IPL 2020: बंद स्टेडियम में 21 दिन का टूर्नामेंट आयोजित कराने का विकल्प सही माना जा सकता है

आईपीएल ट्रॉफी
आईपीएल ट्रॉफी

कोरोना वायरस की वजह से तमाम खेल गतिविधियों के साथ भारत में आईपीएल का सीजन भी प्रभावित हुआ है। फ़िलहाल इसे 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है। हालांकि बीसीसीआई और सभी टीमें इसे आयोजित कराने के पक्ष में नजर आई हैं। फिलहाल लॉक डाउन है और यह खुलने के बाद ही आयोजन होन संभव नजर आता है। हालांकि एक छोटा और सुरक्षित आईपीएल आयोजन हो सकता है। इस आर्टिकल में हम छोटे आईपीएल के संभावित प्रारूप पर बात करेंगे।

21 दिन का टूर्नामेंट और 31 मैच

आम तौर पर तकरीबन दो महीने चलने वाले आईपीएल को 21 दिन का किया जा सकता है। 56 लीग मैचों को घटाकर 28 कर सकते हैं। इसके बाद क्वालीफायर और एलिमिनेटर की जगह दो सेमीफाइनल और एक फाइनल मैच हो सकता है। इस स्थिति में हर टीम को एक-दूसरे के खिलाफ एक-एक मुकाबला खेलने का मौका मिलेगा। टॉप चार टीमों के बीच सेमीफाइनल मैच हो सकते हैं। इस स्थिति में 12 दिन डबल हेडर मैच होने चाहिए। सिर्फ पांच दिन सिंगल मैच हो। सेमीफाइनल अलग-अलग दिन खेले जाएं और उससे पहले एक दिन का ब्रेक हो। फाइनल मैच से पहले भी एक दिन का ब्रेक होना चाहिए। इस हिसाब से आईपीएल 21 दिन में खेला जा सकता है।

यह भी पढ़ें: 4 खिलाड़ी जिन्हें आईपीएल रद्द होने पर काफी बड़ा नुकसान होगा

गुजरात हो सकता है सुरक्षित वेन्यू

आईपीएल के लिए गुजरात सुरक्षित राज्य हो सकता है। यहाँ अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम भी काफी है और कोरोना वायरस भी नियंत्रण में है। महाराष्ट्र, तमिलनाडु आदि राज्यों में कोरोना वायरस का फैलाव ज्यादा है। इस दृष्टिकोण से आईपीएल के लिए गुजरात सुरक्षित माना जा सकता है। गुजरात में मानसून भी देरी से आता है ऐसे में टूर्नामेंट 15 मई के बाद भी हो सकता है।

तीन स्टेडियम हो सकते हैं

गुजरात में मोटेरा, बड़ौदा और राजकोट के स्टेडियम अंतरराष्ट्रीय स्तर के हैं। तीनों बेहतरीन स्टेडियम का उपयोग आईपीएल के लिए किया जा सकता है। इसका एक फायदा यह भी होगा कि खिलाड़ियों को ट्रेवल ज्यादा नहीं करना पड़ेगा और थकान भी नहीं होगी। 2014 में आईपीएल का शुरूआती चरण यूएई में दुबई, अबुधाबी और शारजाह में तीन मैदानों पर ही हुआ था।

बिना दर्शक के मैच आयोजन

कोरोना वायरस के चलते स्टेडियम के बंद दरवाजों में मैच आयोजित हो सकते हैं। बिना दर्शकों के आयोजित मैचों को दर्शक घर बैठे टीवी पर देख सकते हैं। इससे लोगों के पास भी घर में बैठकर समय बिताना आसान होगा। विदेशी खिलाड़ी नहीं भी आएं, तो भारतीय खिलाड़ियों के साथ आयोजन हो सकता है।

Quick Links

App download animated image Get the free App now