पिछले सात महीने का वक्त मेरी जिंदगी का सबसे बुरा दौर था: हार्दिक पांड्या

Enter caption

कॉफी विद करण शो में महिलाओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के बाद हार्दिक पांड्या और केएल राहुल पर मुश्किलों की गाज गिर पड़ी। दोनों के खिलाफ बीसीसीआई लोकपाल मामले की जांच कर रहे हैं। दोनों खिलाड़ियों को न्यायमूर्ति के सामने पेश होकर अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस भी भेजा जा चुका है। हालांकि, कई महीनों बाद मुश्किल वक्त से गुजर रहे दोनों खिलाड़ियों ने सार्वजनिक रूप से मामले को लेकर अपनी जुबान खोली है। पहले केएल राहुल का बयान आया और अब हार्दिक पांड्या बोले हैं। हार्दिक ने पिछले सात महीनों को अपनी जिंदगी का सबसे मुश्किल वक्त बताया है। वह उस वक्त को फिर कभी याद नहीं करना चाहते हैं।

टीवी शो में महिलाओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के बाद हार्दिक और केएल को ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच से बुला लिया गया था। साथ ही उन्हें अस्थायी तौर पर निलंबित भी कर दिया गया था। हालांकि, कुछ दिनों बाद यह निलंबन वापस ले लिया गया। हार्दिक ने कहा कि अब मैं इस विवाद को भूल चुका हूं। यह मुश्किल दौर था और मैं नहीं जानता था कि क्या करना है। चेन्नई के खिलाफ हुए मैच में मुंबई के पांड्या ने बल्लेबाजी के बाद गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया। उन्होंने नॉटआउट रहते हुए आठ गेंदों पर 25 रन बनाए और 20 रन देकर तीन विकेट झटके। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

हार्दिक ने कहा कि मैं टीम की जीत में अहम भूमिका निभाकर अच्छा महसूस कर रहा हूं। सात महीने में बहुत मुश्किल से कोई मैच खेल पाया हूं। मुश्किल दौर में मैंने लगातार अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान दिया। मैं हर मैच में अपनी परफॉर्मेंस में सुधार लाना चाहता था। अच्छी बल्लेबाजी करना और टीम को जीत दिलाना अच्छी बात है। उन्होंने आगे कहा कि मैं चोट के कारण बाहर था और फिर विवाद ने मुझे बुरी तरह झकझोर दिया। मैं मैन ऑफ द मैच के खिताब को अपने परिवार और दोस्तों को समर्पित करना चाहता हूं। उन्होंने मुश्किल दौर में मेरा साथ दिया। अब मेरा ध्यान केवल आईपीएल खेलने और भारत को विश्वकप जिताने पर लगा हुआ है।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Quick Links

App download animated image Get the free App now