Create

"चौथे दिन विराट कोहली और राहुल द्रविड़ को निर्देश भेजने चाहिए थे", पूर्व खिलाड़ी ने भारत की हार के बाद दी प्रतिक्रिया 

विराट कोहली और राहुल द्रविड़ को लेकर दानिश कनेरिया की प्रतिक्रिया
विराट कोहली और राहुल द्रविड़ को लेकर दानिश कनेरिया की प्रतिक्रिया

जोहानसबर्ग टेस्ट (IND vs SA) के चौथे दिन भारतीय टीम सही दिशा में कार्य करती हुयी नजर नहीं आई और ऐसा लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के लिए उनके पास कोई योजना नहीं है। कुछ ऐसा ही पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज दानिश कनेरिया का भी मानना है। कनेरिया के मुताबिक मैच के चौथे दिन विराट कोहली (Virat Kohli) और राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को टीम को जरूर कुछ निर्देश देने चाहिए थे।

भारत के नियमित टेस्ट कप्तान विराट कोहली इस मैच में पीठ में ऐंठन की वजह से नहीं खेल रहे थे। कहीं ना कहीं भारतीय गेंदबाजों को कप्तान विराट की कमी जरूर खली और इसी वजह से टीम को हार का सामना करना पड़ा।

अपने यूट्यूब चैनल पर बोलते हुए कनेरिया ने कहा:

टीम इंडिया बैकफुट पर थी, उन्हें दक्षिण अफ्रीका को अपने रनों के लिए कड़ी मेहनत करानी चाहिए थी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ, उन्होंने बचे हुए रन बहुत आसानी से बनाए। गेंदबाजी और गेंदबाजी में बदलाव अच्छे नहीं थे। केएल राहुल की बहुत ज्यादा आलोचना नहीं कर सकते क्योंकि वह पहली बार कप्तानी कर रहे हैं। लेकिन, कोहली और द्रविड़ के थिंक टैंक को गेंदबाजी में बदलाव और गेंदबाजी क्षेत्रों के बारे में निर्देश भेजना चाहिए था।

केएल राहुल को बतौर कप्तान अपने पहले टेस्ट मैच में 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।

इस जीत से दक्षिण अफ्रीका को काफी आत्मविश्वास मिलेगा - दानिश कनेरिया

प्रोटियाज टीम को जोहानसबर्ग के मैदान में भारत के खिलाफ पहली बार टेस्ट में जीत हासिल हुई है। कनेरिया का मानना है कि तीसरे टेस्ट से पहले भारत जैसी टेस्ट टीम पर जीत से काफी प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने यह भी भविष्यवाणी की कि यदि भारतीय गेंदबाज चौथे दिन जैसा प्रदर्शन आगे भी करते हैं, तो टीम इंडिया को परेशानी होगी। कनेरिया ने कहा,

इस जीत से दक्षिण अफ्रीका को तीसरे टेस्ट में काफी आत्मविश्वास मिलेगा। भारत के पास यह टेस्ट जीतने और सीरीज पर कब्जा करने का अच्छा मौका था। लेकिन अगर भारत इस तरह गेंदबाजी करता है तो उसके लिए तीसरा टेस्ट भी जीतना मुश्किल होगा। बल्लेबाजों को भी योगदान देना होगा।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment