Create

मैं भारत का सबसे तेज गेंदबाज बनना चाहता हूं - कमलेश नागरकोटी

कमलेश नागरकोटी
कमलेश नागरकोटी

अंडर-19 वर्ल्ड कप 2018 के स्टार गेंदबाज कमलेश नागरकोटी ने एक बड़ी प्रतिक्रिया दी है। कमलेश नागरकोटी ने कहा है कि वो भारत का सबसे तेज गेंदबाज बनना चाहते हैं। नागरकोटी के मुताबिक वो भी शोएब अख्तर और शॉन टैट की तरह तेज बॉलिंग करना चाहते हैं।

कमलेश नागरकोटी इस आईपीएल सीजन केकेआर की तरफ से खेलते नजर आएंगे। हालांकि वो 2 सीजन से टीम का हिस्सा थे लेकिन चोट की वजह से अभी तक अपना डेब्यू नहीं कर पाएं हैं। इस सीजन उनके आईपीएल डेब्यू की पूरी संभावना है।

केकेआर की वेबसाइट पर उन्होंने कहा कि तेज गेंदबाजी करने के लिए वो अपनी फिटनेस और वर्कआउट में बदलाव करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा,

हां मैं भारत का सबसे तेज गेंदबाज बनना चाहता हूं। हालांकि मुझे पता है कि ये आसान नहीं है लेकिन अगर आप लगातार इस पर काम कर रहे हैं और ये आपका सपना है तो फिर आपको उसी हिसाब से मेहनत भी करनी होगी। आपको अपने रुटीन पर काम करना होगा। मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं और भारत का सबसे तेज गेंदबाज बनना चाहता हूं।

राहुल द्रविड़ ने बढ़ाया था कमलेश नागरकोटी का हौंसला

2018 के वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन के बाद कमलेश नागरकोटी को आईपीएल नीलामी में कोलकाता नाइट राइडर्स ने खरीद लिया था। हालांकि चोट की वजह से वो एक भी मैच नहीं खेल पाए थे। ऐसे मौके पर उनके अंडर-19 के कोच राहुल द्रविड़ ने उनका उत्साह बढ़ाया और ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज पैट कमिंस का उदाहरण देते हुए उनको कॉन्फिडेंस दिया।

कमलेश नागरकोटी ने बताया कि किस तरह राहुल द्रविड़ ने उनका हौसला बढ़ाया था। उन्होंने कहा,

द्रविड़ सर ने मेरे पास आकर कहा कि मुझे पता है कि तुम्हें इस वक्त कैसा लग रहा है लेकिन चीजों को पॉजिटिव तरीके से लेना चाहिए। पैट कमिंस ने 3-4 साल तक नहीं खेला था लेकिन अब वो दुनिया का नंबर एक गेंदबाज है। इसलिए हमेशा पॉजिटिव रहो और ये सोचो कि आप अपनी लाइफ में क्या कर सकते हैं। हमेशा गलतियों से सीख लेकर शानदार वापसी करना चाहिए।

आपको बता दें कि राहुल द्रविड़ की ही कोचिंग में भारत ने अंडर-19 का वर्ल्ड कप खिताब 2018 में जीता था। सारे युवा खिलाड़ी द्रविड़ को अपनी प्रोग्रेस का काफी श्रेय देते हैं।

ये भी पढ़ें: शशि थरूर की बड़ी प्रतिक्रिया, कहा सचिन तेंदुलकर ज्यादा मोटिवेशनल कप्तान नहीं थे

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment