Create
Notifications

श्रीलंका के खिलाफ अपनी मैच जिताऊ पारी को लेकर दीपक चाहर ने किया खुलासा

दीपक चाहर ने श्रीलंका के खिलाफ मैच जिताऊ पारी खेली थी
दीपक चाहर ने श्रीलंका के खिलाफ मैच जिताऊ पारी खेली थी
Vivek Goel
FEATURED WRITER

टीम इंडिया (India Cricket team) के ऑलराउंडर दीपक चाहर (Deepak Chahar) ने हाल ही में श्रीलंका (Sri Lanka Cricket team) के खिलाफ वनडे सीरीज में अपनी मैच विजयी पारी के बारे में खुलकर बातचीत की। चाहर ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में 82 गेंदों में नाबाद 69 रन बनाए थे और भारत को 3 विकेट की यादगार जीत दिलाई थी।

बता दें कि कोलंबो में खेले गए मुकाबले में श्रीलंका ने पहले बल्‍लेबाजी करके 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 275 रन बनाए थे। जवाब में भारत ने 49.1 ओवर में सात विकेट खोकर लक्ष्‍य हासिल कर लिया था। चाहर ने तब भुवनेश्‍वर कुमार 19* के साथ आठवें विकेट के लिए 84 रन की अविजित साझेदारी की थी।

अपनी आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स से बातचीत करते हुए चाहर ने याद किया कि वह पिच पर इस मानसिकता के साथ गए थे कि जितना हो सकेगा, मैच को करीब लेकर जाएंगे।

चाहर ने कहा, 'आखिरकार मुझे एक मैच में बल्‍लेबाजी करने का मौका मिला और मैं उसका उपयोग कर सका। जब मैं किट पहन रहा था जब देखा कि विकेट गिर रहे हैं और अगला नंबर मेरा है। मैंने मैच जीतने के बारे में नहीं सोचा था। मैं बस सभी ओवर खेलने के बारे में सोच रहा था कि हम मैच करीब ले जाएं और जब मैच करीब जाएगा तो कुछ भी हो सकता है।'

चाहर क्रीज पर तब आए जब भारत ने सूर्यकुमार यादव के रूप में छठा विकेट गंवा दिया था। भारतीय टीम तब भी जीत से 116 रन दूर थी। दाएं हाथ के बल्‍लेबाज ने शुरूआत में काफी रक्षात्‍मक पारी खेली और वनिंदु हसरंगा के खतरे को टाला।

चाहर ने स्‍कोरबोर्ड को चलाए रखा और कुछ समय के बाद अपने स्‍ट्रोक्‍स खेलना शुरू किए। उन्‍होंने कहा, 'मैंने काफी रक्षात्‍मक शुरूआत की थी। मुझे याद है कि मैंने फुलटॉस को भी डिफेंड किया था। मैंने उस मैच में स्थिति के हिसाब से खेलने की कोशिश की थी। मैंने टीम के सबसे कमजोर गेंदबाज के खिलाफ जोखिम उठाया। हसरंगा और चमीरा अच्‍छी गेंदबाजी कर रहे थे तो मेरा लक्ष्‍य उनकी गेंदों पर आराम से खेलकर अन्‍य गेंदबाजों को निशाना बनाने पर था।'

चाहर ने आगे कहा, 'हर ओवर के बाद मैं स्‍कोरबोर्ड को देख रहा था। हर ओवर के बाद देख रहा था कि कितनी गेंदें बची हैं, कितने रन बनाने हैं और क्‍या मुझे जोखिम उठाने की जरूरत है? जब रन गेंद से आगे हुए तो मैंने कुछ शॉट्स खेले।' चाहर ने भुवी के साथ शानदार साझेदारी करके भारत को मैच में जीत दिलाई थी।

एमएस धोनी ने चाहर को किया था मैसेज

दीपक चाहर को याद है कि मैच विजयी पारी के बाद एमएस धोनी ने उन्‍हें मैसेज किया था। चाहर ने खुलासा किया, 'उस पारी के बाद माही भाई ने मुझे मेरी बल्‍लेबाजी के लिए मैसेज किया था। उन्‍होंने लिखा, 'बहुत अच्‍छा खेला'। तो मेरे लिए वह शानदार पल था।'

दीपक चाहर ने बताया कि एमएस धोनी ने उन्‍हें सीएसके में उनकी बल्‍लेबाजी के कारण ही चुना था। चाहर ने कहा, 'धोनी ने मुझे टीम में मेरी बल्‍लेबाजी के कारण चुना था। जब मैं पुणे टीम में था, तब मेरा चयन बल्‍लेबाजी ऑलराउंडर के रूप में हुआ था। 2018 में उन्‍होंने मुझे अपने से पहले बल्‍लेबाजी करने भेजा था। उस मैच में मैंने 40 के आसपास रन रन बनाए थे। इसके बाद मुझे ज्‍यादा मौके नहीं मिले, तो मैंने अपने मौके का इंतजार किया।'

दीपक चाहर को टी20 विश्‍व कप के लिए भारतीय टीम में जगह नहीं मिली है। उन्‍हें रिजर्व खिलाड़ी के रूप में टीम के साथ रखा गया है।

Edited by Vivek Goel
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now