Create

"सबसे आसान विकल्प मयंक को ड्रॉप करना है", पूर्व खिलाड़ी ने विराट कोहली को शामिल करने को लेकर दी प्रतिक्रिया 

वसीम जाफर ने दूसरे टेस्ट मैच में विराट कोहली को शामिल करने को लेकर प्रतिक्रिया दी
वसीम जाफर ने दूसरे टेस्ट मैच में विराट कोहली को शामिल करने को लेकर प्रतिक्रिया दी

टी20 वर्ल्ड कप के बाद ब्रेक पर जाने वाले विराट कोहली (Virat Kohli) न्यूजीलैंड के खिलाफ कल से शुरू होने वाले टेस्ट (IND vs NZ) में वापसी करने को तैयार हैं। हालांकि उनकी वापसी से भारत को किसी एक खिलाड़ी को प्लेइंग XI से ड्रॉप करना होगा और इसको लेकर सबकी अपनी राय है। पूर्व भारतीय खिलाड़ी वसीम जाफर ने भी इस बारे में अपनी राय दी और उन्होंने कहा कि विराट कोहली को शामिल करने के लिए सबसे आसान विकल्प मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) को ड्रॉप करना होगा। इसके अलावा उन्होंने मोहम्मद सिराज को शामिल करने की इच्छा भी व्यक्त की।

दोनों टीमों के बीच कानपुर में खेला गया टेस्ट मैच रोमांचक तरीके से ड्रॉ हुआ था और अब सब की नजरें मुंबई टेस्ट पर होंगी। विराट कोहली न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज और पहला टेस्ट मिस करने के बाद दूसरे टेस्ट में वापसी कर रहे हैं।

ईएसपीएन क्रिकइंफो पर दूसरे टेस्ट का प्रीव्यू करते हुए जाफर ने मयंक अग्रवाल को ड्रॉप करने तथा रिद्धिमान साहा के फिट होने पर उनसे ओपन कराने की बात कही। साथ ही मुंबई की पिच को ध्यान में रखते हुए सिराज को भी शामिल करने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा,

सबसे आसान विकल्प यह है कि मयंक को ड्रॉप कर दिया जाए और साहा के साथ ओपनिंग की जाए, अगर वह फिट नहीं है तो श्रीकर भारत शुरुआत की जाये। मैं चाहता हूं कि सिराज भी खेले, शायद इशांत की जगह। वह (सिराज) शानदार फॉर्म में हैं। वानखेड़े की पिच उनके अनुकूल होगी और रिवर्स स्विंग भी हो सकती है।

जाफर ने चेतेश्वर पुजारा को सकारात्मक और आक्रामक इरादे से खेलने की सलाह दी। उन्होंने हाल में फार्म से जूझ रहे पुजारा से आक्रामक बल्लेबाजी करने और खेल को आगे बढ़ाने का आग्रह किया। जाफर ने कहा,

पुजारा को सकारात्मक इरादे से बल्लेबाजी करनी चाहिए। इंग्लैंड में बाद के मैचों में उन्होंने जिस तरह से बल्लेबाजी की। मैं जानता हूं कि वह आक्रामक तरीके से बल्लेबाजी कर सकता है, लेकिन कभी-कभी वह ऐसा करने से खुद को दूर रखता है। साथ ही वह इन भारतीय परिस्थितियों के बहुत अभ्यस्त हैं। एक बार सेट होने के बाद उसे आक्रामक रुख के साथ बल्लेबाजी करनी चाहिए और स्कोर को आगे बढ़ाना चाहिए।

विदेशों में कंसिस्टेंट टीम बनने के लिए, हमारे टॉप 5 बल्लेबाजों का नियमित रूप से प्रदर्शन जरूरी है - जाफर

वसीम जाफर ने इस बात पर भी जोर दिया कि भारत के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों को कंसिस्टेंट बने रहने की जरूरत है ताकि विदेशों में सफलता हासिल की जा सके। उन्होंने कहा कि भारत जब विदेशों में खेलता है तो निरंतर अच्छा प्रदर्शन बल्लेबाजों के द्वारा देखने को नहीं मिलता है।

इसके अलावा पूर्व सलामी बल्लेबाजी ने भारतीय गेंदबाजों को सराहा। उन्होंने उल्लेख किया कि वे नियमित तौर पर 20 विकेट लेने में सक्षम हैं। हालांकि, उन्होंने बल्लेबाजों के साथ निरंतरता के मुद्दे पर जोर दिया और कहा,

अगर हम विदेशी सीरीज जीतना चाहते हैं, और एक कंसिस्टेंट टीम बनना चाहते हैं तो हमारे टॉप 5 बल्लेबाजों को नियमित और लगातार स्कोर करना चाहिए। क्योंकि यह हमारे साथ एक 'गायब चीज' रही है, खासकर जब हम सेना (दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया) में खेलते हैं। हमें नियमित रूप से 350-400 रन बनाने में सक्षम होना होगा क्योंकि हमारे पास एक सक्षम गेंदबाजी इकाई है जो नियमित रूप से 20 विकेट ले सकती है।

भारत को मौजूदा टेस्ट सीरीज के बाद दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना है। हालांकि कोरोना के नए वैरिएंट की वजह से दौरे को लेकर अभी अनिश्चितता बनी हुयी है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment