IND vs ENG: बेन स्‍टोक्‍स की डीआरएस को लेकर दी गई सलाह पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने उठाया सवाल, इस खास बात पर दिलाया ध्‍यान

जैक क्रॉली को एलबीडब्‍ल्‍यू आउट दिया गया जबकि गेंद गिल्‍ली को छूकर जा रही थी
जैक क्रॉली को एलबीडब्‍ल्‍यू आउट दिया गया जबकि गेंद गिल्‍ली को छूकर जा रही थी

भारतीय टीम (India Cricket Team) के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने इंग्‍लैंड (England Cricket Team) के कप्‍तान बेन स्‍टोक्‍स (Ben Stokes) के डीआरएस (DRS) को लेकर दिए गए सुझाव पर सवाल खड़ा किया है। स्‍टोक्‍स ने कहा था कि डीआरएस से अंपायर्स कॉल को हटा देना चाहिए। चोपड़ा ने ध्‍यान दिलाया कि यह सिस्‍टम गलतियों को रोकने के लिए लाया गया था।

स्‍टोक्‍स ने कुछ फैसलों पर सवाल किए थे, जो भारत के खिलाफ मौजूदा टेस्‍ट सीरीज में इंग्‍लैंड के खिलाफ गए थे। इंग्लिश कप्‍तान ने अपने तीन बल्‍लेबाजों के बारे में विचार प्रकट किए थे, जो राजकोट टेस्‍ट की दूसरी पारी में अंपायर्स कॉल का शिकार हुए थे।

चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर स्‍टोक्‍स के विचार के प्रति असहमति जताई कि अंपायर्स कॉल हट जाना चाहिए। चोपड़ा ने कहा, 'बेन स्‍टोक्‍स ने कहा कि उन्‍हें डीआरएस पसंद नहीं। उन्‍होंने सुझाव दिया कि अंपायर्स कॉल हट जाना चाहिए। डीआरएस फुलप्रूफ नहीं है। चूंकि आप 100 प्रतिशत विश्‍वास से भरे नहीं है, इसलिए अंपायर्स कॉल की तरफ जाते हैं। आप कहें कि यह अंपायर्स का काम है तो आपको इससे दूर रहना चाहिए। फिर चाहे अंपायर आउट दे या नॉट आउट दे। असल में वो सच है। यह कोई गलती नहीं है। आपने जो हटाने की कोशिश की, वो अपने आप ही हट चुका है।'

चोपड़ा ने ध्‍यान दिलाया कि अंपायर्स कॉल इसलिए माना जाता है, क्‍योंकि डीआरएस सिस्‍टम दो मूविंग ऑब्‍जेक्‍ट्स के समय पूरी तरह सटीक नहीं होता। उन्‍होंने साथ ही कहा कि अंपायर्स कॉल को प्राथमिकता दी जाती है क्‍योंकि स्‍टंप पर प्रभाव के लिए बॉल ट्रेकिंग सिस्‍टम पर अनुमान आता है।

आकाश चोपड़ा ने ध्‍यान दिलाया कि जैक क्रॉली का कुलदीप यादव की गेंद पर एलबीडब्‍ल्‍यू आउट होने के साथ कुछ ऐसे फैसले हैं, जो आमतौर पर देखने में उलझन भरे लगे। उन्‍होंने कहा, 'मैं ईमानदारी से कहूंगा कि वहां दो या तीन फैसले थे, तो आपको लगेंगे कि 50-50 फैसले वाले हैं जब आप उन्‍हें बिना तकनीक के देखेंगे। एक तो विशाखापट्टनम में कुलदीप यादव की गेंद पर जैक क्रॉली का आउट होना था। बिना तकनीक के देखें तो पता नहीं चलेगा कि गेंद मिडिल या लेग स्‍टंप पर लगने जा रही है।'

चोपड़ा ने कहा कि राजकोट टेस्‍ट की पहली पारी में ओली पोप के विकेट ने भी उन्‍हें हैरान किया था। आकाश चोपड़ा ने कहा, 'ऐसा लगा कि अंपायर्स कॉल होगा, लेकिन ऐसा मामला नहीं था। आम आंखों से देखने की यही समस्‍या है। इसके बाद जब ओली पोप को सिराज की गेंद पर आउट दिया, तब भी मुझे महसूस हुआ कि यहां अंपायर्स कॉल होगा, लेकिन गेंद तीनों स्‍टंप्‍स पर लगती दिखी। यह बहुत हैरानी भरा था।'

Quick Links

Edited by Prashant Kumar