"विराट जितना ही योगदान था" - सेंचुरियन में भारत की हार के बाद हरभजन सिंह ने चेतेश्वर पुजारा को लेकर दिया बड़ा बयान 

Australia v India - ICC World Test Championship Final 2023: Day Four
चेतेश्वर पुजारा ने 100 से अधिक टेस्ट मुकाबले खेले हैं

सेंचुरियन में खेले गए टेस्ट (SA vs IND) में भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक पारी और 32 रनों से हार झेलनी पड़ी। इस मुकाबले में भारत की बल्लेबाजी ख़राब रही और टीम दूसरी पारी में सिर्फ 131 रनों पर ऑलआउट हो गई। भारतीय टीम की करारी हार के बाद, पूर्व ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) को चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) और अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की याद आ गई, जिन्हें दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टीम में जगह नहीं मिली थी।

दक्षिण अफ्रीका में अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीत की तलाश में भारतीय टीम से काफी उम्मीदें थी और इस बार स्क्वाड से चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे जैसे अनुभवी खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखाया गया था। ये दोनों खिलाड़ी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में खेले थे।

हालाँकि, पहले टेस्ट में हार से भारत को निराश होना पड़ा और उनका सीरीज जीतने का इन्तजार बढ़ गया है। दो मैचों की सीरीज में दक्षिण अफ्रीका ने 1-0 की बढ़त बना ली है। अब अगर भारत 3 जनवरी से होने वाला मुकाबला जीत भी जाता है, तो भी सीरीज सिर्फ बराबर ही होगी।

भारत के पास चेतेश्वर पुजारा से बेहतर टेस्ट बल्लेबाज नहीं - हरभजन सिंह

अपने यूट्यूब चैनल पर हरभजन सिंह ने टेस्ट टीम से चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को ड्रॉप किये जाने पर सवाल उठाये, साथ ही कहा कि भारत के पास पुजारा से बेहतर टेस्ट बल्लेबाज नहीं है। उन्होंने कहा,

अजिंक्य रहाणे को नहीं चुना और चेतेश्वर पुजारा को बिना किसी कारण के बाहर कर दिया। ये दो खिलाड़ी हैं जिन्होंने हर जगह रन बनाए हैं। अगर आप पिछले रिकॉर्ड को देखें तो पुजारा का भी उतना ही योगदान है जितना कोहली का था। मुझे समझ नहीं आता कि पुजारा को बाहर क्यों रखा गया है, हमारे पास अभी भी टेस्ट क्रिकेट में पुजारा से बेहतर बल्लेबाज नहीं है। वह धीमा खेलते हैं लेकिन वह आपको बचाते हैं। उनकी वजह से भारत ने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में टेस्ट जीते।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar