Create

खालिद लतीफ स्पॉट फिक्सिंग मामले में 5 साल के लिए निलंबित

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की भ्रष्टाचार निरोधी इकाई ने स्पॉट फिक्सिंग में दोषी पाए गए खालिद लतीफ को 5 वर्षों के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। लतीफ़ को अब अगले पांच सालों के लिए क्रिकेट के मैदान से दूर रहना होगा। 6 नियमों के उल्लंघन में प्रतिबन्ध के अलावा लतीफ पर 10 लाख रूपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

गौरतलब है कि फरवरी में पाकिस्तान के टी20 टूर्नामेंट पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग में संलिप्तता के चलते लतीफ़ को कुछ अन्य खिलाड़ियों के साथ आरोपी बनाया गया था। इसके बाद उन्हें पाक बोर्ड ने जांच और सुनवाई होने तक निलम्बित कर दिया था। प्रतिबन्ध के खिलाफ अपील करने के लिए उनके पास 14 दिनों का समय है। उन्हें बुकी से मिलने और अन्य खिलाड़ी शरजील खान को भी बुकी से मिलवाने का दोषी पाया गया है।

खालिद के वकील बद्र आलम ने कहा कि हम हाईकोर्ट के पूर्व न्यानाधीश असगर हैदर की अगुआई वाली समिति का फैसला नहीं मानेंगे और इसे उच्चतम न्यायलय में चुनौती देने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि समिति इस तरह के निर्णय नहीं ले सकती।

पाकिस्तान सुपर लीग के दूसरे सीजन में स्पॉट फिक्सिंग मामले में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शरजील खान पर भी 5 वर्ष के लिए सभी प्रारूपों में नहीं खेलने का प्रतिबंध लगा दिया था। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के एंटी करप्शन कोड में पांच मामलों में उन्हें दोषी पाया गया। फिक्सिंग में भूमिका के चलते उन पर यह पांच वर्षीय बैन लगा।

इसके अलावा कुछ अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर भी निलंबन की गाज गिरी, इनमें मोहम्मद इरफ़ान का नाम भी शामिल है। उन्हें एक वर्ष के लिए निलंबित किया गया है। इरफ़ान पर बुकी के लोगों के बारे में भ्रष्टाचार निरोधक इकाई को नहीं बताने का आरोप लगा था। तकरीबन आधे दर्जन से भी अधिक खिलाड़ी स्पॉट फिक्सिंग के दोषी पाए गए और उन्हें एक के बाद एक निलंबित करते हुए सजा दी गई है।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment