Create
Notifications

3 मौके जब भारतीय टीम इंग्लैंड में 80 रनों के अंदर ऑल आउट हो गयी  

विराट कोहली को आउट करने के बाद जश्न मनाते हुए जेम्स एंडरसन
विराट कोहली को आउट करने के बाद जश्न मनाते हुए जेम्स एंडरसन
Prashant Kumar
visit

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) इस समय इंग्लैंड के दौरे (ENG vs IND) पर है। भारत ने पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना रखी थी और सीरीज का तीसरा मैच आज (25 अगस्त) लीड्स में शुरू हुआ है। लीड्स में विराट कोहली (Virat Kohli) ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और उनके इस फैसले को इंग्लैंड के गेंदबाजों ने पूरी तरह से गलत साबित किया। इंग्लैंड के गेंदबाजों के सामने कोई भी भारतीय बल्लेबाज 20 रन के आंकड़े को भी नहीं पार कर पाया और पूरी टीम 80 रन के अंदर ही ऑल आउट हो गई। हालांकि यह पहली बार नहीं है जब भारतीय टीम इंग्लैंड में इस तरह से लड़खड़ाई है।

इंग्लैंड को बल्लेबाजों के लिए वैसे भी बल्लेबाजी के लिए सबसे मुश्किल जगह माना जाता है और भारतीय टीम की भी समय-समय पर यहां तगड़ी परीक्षा होती रही है। हालांकि मौजूदा सीरीज के शुरुआती दो मैचों में भारतीय बल्लेबाज ने डटकर मुकाबला किया लेकिन तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड के गेंदबाजों का साफ तौर पर दबदबा देखने को मिला। इंग्लैंड में यह तीसरा मौका है जब भारतीय टीम 80 रन के अंदर ही ऑल आउट हो गई। इस आर्टिकल में हम उन तीन मौकों का जिक्र करने जा रहे हैं जब भारतीय टीम इंग्लैंड में 80 रनों के अंदर ही ऑल आउट हो गई।

3 मौके जब भारतीय टीम इंग्लैंड में 80 रनों के अंदर ऑल आउट हो गयी

#1 42/10, लॉर्ड्स (1974)

क्रिस ओल्ड और ज्योफ अर्नोल्ड ने भारत की दूसरी पारी में शानदार गेंदबाजी की थी
क्रिस ओल्ड और ज्योफ अर्नोल्ड ने भारत की दूसरी पारी में शानदार गेंदबाजी की थी

1974 में इंग्लैंड दौरे पर आई भारतीय टीम ने सीरीज का दूसरा मैच लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेला था। इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 629 रन बनाए थे, जिसके जवाब में भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी में 302 रन बना पाई थी और उसे फॉलोऑन खेलने के लिए मजबूर होना पड़ा था।

फॉलोऑन खेलने उतरी भारतीय टीम की दूसरी पारी पूरी तरह से लड़खड़ा गई और ज्योफ अर्नोल्ड तथा क्रिस ओल्ड की घातक गेंदबाजी के सामने पूरी टीम महज 17 ओवर में मात्र 42 रनों पर ऑल आउट हो गई। अर्नोल्ड ने 4 तथा ओल्ड ने 5 विकेट चटकाए। वहीं चंद्रशेखर दूसरी पारी में बल्लेबाजी के लिए नहीं उतरे थे।

#2 58/10, मैनचेस्टर (1952)

फ्रेड ट्रूमैन
फ्रेड ट्रूमैन

1952 के इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम दो मैच पहले ही हार चुकी थी और उस पर काफी दवाब था। सीरीज का तीसरा मैच मैनचेस्टर में खेला गया। इस मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम ने 347/9 के स्कोर पर घोषित कर दी।

जवाब में भारतीय टीम की पहली पारी किसी बुरे सपने से कम नहीं थी और पूरी टीम महज 58 रन पर ही ऑल आउट हो गयी। इंग्लैंड की तरफ से फ्रेड ट्रूमैन ने भारतीय बल्लेबाजी क्रम को अकेले ही धवस्त कर दिया। उन्होंने 31 रन देखर 8 विकेट हासिल किये। वहीं एलेक बेडसेर ने भी 2 विकेट लिए।

#3 78/10, लीड्स (2021)

जेम्स एंडरसन
जेम्स एंडरसन

आज लीड्स में विराट कोहली ने जब लम्बे समय बाद टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निणर्य लिया तो किसी ने भी भारत की ऐसी खराब बल्लेबाजी की कल्पना नहीं की होगी। पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को जेम्स एंडरसन ने परेशान किया तथा केएल राहुल, पुजारा और विराट कोहली जैसे दिग्गज बल्लेबाजों को शिकार बनाया। इसके बाद अन्य गेंदबाजों ने भी विकेट चटकाए और पूरी भारतीय टीम 40.4 ओवर में 78 रन बनाकर ढेर हो गयी। भारत के लिए सर्वाधिक 19 रन रोहित शर्मा ने बनाये।

Edited by Prashant Kumar
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now