5 कीवी बल्लेबाजों से भारतीय गेंदबाजों को बचना होगा

kane williamson and ross taylor

भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए विश्व की सभी बड़ी टीमों को यह संदेश दे दिया है कि वे वर्ल्ड कप 2019 के लिए पूरी तरीके से तैयार हैं। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को चार मैचों की टेस्ट मैच सीरीज में 2-1 अपने नाम की। तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी भारत ने 2-1 से ऑस्ट्रेलियाई टीम को पराजित किया। भले ही T20 सीरीज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 1-1 से ड्रॉ रही। लेकिन देखा जाए तो ओवरऑल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई ये सीरीज भारत के ही नाम रही।

भारत के सामने अब अगली चुनौती न्यूज़ीलैंड टीम पेश करने वाली है। 23 जनवरी से शुरू हो रहे भारत-न्यूज़ीलैंड सीरीज में पांच एकदिवसीय मुकाबले और तीन टी-20 मुकाबले होने वाले हैं, जो न्यूज़ीलैंड में खेले जाएंगे। न्यूज़ीलैंड दौरे के लिए भारतीय टीम का चयन किया जा चुका है। भारतीय गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार गेंदबाजी की अब उनकी कड़ी परीक्षा न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाजों के सामने होने वाली है। न्यूज़ीलैंड की टीम में कई विस्फोटक बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाज है जिनसे भारतीय गेंदबाजों का सामना होने वाला है। आइए जान लेते हैं उन पांच बल्लेबाज के बारे में जो भारतीय गेंदबाजों के सामने मुश्किल पैदा कर सकते हैं।

#5 कॉलिन मुनरो

collin munero

कॉलिन मुनरो न्यूजीलैंड टीम से खेलने वाले बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं। जिनका चयन भारत के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज में किया गया है। कॉलिन मुनरो मैच के समय मध्य क्रम में बल्लेबाजी करते हैं जो आवश्यकता पड़ने पर लंबे-लंबे छक्के भी आसानी से लगाते हैं। कॉलिन मुनरो ने अभी तक खेले गए 46 अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मुकाबलों में 1068 रन बनाए हैं जिसमें 7 अर्धशतक सम्मिलित हैं। भले ही कॉलिन मुनरो ने कोई लंबी पारी न खेली हो, लेकिन आवश्यकता पड़ने पर इन्होंने अपनी टीम के लिए आवश्यक रन बनाए हैं।

#4 कॉलिन डी ग्रैंडहोम

collin de gramhomme

कॉलिन डी ग्रैंडहोम न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम के दाएं हाथ के बल्लेबाज है। इन्होंने न्यूज़ीलैंड टीम के लिए 22 एक दिवसीय मुकाबले खेले हैं जहां अपनी टीम के लिए 392 रन बनाएं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इनका क्रिकेट कैरियर अभी शुरू ही हुआ है। इनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 74 रन है। कॉलिन मुनरो की तरह ही इन्हें भी मध्य क्रम में बल्लेबाजी का मौका दिया जाता है। कॉलिन डी ग्रैंडहोम आसानी से गेंद को सीमा रेखा के बाहर पहुंचा सकते हैं।

#3 रॉस टेलर -

ross taylor

रॉस टेलर न्यूज़ीलैंड टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। हाल ही में जारी आईसीसी की वनडे रैंकिंग में रॉस टेलर 827 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है। रॉस टेलर ने अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट के कैरियर में 181 मैच खेले हैं, जिसमें 47 रन की एवरेज से 7709 रन बनाये हैं। इस दौरान रॉस टेलर ने 20 शतक और 45 अर्धशतक लगायें हैं। रॉस टेलर का वनडे क्रिकेट में सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन 181 रन हैं। रॉस टेलर बहुत कम लंबे शॉट खेलते हैं लेकिन एक बार जब वे पिच में सेट हो गए तब उनको आउट करना काफी मुश्किल हो जाता है! रॉस टेलर भारतीय गेंदबाजों को काफी दिक्‍कत पहुॅंचा सकते हैं।

#2 मार्टिन गप्टिल

martin guptil

मार्टिन गप्टिल दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं जो न्यूज़ीलैंड टीम के लिए ओपनर के तौर पर खेला करते हैं। मार्टिन गप्टिल उन चुनिंदा बल्लेबाजों में से हैं जिन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में एक ही मुकाबले में 200 से अधिक रन बनाए हैं।आईसीसी की बैट्समैन रैंकिंग में इनका स्थान 14 है। मार्टिन गप्टिल ने न्यूज़ीलैंड टीम के लिए 162 एकदिवसीय मुकाबले खेले हैं जिसमें उन्होंने 6129 रन बनाए। मार्टिन गप्टिल ने इस दौरान 14 शतक और 34 अर्धशतक लगाए हैं। इनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 237 रन बनाने का है।

#1 केन विलियमसन

kane williamson

न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम के कप्तान केन विलियमसन दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं। इन्हें वर्तमान समय में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में एक माना जाता है। केन विलियमसन ने 132 एकदिवसीय मुकाबले खेले हैं जिसमें 5317 रन इन्होने बनाएं। एकदिवसीय मुकाबलों में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 145 रन है। रॉस टेलर की बल्लेबाजी के समान कैन विलियमसन भी लंबे शॉट खेलने के बजाए टिक कर खेलना पसंद करते हैं। इन्हें आउट करना भारतीय गेंदबाजों के लिए काफी मुश्किल होने वाला है।

Quick Links

App download animated image Get the free App now