Create

'टीम इंडिया के टेस्‍ट उप-कप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे सबसे बड़ी निराशा रहे'

अजिंक्‍य रहाणे ने मौजूदा सीरीज में काफी खराब प्रदर्शन किया है
अजिंक्‍य रहाणे ने मौजूदा सीरीज में काफी खराब प्रदर्शन किया है

वसीम जाफर (Wasiim Jaffer) ने इंग्‍लैंड (England Cricket team) के भारत (India Cricket team) के तीन प्रमुख बल्‍लेबाजों (रोहित शर्मा, अजिंक्‍य रहाणे और चेतेश्‍वर पुजारा) (Rohit Sharma, Ajinkya Rahane, Cheteshwar Pujara) के भविष्‍य पर अपनी राय प्रकट की है। जाफर ने अजिंक्‍य रहाणे को इंग्‍लैंड के खिलाफ मौजूदा सीरीज में निराशा करार दिया है। उन्‍होंने तीन टेस्‍ट में केवल 95 रन बनाए हैं।

वसीम जाफर ने बताया कि अगले दो टेस्‍ट में अगर मौका मिले तो अजिंक्‍य रहाणे को साधारण तरह आउट करने की तकनीक पर सुधार करना होगा।

वसीम जाफर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, 'अजिंक्‍य रहाणे निराशा रहे हैं। आप जानते हैं, वह आसानी से आउट हो रहे हैं, ज्‍यादातर विकेट के पीछे कैच आउट हो रहे हैं। उनके स्‍तर के खिलाड़ी को ऐसा नहीं करना चाहिए क्‍योंकि बल्‍लेबाजी ईकाई उन पर काफी निर्भर करती है। अगर उन्‍हें अगले टेस्‍ट में मौका मिलता है तो उन्‍हें दमदार प्रदर्शन करने की जरूरत है। विदेशी दौरों पर वह निरंतर बेहतर प्रदर्शन करने वालों में से रहे हैं। उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया, इंग्‍लैंड और दक्षिण अफ्रीका में रन बनाए हैं। अब अगले दो टेस्‍ट रहाणे के लिए अहम है।'

वैसे तो अजिंक्‍य रहाणे को चौथे टेस्‍ट में हटाने की उम्‍मीदें बहुत कम है, लेकिन अगर भारतीय टीम उन्‍हें बाहर बैठाने का फैसला करती है तो उनके विकल्‍प के लिए सूर्यकुमार यादव और हनुमा विहारी हैं।

हनुमा विहारी अनुभवी बल्‍लेबाज हैं और वह पार्ट-टाइम गेंदबाजी भी कर लेते हैं।

पुजारा को इसी अंदाज में बल्‍लेबाजी करना चाहिए: जाफर

वसीम जाफर ने तीसरे टेस्‍ट में बेहतरीन बल्‍लेबाजी के लिए रोहित शर्मा और चेतेश्‍वर पुजारा की तारीफ की है। जाफर ने कहा कि पुजारा को भविष्‍य में भी इसी तरह बल्‍लेबाजी करना चाहिए।

वसीम जाफर ने कहा, 'रोहित शर्मा ने शानदार बल्‍लेबाजी की। लगा कि वो शतक जमाएंगे, लेकिन दुर्भाग्‍यवश वह एलबीडब्‍ल्‍यू आउट हुए। पुजारा ने भी बेहतरीन बल्‍लेबाजी की। वह 91 रन पर आउट हुए, लेकिन तब तक शानदार पारी खेली। उनकी काफी सकारात्‍मक सोच दिखी।'

जाफर ने आगे कहा, 'पुजारा को इसी अंदाज में खेलना चाहिए क्‍योंकि जब वो सिर्फ डिफेंस करते हैं तो अपने साथ-साथ जोड़ीदार पर भी दबाव बना देते हैं। जिस तरह उन्‍होंने तीसरे टेस्‍ट में बल्‍लेबाजी की, वो मुझे अच्‍छा लगा। मैं चाहता हूं कि उन्‍हें इसी तरह खेलना चाहिए।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment