Create
Notifications

"मैं उसे कप्तान बनने से रोक देता" - ऋषभ पंत को लेकर वर्ल्ड कप विजेता टीम के खिलाड़ी ने दिया बड़ा बयान

ऋषभ पंत की कप्तानी को लेकर काफी चर्चा हुई
ऋषभ पंत की कप्तानी को लेकर काफी चर्चा हुई
reaction-emoji
Prashant Kumar

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टी20 सीरीज (IND vs SA) का समापन हुए कुछ दिन हो चुके हैं लेकिन भारतीय टीम के लिए कार्यवाहक कप्तान की भूमिका निभाने वाले ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को लेकर चर्चा अभी भी जारी है। कई दिग्गज खिलाड़ियों और जानकारों ने पंत की कप्तानी की आलोचना की। अब इस क्रम में पूर्व भारतीय खिलाड़ी और 1983 वर्ल्ड कप विजेता टीम के सदस्य मदन लाल (Madan Lal) का नाम भी जुड़ गया है। उनका मानना है कि ऋषभ पंत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कप्तान नहीं बनाया जाना चाहिए था।

पंत को सीरीज के लिए उपकप्तान बनाया गया था लेकिन सीरीज शुरू होने के ठीक एक दिन पहले कप्तान केएल राहुल चोटिल होकर बाहर हो गए थे। इसी वजह से बाएं हाथ के बल्लेबाज को लीडरशिप की भूमिका मिली।

उनकी कप्तानी में भारत को सीरीज के शुरूआती दो मुकाबलों में हार मिली थी। लेकिन टीम ने अगले दो मैचों में जोरदार वापसी की। हालांकि सीरीज का आखिरी मुकाबला बारिश की वजह से रद्द हो गया था और सीरीज 2-2 की बराबरी पर समाप्त हुई।

हालांकि, स्पोर्ट्स तक से बात करते हुए, मदन लाल ने बताया कि पंत को अभी भी एक बल्लेबाज के रूप में अधिक परिपक्वता दिखाने की जरूरत है, क्योंकि उन्होंने पूरी सीरीज में 58 रन बनाए। उन्होंने कहा,

मैं उसे कप्तान बनने से रोकता। इसकी अनुमति नहीं देता। क्योंकि ऐसे खिलाड़ी को बाद में यह जिम्मेदारी दी जानी चाहिए। भारत का कप्तान बनना बड़ी बात है। वह एक नौजवान है। वह अभी कहीं नहीं जा रहा है। वह जितना अधिक समय तक खेलेगा, वह अधिक परिपक्वता प्राप्त करेगा।

पंत को बल्लेबाजी में निरंतर होने के बाद कप्तानी के बारे में सोचना चाहिए - मदन लाल

मदन लाल का मानना है कि एमएस धोनी काफी शांत एप्रोच वाले थे और लीडरशिप उनमें स्वाभाविक रूप से थी। लेकिन पंत आक्रामक हैं, इसीलिए मदन लाल को लगता है कि इस युवा बल्लेबाज को पहले अपनी बल्लेबाजी में निरंतरता लानी चाहिए और फिर कप्तानी के बारे में सोचना चाहिए। उन्होंने कहा,

अगले दो सालों में अगर वह अपने खेल को अगले स्तर तक ले जा सकता है, तो वह एक अच्छा कप्तान बन सकता है, चीजों से परिपक्वता से निपट सकता है। यह एक अलग नेचर का खिलाड़ी है। एमएस धोनी एक शांत और शांत कप्तान थे, जो उन्हें कप्तान के रूप में उपयुक्त बनाता था। विराट कोहली शानदार बल्लेबाज हैं। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि पंत को अपना बल्ला स्विंग नहीं करना चाहिए, लेकिन अगर वह थोड़ी और परिपक्वता के साथ खेल सकते हैं तो यह बहुत अच्छा होगा।

Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...