Create
Notifications

पांच साल बाद कुछ ऐसी हो सकती है भारतीय टीम की बैटिंग लाइन अप

भारत के भविष्य के बल्लेबाज
भारत के भविष्य के बल्लेबाज
Utkarsh Mishra
visit

पिछले कई सालों से भारतीय बल्लेबाजी क्रम काफी स्थिर रहा है। नम्बर 4 और 6 के स्थान को छोड़ दें तो बाकी सभी स्थान में ज्यादा कुछ बड़े बदलाव देखने को नहीं मिले है। जहां शीर्ष क्रम में रोहित, धवन और विराट कोहली लगातार टीम की रीढ़ बने हुए हैं, वहीं मध्यक्रम महेंद्र सिंह धोनी और (कुछ सालों से) केदार जाधव के इर्द गिर्द घूमता रहा है।

विराट कोहली 31, रोहित 32, धवन 33, जाधव 35 और धोनी 38 साल के हो चुके हैं। जिसका मतलब यह है कि 5 साल बाद ये सभी खिलाड़ी या तो संन्यास ले चुके होंगे या फिर अपने करियर के अंत के नजदीक होंगे। टीम इनका रिप्लेसमेंट भी तलाश कर चुकी होगी। भारत के पास भविष्य के लिए प्रतिभावान बल्लेबाजों की एक पूरी फौज है।

पांच साल बाद भारतीय टीम की बैटिंग लाइन अप कुछ इस प्रकार हो सकती है।

ओपनर्स

1. के एल राहुल

वर्ल्ड कप में राहुल ने हासिल की थी फॉर्म
वर्ल्ड कप में राहुल ने हासिल की थी फॉर्म

के एल राहुल अभी 27 साल के युवा हैं। वो टीम में लगातार बने हुए हैं। हालांकि उनका प्रदर्शन अपेक्षा के अनुरूप नहीं रहा है लेकिन उनमें प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। 2023 विश्व के बाद 38 साल के हो चुके धवन संन्यास ले सकते हैं। ऐसे में उनकी जगह के दावेदार के एल राहुल ही होंगे और वो अपने नियमित स्थान यानी ओपनर के रूप में स्थापित कर सकते हैं।

2. पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ
पृथ्वी शॉ

रोहित भी भारत मे होने वाले अगले विश्व कप के बाद या कुछ और सीरीज बाद संन्यास की घोषणा कर सकते है। ऐसे में उनके स्थान पर पृथ्वी शॉ को मौका मिल सकता है। पृथ्वी भारत के लिए टेस्ट मैचों में अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं। उन्होंने अपने पहले मैच में शतक जड़ा था। उन्होंने आईपीएल में अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी की बानगी पेश की थी। उनको भविष्य में इस स्थान पर मौका मिलना लगभग तय है। फिलहाल वह नवंबर 15 तक डोपिंग टेस्ट में फेल रहने की वजह से निलंबित किये गए हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

मध्य क्रम

3. विराट कोहली

विराट कोहली की फिटनेस उन्हें लंबे समय तक मैदान पर बनाये रखेगी
विराट कोहली की फिटनेस उन्हें लंबे समय तक मैदान पर बनाये रखेगी

5 साल बाद भी अगर किसी खिलाड़ी का टीम में बना रहना तय मन जा सकता है तो वह विराट कोहली ही हो सकते हैं। उनकी फिटनेस और रनों की भूख को देखते हुए उनका कम से कम अगले 7 साल खेलना तय है। ऐसे में वह अपनी नियमित बैटिंग पोजीशन नम्बर 3 को बरकरार रखने वाले हैं।

4.शुभमन गिल

गिल टीम के इंडिया ए दौरों पर विश्व के हर मैदान पर रन बना रहे हैं
गिल टीम के इंडिया ए दौरों पर विश्व के हर मैदान पर रन बना रहे हैं

गिल भारतीय टीम के बैटिंग लाइन उप में अगले मिस्टर कंसिस्टेंट साबित हो सकते हैं। इंडिया ए के साथ विदेशी दौरों पर भी उन्होंने शानदार औसत से रन बनाए हैं। वह लंबे समय से चली आ रही नम्बर 4 की समस्या को खत्म करने के लिए उपयुक्त हैं। वे आगे जरूरत पड़ने पर ओपेनिंग भी कर सकते हैं।

5. श्रेयस अय्यर

सश्रेयस अय्यर को और मौके मिलने चाहिए
श्रेयस अय्यर को और मौके मिलने चाहिए

मुम्बई के 24 साल के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने वनडे क्रिकेट में मिले सीमित मौकों में अच्छा खेल दिखाया है। उन्होंने भारत के लिए 5 पारियों में 2 अर्धशतक लगाते हुए 210 रन बनाए हैं। अभी हाल ही में उन्हें फिर से टीम में जगह दी गई है। वह आने वाले समय मे इस स्थान पर खुद को सील कर सकते हैं।

6. ऋषभ पंत

ऋषभ पंत विकेटकीपर बल्लेबाजों में सबसे आगे हैं
ऋषभ पंत विकेटकीपर बल्लेबाजों में सबसे आगे हैं

कुछ साल पहले तक भारत के पास अगले विकेटकीपर के रूप में पंत के साथ-साथ रिद्धिमान साहा, ईशान किशन, संजू सैमसन जैसे नाम थे, लेकिन पिछले एक साल में पंत ने सबको पीछे छोड़ दिया है। वह इस समय भविष्य के विकेटकीपर के रूप में एक मात्र विकल्प नजर आ रहे हैं। उनके प्रदर्शन को देखते हुए उनके लम्बे समय तक टीम में बने रहने की पूरी संभावना है।

7. हार्दिक पांड्या

हार्दिक पांड्या ने वर्ल्ड को के दौरान खेल के हर क्षेत्र में सुधार किया है
हार्दिक पांड्या ने वर्ल्ड को के दौरान खेल के हर क्षेत्र में सुधार किया है

जिस तरह का बदलाव हार्दिक पांड्या ने पिछले 6 महीने में अपने अंदर लाया है, उसे देखते हुए नम्बर 7 का स्थान उनका ही होने वाला है। पांड्या ने अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी पर काफी काम किया है और इसका नजारा हमें वर्ल्ड कप और आईपीएल 2019 में देखने को मिला। वह लम्बी रेस के घोड़े साबित होने वाले हैं। वह तीनों प्रारूपों में टीम को जो संतुलन प्रदान करते हैं, वह उनको बाकियों से अलग ला खड़ा करता है।

इस विश्व कप में हमने उनकी सुधरी गेंदबाज़ी देखी। वह अब अपना कोटा पूरा कर रहे थें। उनकी बल्लेबाजी मे भी हमें सयंम, तेज गेंदबाजों के खिलाफ बेहतर तकनीक और शॉट को जमीन पर रखने की कोशिश करने जैसी चीजें देखने को मिलीं। पांड्या लम्बे समय तक इस स्थान को बरकरार रखने वाले हैं

Edited by Naveen Sharma
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now