Create

"श्रीलंका में दूसरा टेस्ट नहीं खेलने से मैं हैरान था," ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज का बयान

ग्लेन मैक्सवेल सफेद गेंद क्रिकेट में बेहतरीन खिलाड़ी रहे हैं
ग्लेन मैक्सवेल सफेद गेंद क्रिकेट में बेहतरीन खिलाड़ी रहे हैं
reaction-emoji
Naveen Sharma

ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) ने हाल ही में खुलासा किया कि श्रीलंका में आयोजित दूसरा टेस्ट खेलने से चूकने के बाद वह हैरान महसूस कर रहे थे। तेजतर्रार बल्लेबाज ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट खेलने के विचार ने उन्हें फिर से उत्साहित किया।

ESPN के अनुसार मैक्सवेल ने कहा कि मुझे बताया गया तो मैं टूट गया। मैं वास्तव में (दूसरा टेस्ट) खेलना चाहता था। मुझे इसका हिस्सा बनना पसंद था और मुझे फिर से खेलने का विचार पसंद आया। मुझे लगा जैसे मैं फिर से तैयार हूं। मुझे कोचों के साथ काम करना और मुश्किल स्पिन गेंदबाजी के विस्फोट से निपटने के लिए नई रणनीति के साथ आना पसंद था।

उन्होंने कहा कि मुझे ख़ुशी है कि ट्रेविस हेड ने अपना फिटनेस टेस्ट पास कर लिया। किसी चोटिल खिलाड़ी के टीम में शामिल होने पर मुझे पसंद नहीं आता। दोनों टेस्ट मैचों में हालात समान होते तो मैं खेलता लेकिन उन्होंने थोड़ा अच्छा विकेट बनाया और चयनकर्ताओं ने सही निर्णय लिया।

मैक्सवेल ने यह भी कहा कि टेस्ट क्रिकेट में सपोर्ट मिलना अच्छा है। मुझे इतना अच्छा महसूस हुआ जो शायद मुझे टेस्ट क्रिकेट के शुरुआती दिनों में नहीं हुआ था।

मैक्सवेल लम्बे समय बाद टेस्ट टीम में आए थे
मैक्सवेल लम्बे समय बाद टेस्ट टीम में आए थे

गौरतलब है कि टेस्ट क्रिकेट में ग्लेन मैक्सवेल को ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला। हालांकि सफेद गेंद क्रिकेट में वह एक धाकड़ खिलाड़ी साबित हुए। उनको तूफानी खेल के लिए जाना जाता है। ऑस्ट्रेलिया के लिए सफेद गेंद क्रिकेट में उनका धाकड़ प्रदर्शन रहता है लेकिन रेड बॉल टीम में उनको जगह नहीं मिली और बाहर कर रास्ता दिखा दिया गया।

श्रीलंका दौरे पर ऑस्ट्रेलिया की टीम ने अच्छी शुरुआत की थी। पहला टेस्ट मैच कंगारुओं ने 10 विकेट से जीता था। हालाँकि, दूसरे टेस्ट में श्रीलंका ने जोरदार वापसी की और सीरीज 1-1 से बराबर करने में सफलता प्राप्त की।


Edited by Naveen Sharma
reaction-emoji

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...