी।

#4. दक्षिण अफ्रीका

South Africa and Australia

पिछले वर्ल्ड कप के विपरीत, दक्षिण अफ्रीका इस बार इस टूर्नामेंट को जीतने की प्रबल दावेदार नहीं मानी जा रही है। इसकी सबसे बड़ी वजह है उनका अस्थिर मिडिल ऑर्डर। जबकि उनके शीर्ष क्रम में क्विंटन डी कॉक, हाशिम अमला और फाफ डू प्लेसी जैसे बल्लेबाज़ों की मौजूदगी इस टीम की सबसे बड़ी ताकत है। 

Advertisement

जीन-पॉल डुमनी और डेविड मिलर को प्रोटियाज को ख़िताब की दौड़ में बनाये रखने के लिए अच्छी पारियां खेलनी होंगी।

आईपीएल 2019 में कगिसो रबाडा और इमरान ताहिर ने ज़बरदस्त गेंदबाज़ी की है जिसका फायदा उनकी टीम को विश्व कप में मिलेगा। इसके अलावा दिग्गज पेसर डेल स्टेन ने भी अपने आखिरी वर्ल्ड कप में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहेंगे।

#3. ऑस्ट्रेलिया

इस साल की शुरुआत में, ऑस्ट्रेलिया के ख़राब प्रदर्शन के कारण वह भारत के खिलाफ टेस्ट और एकदिवसीय श्रृंखला हार गए थे। लेकिन उन्होंने इसके बाद अगले महीने, फरवरी में भारत को 3-2 से हराकर जोरदार वापसी की। फिर उन्होंने संयुक्त अरब अमीरात में एकदिवसीय श्रृंखला में पाकिस्तान को 5-0 से हराकर फॉर्म में आने के संकेत दिए।

डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ की टीम में एक साल के बाद वापसी के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम और भी ज़्यादा मजबूत हुई है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलियाई टीम की सबसे बड़ी ताकत उसकी तेज़ गेंदबाज़ी है। उनके हालिया फॉर्म को देखते हुए हम यह कह सकते हैं कि कंगारु टीम कम से कम सेमी-फाइनल में तो जगह ज़रूर बनाएगी।

PREVIOUS 3 / 4 NEXT
Published 21 May 2019, 12:08 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit