Create

आईपीएल 2019: 3 कारण आखिर क्यों रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर संघर्ष करती नजर आई 

Virat Kohli

रॉयल चैलेंजर बैंगलोर भले ही अब तक एक भी आईपीएल का खिताब नहीं जीता पाई लेकिन वह लोगों के लिए एक पसंदीदा टीम हैl रॉयल चैलेंजर बैंगलोर की सबसे बड़ी ताकत उनकी फैन फॉलोइंग है और उनकी फैन फॉलोइंग में मुख्य रूप से युवा वर्ग शामिल है l हर साल प्रशंसक अपने पसंदीदा आरसीबी टीम को जीतने की इच्छा रखते हैं l लेकिन हर बार कोई न कोई कारण से बैंगलोर टीम जीत नहीं पाती है l इस साल उन्होंने लगातार हार के साथ आईपीएल की शुरुआत कीl हालांकि इसके बाद वह पांच में से चार मैच जीत चुके हैं और अब उन्हें हर गेम जीतने की जरूरत है , तभी वह प्ले ऑफ के लिए क्वालीफाई कर पाएंगे l

लेकिन इस साल 3 ऐसे प्रमुख कारण है जिसकी वजह से आरसीबी अपनी क्षमता के अनुरूप सफलता हासिल नहीं कर पाई :

1. विराट कोहली और एबी डीविलियर्स पर पूरी टीम की निर्भरता:

Virat Kohli and AB De Villiers

हालांकि कोहली और एबी डीविलियर्स ने हर मैच में बल्ले से और फील्डिंग से अपने प्रदर्शन से लोगों को संतुष्ट किया है और वह हर मैच में अच्छा प्रदर्शन करते आए हैं l लेकिन मैच जीतने के लिए दूसरे खिलाड़ियों का भी सार्थक योगदान जरूरी होता है l विराट और डीविलियर्स एक उम्दा श्रेणी के बल्लेबाज है पर उनके अलावा कोई भी खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए l

जब दोनों खिलाड़ी बल्ले से अपना कमाल नहीं दिखा पाते हैं तब आरसीबी टीम एक सम्मानजनक स्कोर तक भी नहीं पहुंच पाती है l हालांकि टीम में पार्थिव पटेल और मोईन अली लगातार अपना प्रदर्शन देते रहे हैं. लेकिन यह जीतने के लिए काफी नहीं होता है l स्पष्ट रूप से आरसीबी इन दो बल्लेबाजों के ऊपर बहुत अधिक निर्भर है और इस बात में कोई संशय नहीं है l

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

2. तेज गेंदबाजों की कमी:

Dale Steyn

हम बिना किसी शक के यह कह सकते हैं कि टी-20 मैच में मुख्य रूप से बल्लेबाजी ही महत्वपूर्ण रहती है l लेकिन बिना एक गुणवत्ता पूर्वक गेंदबाजी लाइनअप के आप किसी भी मैच को नहीं जीत सकते हैं l जब विपक्षी टीम में मजबूत बल्लेबाजी लाइन हो सकती है लेकिन एक सशक्त गेंदबाजी इकाई हारे हुए मैच को भी अपने पक्ष में ला सकती है l

इस बार आरसीबी के साथ भी यही हुआ है हालांकि उनके पास यजुवेंद्र चहल के अलावा कोई भी गेंदबाज अच्छा प्रभाव नहीं डाल सका l उनके पिछले सीजन के स्टार गेंदबाज उमेश यादव जिन्होंने 20 विकेट लिए थे, वह इस सीजन में 7 विकेट ही ले पाए और अब तक कोई खासा प्रभाव नहीं छोड़ पाए l

आरसीबी की तरफ से नाथन कूल्टर नाइल आईपीएल में बिल्कुल भाग नहीं ले पाए l तेज गेंदबाज टिम साउदी भी कोई विशेष प्रभाव नहीं छोड़ पाए l हालांकि आरसीबी ने गेंदबाज की कमी को समझते हुए डेल स्टेन जैसे दक्षिण अफ़्रीकी तेज गेंदबाज को अपनी टीम में शामिल किया और उन्होंने चेन्नई और कोलकाता के खिलाफ अपनी उपस्थिति दर्ज भी करवाई l लेकिन उसके बाद कंधे की चोट के कारण पूरी तरह से आईपीएल से बाहर हो गए और एक बार फिर आरसीबी की टीम में अच्छी गेंदबाजी लाइनअप की कमी रह गई l

3. अंतिम ओवरों में कोई फिनिशर बल्लेबाज का ना होना:

Marcus Stoinis

जैसा कि आप देख सकते हैं कि मुंबई इंडियंस के पास हार्दिक पांड्या, चेन्नई सुपरकिंग्स के पास ड्वेन ब्रावो, कोलकाता नाइटराइडर्स के पास आंद्रे रसेल है और उन्होंने अपनी शानदार बल्लेबाजी के दम पर कई बार अपनी टीम को मैच जिताया भी है , लेकिन आरसीबी के पास अंतिम ओवरों में खेलने के लिए कोई खासा बल्लेबाज नहीं है l हालांकि मार्कस स्टोइनिस ने आरसीबी के लिए फिनिशर के रूप में काम किया है l

लेकिन वह कुछ कारणवश शुरुआत के मैचों में उपलब्ध नहीं हो पाए l हालाँकि पार्थिव पटेल, विराट कोहली और एबी डीविलियर्स द्वारा अच्छी शुरुआत करने के बावजूद अंत में जब आरसीबी की टीम 10-15 रनों के अंतर से हारती है , तब यह बात आरसीबी के फैंस को काफी चोट पहुंचाती है l एक अच्छे फिनिशर की कमी ने आरसीबी को इस सीजन में लगातार नुकसान पहुंचाया है l

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment