क्विंटन डी कॉक ने जबरदस्त खेल भावना दिखाते हुए सचिन तेंदुलकर की याद दिलाई

 डी कॉक खुद ही मैदान छोड़कर पवेलियन की तरफ चले गए
डी कॉक खुद ही मैदान छोड़कर पवेलियन की तरफ चले गए

आईपीएल (IPL) में लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबले में जबरदस्त खेल भावना देखने को मिली है। लखनऊ के ओपनर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक (Quinton De Kock) ने इसका परिचय दिया है। डी कॉक ने ईमानदारी दिखाते हुए अम्पायर द्वारा आउट नहीं दिए जाने के बाद पवेलियन जाना उचित समझा।

संदीप शर्मा की एक गेंद डी कॉक के बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर जितेश शर्मा के पास चली गई। डी कॉक ने अम्पायर के निर्णय के बगैर ही पवेलियन जाने का निर्णय ले लिया। अम्पायर ने उनको आउट नहीं दिया था लेकिन इस दक्षिण अफ़्रीकी खिलाड़ी ने खुद ही वापस पवेलियन का रुख किया। क्विंटन डी कॉक उस समय 46 रन के निजी स्कोर पर खेल रहे थे और वह चाहते तो फिफ्टी जड़ सकते थे। उनके पास क्रीज पर रुकने का मौका था।

कई महान बल्लेबाजों ने पहले भी इस तरह क्रिकेट की भावना दिखाई है और पंजाब किंग्स के खिलाफ आज के मैच में क्विंटन ने जो करने का फैसला किया वह भी एक बेहतरीन काम था। इस काम को करने वाले कुछ सबसे बड़े नामों में एडम गिलक्रिस्ट और सचिन तेंदुलकर शामिल हैं।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए लखनऊ सुपर जायंट्स ने 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 153 रन बनाए। इस दौरान टीम की ओर से क्विंटन डी कॉक और केएल राहुल ओपनिंग करने आए। राहुल सिर्फ 6 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए। जबकि डी कॉक ने 37 गेंदों में 46 रन बनाए। उनकी पारी में 4 चौके और 2 छक्के शामिल थे। दीपक हूडा ने अच्छी पारी खेली। उन्होंने 28 गेंदों पर 34 रन बनाए। हूडा ने दो छक्के और एक चौका लगाया। पंजाब किंग्स के लिए सबसे धाकड़ गेंदबाजी का प्रदर्शन कगिसो रबाडा ने किया। उन्होंने 4 विकेट अपने नाम किये। राहुल चाहर ने भी 2 विकेट झटके।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment