Create

आईपीएल 2019: 3 अनसोल्ड खिलाड़ी जो कोलकाता नाइटराइडर्स को प्लेऑफ में पहुंचा सकते थे

Enter caption

आईपीएल 2019 कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए अच्छा नहीं गुजरा है। आंद्रे रसेल और नीतीश राणा के जबरदस्त फॉर्म के कारण कोलकाता नाइटराइडर्स टीम शुरुआती 5 मैचों में से 4 मैचों में जीत हासिल की थी। जबकि उसके बाद टीम की स्थित बहुत खराब हो गई और टीम लगातार 6 मैचों में हार गई। इसके बाद अगले 3 मैचों में उन्हें 2 मैचों में जीत मिली। ऐसी खबरें आई थी कि अंतिम लीग मैच से पहले कोलकाता टीम में तनाव का माहौल था जिसके कारण उसे अंतिम मैच में हार का सामना करना पड़ा और यह टीम प्लेऑफ से बाहर हो गई। कोलकाता टीम ने अपना सीजन अंक तालिका में 5वें स्थान पर रहकर समाप्त किया।

कोलकाता टीम की ओर से कुछ बड़े खिलाड़ियों ने बेहद निराशाजनक प्रदर्शन किया। कोलकाता की पूरी टीम आंद्रे रसेल पर निर्भर दिख रही थी। जिस मैच में वो अच्छा प्रदर्शन करते उस मैच में कोलकाता जीतती थी अन्यथा नहीं। नीतीश राणा भी बैंगलोर के खिलाफ 85* रन बनाने के बाद फॉर्म में नहीं दिखे। इसके अलावा दिनेश कार्तिक की खराब कप्तानी भी कोलकाता की असफलता का कारण बनी। उन्होंने 2-3 मैचों में आंद्रे रसेल को 7वें स्थान पर बल्लेबाजी कराई।

आज हम 3 ऐसे अनसोल्ड खिलाड़ियों के बारे में बात करने जा रहे हैं जो अगर कोलकाता नाइटराइडर्स टीम का हिस्सा होते तो उसे प्लेऑफ तक पहुंचा सकते थे।

#3. चेतेश्वर पुजारा:

Enter caption

सौराष्ट्र के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा कोलकाता नाइटराइडर्स के मध्यक्रम के लिए उपयुक्त साबित हो सकते थे। उन्होंने इस सीजन सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया है। साथ ही साथ उन्होंने इस टूर्नामेंट में एक शतक भी जड़ा, यह उनका पहला टी20 शतक था। चेतेश्वर पुजारा ने इस सीजन 6 मैचों में 86.8 की औसत से 260 रन बनाए थे जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 131.3 का रहा।

चेतेश्वर पुजारा यहां रॉबी उथप्पा के बेहतर विकल्प हो सकते थे साथ ही वे मध्यक्रम बल्लेबाजी को मजबूत बना सकते थे क्योंकि वे टेस्ट क्रिकेटर हैं जो मौका पड़ने पर विकेट बचाकर भी खेल सकते हैं।

#2. जेम्स नीशम:

Enter caption

न्यूजीलैंड के दिग्गज ऑलराउंडर जेम्स नीशम के कोलकाता टीम में हिस्सा होने से टीम को एक अतिरिक्त बल्लेबाजी और अतिरिक्त गेंदबाजी का विकल्प भी मिलता। जेम्स नीशम ने श्रीलंका के खिलाफ वनडे क्रिकेट में दोबारा वापसी थी तब से वे 5 पारियों में 182.14 के स्ट्राइक से 264 रन बना चुके हैं जबकि गेंदबाजी करते हुए 8 मैचों में 10 विकेट चटका चुके हैं।

जेम्स नीशम इससे पहले भी कोलकाता नाइटराइडर्स टीम का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने अब तक टी20 क्रिकेट के 77 पारियों में 24.76 की औसत से 1347 रन बना चुके हैं जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 138 का रहा है। जबकि 86 पारियों में 17 की औसत से 91 विकेट भी चटका चुके हैं।

आंद्रे रसेल ने इस सीजन शानदार प्रदर्शन किया है लेकिन उनके सहायता के लिए कोई अन्य खिलाड़ी नहीं था। दिनेश कार्तिक भी इस साल फॉर्म में नहीं दिखे, जबकि कार्लोस ब्रैथवेट भी सीमित मौके का फायदा नहीं उठा पाए। ऐसे में जेम्स नीशम कोलकाता नाइटराइडर्स टीम को मजबूती दिला सकते थे।

#1. केन रिचर्डसन:

Kane Richardson

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज केन रिचर्डसन इससे पहले आईपीएल में पुणे वॉरियर्स (2013), राजस्थान रॉयल्स (2014) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (2016) जैसी टीमों का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। केन रिचर्डसन को आईपीएल में खेलने के ज्यादा मौके नहीं मिले हैं। उन्होंने आईपीएल के 14 मैचों में 24.61 की औसत से 18 विकेट लिए हैं।

केन रिचर्डसन का हालिया बिग बैश सीजन अच्छा गुजरा। वे इस सीजन सर्वधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों में पहले स्थान पर थे। उन्होंने इस सीजन 14 मैचों में 17.70 की औसत से 24 विकेट चटकाए थे। जबकि उस दौरान उनकी इकोनॉमी 7.75 की रही।

कोलकाता नाइटराइडर्स टीम में 3 विदेशी तेज गेंदबाज थे लेकिन किसी का भी प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा जबकि भारतीय तेज गेंदबाज भी फ्लॉप साबित हुए। इस सीजन कोलकाता के विदेशी तेज गेंदबाजों ने कुल 20 विकेट चटकाए हैं जिसमें 11 विकेट आंद्रे रसेल के नाम है। अगर केन रिचर्डसन इस टीम का हिस्सा होते तो कोलकाता के लिए अच्छा कर सकते थे।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment