"मयंक अग्रवाल को पंजाब किंग्स की आक्रामक शैली को अपनाने के लिए थोड़ा और समय चाहिए" - पूर्व खिलाड़ी ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

मयंक अग्रवाल की कप्तानी में पंजाब किंग्स ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है
मयंक अग्रवाल की कप्तानी में पंजाब किंग्स ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है

आईपीएल 2022 (IPL 2022) में पंजाब किंग्स (PBKS) ने एक अलग ही रूख अपनाया हुआ है और टीम बेहद ही आक्रामक अंदाज में क्रिकेट खेल रही है। हालांकि टीम के कप्तान मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) का अंदाज थोड़ा अलग है और इसी वजह से टीम के पूर्व बल्लेबाजी कोच वसीम जाफर (Wasim Jaffer) का मानना है कि मौजूदा ब्रांड की क्रिकेट में ढलने के लिए मयंक को थोड़ा और समय की जरूरत है।

मयंक ने पिछले दो आईपीएल सीजन में लगातार 400 से भी अधिक रन बनाये और उनका स्ट्राइक रेट भी 140 से ज्यादा का रहा। हालांकि इस सीजन के शुरूआती तीन मैचों में उनके बल्ले से महज 37 रन ही निकले हैं और उनका स्ट्राइक रेट भी 120 से नीचे है।

इसके अलावा जाफर ने मयंक के जोड़ीदार शिखर धवन को लेकर भी प्रतिक्रिया दी, जो शुरू में काफी धीमा खेल रहे हैं। उनके मुताबिक शिखर क्रिकेट टीम की मौजूदा शैली के विपरीत हैं।

ईएसपीएन क्रिकइंफो पर वसीम जाफर ने कहा,

शिखर धवन ने अभी थोड़ा सा योगदान दिया है लेकिन अभी भी उस स्तर से काफी दूर है जो हमें उनसे है। मुझे लगा कि मयंक अग्रवाल अपनी पहली पारी में अच्छा खेल रहे थे, लेकिन तब से आउट होने का तरीका - वह एक टीम (सीएसके) के खिलाफ गेंद को स्वीप करते हुए आउट हो गए और फिर कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ सीधी गेंद पर। मयंक अग्रवाल शुरुआत में समय लेना पसंद करते हैं। लेकिन ऐसा लगता है कि जिस ब्रांड के बारे में हमने PBKS के साथ बात की थी, एक टॉप ऑर्डर का बल्लेबाज और कप्तान होने के नाते, उसे वह भूमिका निभाने की जरूरत है और अभी भी उसे एडजस्ट करने के लिए कुछ समय चाहिए।

जाफर ने आगे कहा कि दोनों ओपनर्स का योगदान देना टीम के लिए काफी अहम है क्योंकि हर बार मिडिल ऑर्डर आपको नहीं बचा सकता। उन्होंने कहा,

दोनों का योगदान बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि हमने देखा कि वे केकेआर (कोलकाता नाइट राइडर्स) के खिलाफ 135 रन पर ऑल आउट हो गए और यहां तक कि सीएसके (चेन्नई सुपर किंग्स) के खिलाफ भी उन्हें 220 रन चाहिए थे, लेकिन 20 रन कम हो गए। अगर शाहरुख खान और ओडियन स्मिथ जल्दी क्रीज पर आ रहे हैं तो यह चिंता की बात है।

पंजाब किंग्स के ओपनर्स भले ही अभी तक धमाकेदार प्रदर्शन न कर पाए हों लेकिन मिडिल ऑर्डर में हर मैच में किसी न किसी ने जिम्मेदारी उठाई और टीम को अच्छी स्थिति में पहुँचाया।

जॉनी बेयरस्टो को खिलाने का निर्णय मयंक अग्रवाल पर है - वसीम जाफर

गुजरात टाइटंस के खिलाफ होने वाले मैच के लिए इंग्लैंड के जॉनी बेयरस्टो भी पंजाब किंग्स में चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे। ऐसे में मयंक अग्रवाल के सामने बड़ी समस्या होगी कि किसे बाहर किया जाए।

इस मामले में जाफर ने कहा,

यह मयंक अग्रवाल पर निर्भर करेगा कि वह नंबर 3 पर खुद को शिफ्ट करते हुए जॉनी बेयरस्टो को बतौर ओपनर खिलाएं। मुझे नहीं लगता कि इससे ज्यादा अंतर पड़ेगा लेकिन शिखर धवन का बाएं-दाएं कॉम्बिनेशन के लिए ओपन करना जरूरी है। भानुका ने जिस तरह से दो पारियां खेली तो उनको ड्रॉप करना अनुचित होगा। लेकिन मैं बेयरस्टो को टीम में चाहता हूँ और उसके लिए आपको ओडियन स्मिथ को ड्रॉप करना होगा तथा किसी भारतीय तेज गेंदबाज को लाना होगा। ऐसे में सीधा विकल्प भानुका के स्थान पर बेयरस्टो को लाना है और वह बतौर ओपनर अच्छा करते हैं शायद मयंक अग्रवाल को अपने स्थान का त्याग करना होगा।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now