Create
Notifications

वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की रनों के मामले में 4 सबसे बड़ी जीत

Sehwag And Sachin
akhilesh.tiwari19

आईसीसी क्रिकेट विश्वकप इंग्लैंड में 30 मई से शुरु होगा। जैसे-जैसे क्रिकेट के इस महाकुंभ का समय करीब आ रहा है, वैसे-वैसे क्रिकेट फैन्स की बेचैनी भी बढ़ रही है। हालांकि इस बार के विश्वकप खिताब का प्रबल दावेदार मेजबान इंग्लैंड और भारत को माना जा रहा है। क्योंकि इंग्लैंड की टीम में कई बेहतरीन खिलाड़ी शामिल हैं, जो उसे किसी भी मैच में अच्छी शुरुआत दिलाने के साथ ही मैच विनिंग पारी खेलने में सक्षम हैं। वहीं भारतीय टीम की बात करें, तो कप्तान विराट कोहली की ब्रिगेड में भी कई युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का मिश्रण है। हालांकि विराट कोहली को सबसे ज्यादा ताकत पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और उप कप्तान रोहित शर्मा से मिलेगी।

इंग्लैंड अभी तक एक भी बार इस खिताब को जीत नहीं सका है, जबकि भारत दो बार विश्वविजेता बन चुका है और इस बार भी इतिहास रचने की कोशिश में होगा। अगर भारत इस बार का विश्व कप खिताब जीतता है, तो वह सबसे ज्यादा बार विश्वकप जीतने वाली ऑस्ट्रेलिया के बाद दूसरे स्थान पर आ जाएगा। हांलाकि इंग्लैंड की सरजमीं पर भारत के लिए राह उतनी आसान नहीं होगी।

भारतीय टीम अभी तक की सबसे मजबूत टीमों में से एक है, जो अपने बल्लेबाजों के दम पर कभी भी उलटफेर करने में सक्षम है। इसके कई उदाहरण हमें पहले भी दिखे हैं। आज हम आपको विश्व कप इतिहास में रनों के मामले में भारत की 4 सबसे बड़ी जीत के बारे में बताने जा रहे हैं। जानिए कौन से थे वो चार मैच-

#4 भारत बनाम श्रीलंका, 1999

India vs Sri lanka 1999

सबसे ज्यादा रनों से जीत के लिहाज से यह मैच चौथे नंबर पर आता है। जो कि 1999 के विश्वकप के दौरान भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया था। यह टूर्नामेंट का 21वां मैच था और इस मैच में बंगाल टाइगर के नाम से मशहूर सौरव गांगुली की बेहतरीन 183 रनों की पारी देखने को मिली थी। टॉन्टन में खेले गए गए इस मैच मे भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका के सामने 6 विकेट पर 373 रन बनाए थे। जिसमें सौरव गांगुली ने 183 रनों की पारी खेली और उनके साथ राहुल द्रविड़ ने 145 रनों की पारी खेली थी। दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे विकेट के लिए रिकॉर्ड 318 रनों की साझेदारी की थी।

वहीं इसका पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम मात्र 216 रनों के स्कोर पर ही आलआउट हो गई और भारत ने 157 रनों के विशाल अंतर से विश्वकप जैसे बड़े टूर्नामेंट में जीत हासिल की थी। इस मैच में सौरव गांगुली को उनकी बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया था।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

#3 भारत बनाम नामीबिया- 2003

India vs Namibia 2003

तीसरे नंबर पर है 2003 के विश्वकप में नामीबिया के खिलाफ खेला गया मैच। इस मैच में भारतीय टीम की ओर से मास्टर ब्लास्टर और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने 152 रनों की शानदार पारी खेली थी। उनके अलावा कप्तान सौरव गांगुली ने भी 112 रनों की बेहतरीन पारी खेली और भारत का स्कोर 2 विकेट के नुकसान पर 311 रन पहुंचा दिया।

यही नहीं इस मैच में भी सौरव गांगुली ने सचिन के साथ मिलकर 244 रनों की साझेदारी की थी। जिसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी नामीबिया जैसी कमजोर टीम को भारतीय गेंदबाजों ने 42.3 ओवर में ही 130 रनों के स्कोर पर ढेर कर दिया और भारत ने इस मैच में 181 रनों के विशाल अंतर से जीत हासिल की। इस मैच में भारतीय आलराउंडर युवराज सिंह ने बेहतरीन गेंदबाजी कर 4 विकेट हासिल किए थे। जबकि सचिन को उनकी बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

#2 भारत बनाम श्रीलंका- 2003

India vs Sri lanka 2003

2003 के विश्वकप के दौरान ही भारतीय क्रिकेट टीम ने एक बार फिर से श्रीलंका को अपना जलवा दिखाया। टूर्नामेंट के चौथे मैच में जोहानसबर्ग में भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए 292 रनों का स्कोर खड़ा किया। इस मैच में सचिन तेंदुलकर एक बार फिर से नर्वस 90 के शिकार हुए थे। उन्होंने इस मैच में 97 रनों के स्कोर पर अपना विकेट गंवा दिया था।

हालांकि भारतीय टीम द्वारा निर्धारित लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और भारतीय गेंदबाजों के आगे श्रीलंका ने घुटने टेक दिए। श्रीलंकाई टीम मात्र 109 रनों के स्कोर पर आल आउट हो गई। भारत की ओर से आशीष नेहरा, जवागल श्रीनाथ और जहीर खान जैसे स्टार गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया था और भारत को 183 रनों के विशाल अंतर से जीत दिलाई।

#1 भारत बनाम बरमूडा- 2007

India vs Barmuda 2007

विश्वकप इतिहास में सबसे ज्यादा रनों के अंतर से जीत हासिल करने के मामले में यह मैच भारत के लिए हमेशा यादगार रहेगा। क्योंकि भारत ने इस मैच में बरमूडा के खिलाफ 257 रनों के विशाल अंतर से जीत हासिल की थी। 2007 के विश्वकप के दौरान 12वे मैंच में भारत का मुकाबला बरमूडा जैसी कमजोर टीम से हुआ था। जिसमें भारत ने पहले बल्लेबाजी कर 413 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया था।

भारत की ओर से वीरेंदर सहवाग ने 114 रनों की विस्फोटक पारी खेली थी। वहीं उनके अलावा सौरव गांगुली और युवराज सिंह ने भी शानदार पारी खेली थी। जिसके जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी बरमूडा की टीम 156 रन पर ही ढेर हो गई और भारत ने 257 रनों के विशाल अंतर से जीत हासिल की।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...