ग्‍लेन मैक्‍सवेल ने स्पिन का सामना करने की अपनी ताकत के बारे में बड़ी प्रतिक्रिया दी

ग्‍लेन मैक्‍सवेल को पांच साल बाद ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्‍ट टीम में मौका मिला है
ग्‍लेन मैक्‍सवेल को पांच साल बाद ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्‍ट टीम में मौका मिला है

श्रीलंका (Sri Lanka Cricket team) के खिलाफ 29 जून से शुरू होने वाली दो मैचों की टेस्‍ट सीरीज के लिए ग्‍लेन मैक्‍सवेल (Glenn Maxwell) की ऑस्‍ट्रेलियाई टीम (Australia Cricket team) में वापसी हुई है। स्‍टार ऑलराउंडर ने कहा कि टीम में अनुभव लेकर आने पर उन्‍हें गर्व है।

मैक्‍सवेल ने पांच साल के बाद राष्‍ट्रीय टेस्‍ट टीम में वापसी की। उन्‍होंने अपना आखिरी टेस्‍ट मैच 2017 में चट्टोग्राम में बांग्‍लादेश के खिलाफ खेला था। उसी साल रांची में भारत के खिलाफ मैक्‍सवेल ने अपना पहला टेस्‍ट शतक भी जमाया था।

मैक्‍सवेल के हवाले से ईएसपीएन क्रिकइंफो ने कहा, 'मेरे ख्‍याल से इस तरह की स्थिति में मैं काफी अनुभव लेकर आऊंगा और मुश्किल परिस्थिति में अच्‍छी स्पिन गेंदबाजी को संभाल सकता हूं। यह ऐसी चीज है, जिस पर मैं अपने आप पर गर्व कर सकता हूं। मुश्किल परिस्थिति में तेजी से पैर चलाना और रन बनाने का जरिया खोजना अहम है। 2017 में भारत में मैंने अपना टेस्‍ट शतक जमाया था, जिस पर मुझे काफी गर्व है।'

ऑलराउंडर ने आगे कहा, 'मैं पिछले दशक में उन खिलाड़‍ियों में से एक हूं, जिसने भारत में शतक जमाया और ऐसा करने से मुझे यहां भी बेहतर प्रदर्शन की आस लगी हुई है।' ट्रेविस हेड के खेलने पर सस्‍पेंस बना हुआ है जबकि एश्‍टन एगर गाले में बुधवार से शुरू होने वाले पहले टेस्‍ट से बाहर हो चुके हैं। ऐसे में उम्‍मीद जताई जा रही है कि ग्‍लेन मैक्‍सवेल को टेस्‍ट खेलने का मौका मिल सकता है।

ग्‍लेन मैक्‍सवेल ने कहा, 'बांग्‍लादेश में मैंने आखिरी टेस्‍ट खेला था, जहां हमने जीत दर्ज की थी। मेरी कैप एक छोटे बैग में रखी थी। मैंने पिछले साल उसे बाहर निकाला और देखा तो उसकी हालत खराब हो रही थी। लगा कि यह अच्‍छे संकेत नहीं है। मेरी पत्‍नी ने कल इसे बाहर निकाला और कहा कि मुझे नहीं लगता कि मैं इसको लेकर आ सकती हूं। यह खराब लग रही है। तो मैंने सोचा कि जब घर पहुंच जाऊंगा तो देखूंगा कि इसे ठीक करना है। मगर अभी तो यह अच्‍छी नहीं लग रही है।'

Quick Links

Edited by Prashant Kumar