Create

रविचंद्रन अश्विन को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखने पर पूर्व भारतीय खिलाड़ी ने उठाया सवाल

Surrey v Somerset  - LV= Insurance County Championship
Surrey v Somerset - LV= Insurance County Championship

इंग्लैंड (England) के खिलाफ चल रहे पहले (ING vs ENG) टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को भारत की प्लेइंग इलेवन से बाहर करने से कई लोगों को झटका लगा। वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में अश्विन ने बेहतर गेंदबाजी की थी। अश्विन को इलेवन से बाहर कर दिया गया और शार्दुल ठाकुर, मोहम्मद सिराज सहित कुल चार तेज गेंदबाजों को शामिल किया गया। रविन्द्र जडेजा एकमात्र स्पिनर हैं। शार्दुल ठाकुर को उनकी बल्लेबाजी क्षमताओं के कारण अश्विन पर तरजीह दी गई। वीवीएस लक्ष्मण इस निर्णय से हैरान हैं।

ESPNCricinfo से बातचीत करते हुए लक्ष्मण ने कहा कि मेरे लिए अगर आप आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले गेंदबाज को चुन रहे हैं, तो मैं एक ऐसा गेंदबाज चुनूंगा जो गेंद से मैच जिताने वाला प्रदर्शन कर सके और मेरे लिए वह आर अश्विन होंगे। इसलिए, मैं उस संतुलन के साथ जाता जो भारत के पास WTC फाइनल में था।

लक्ष्मण ने यह भी कहा कि पहले मैं एक ऐसी टीम में खेला हूँ जहां आपके पास चार तेज गेंदबाज थे और हमेशा एक तेज गेंदबाज अंडरबॉल्ड होता रहता था। इसलिए, मुझे नहीं पता कि विराट कोहली और टीम प्रबंधन ने यह फैसला क्यों लिया?

पूर्व भारतीय खिलाड़ी वसीम जाफर और इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने भी अश्विन के नहीं होने पर हैरानी जताई। दोनों ने इस सम्बन्ध में ट्वीट भी किये। इसके अलावा फैन्स ने भी ट्विटर पर अश्विन को नहीं खिलाने पर जमकर सवाल पूछे।

कोहली ने इससे पहले मंगलवार को प्री-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शार्दुल को प्लेइंग इलेवन में शामिल करने का संकेत दिया था, जिसमें कहा गया था कि इससे टीम में और संतुलन आएगा। शार्दुल ठाकुर ने अब तक भारत के लिए केवल एक टेस्ट खेला है जो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी 2020-21 के दौरान आया था। हालांकि गेंदबाजी में उनकी स्विंग और निचले क्रम में बल्लेबाजी की क्षमता देखते हुए उन्हें टीम में शामिल किया गया है। उनके अलावा मोहम्मद सिराज को भी बतौर स्विंग गेंदबाज शामिल करते हुए इशांत शर्मा को भी बाहर रखा गया है। इशांत शर्मा को क्यों बाहर रखा गया, इसके बारे में भी कोई जानकारी सामने नहीं आई।

Quick Links

Edited by निरंजन
Be the first one to comment