Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

क्रिस श्रीकांत ने संजय मांजरेकर पर लगाया पक्षपात करने का आरोप, बोले बम्बई के बाहर भी सोचो

संजय मांजरेकर बम्बई के अलावा कुछ नहीं सोचते - क्रिस श्रीकांत
संजय मांजरेकर बम्बई के अलावा कुछ नहीं सोचते - क्रिस श्रीकांत
Rahul Sharma
SENIOR ANALYST
Modified 28 Oct 2020, 18:30 IST
न्यूज़
Advertisement

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व विश्व विजेता ख़िलाड़ी और दिग्गज सलामी बल्लेबाज क्रिस श्रीकांत (Kris Srikkanth) ने संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) के द्वारा दिए गए केएल राहुल (KL Rahul) को लेकर बयान को गलत बताया है। उनपर पक्षपात का आरोप भी लगाया है। दरअसल संजय मांजरेकर ने ट्वीट के जरिए कहा कि राहुल को आईपीएल के आधार पर टेस्ट टीम जगह मिलना उनके लिए भाग्यशाली है और यह एक गलत मिसाल भी है। आप टी20 मैचों के आधार पर टेस्ट में किसी भी ख़िलाड़ी का चयन करते हो इससे रणजी खिलाड़ियों के मनोबल में कमी देखने को मिलती है। क्रिस श्रीकांत ने इसी बात को लेकर उनपर निशाना साधा और उनके इस बयान को बेतुका बताया।

वर्ल्ड कप 2011 विजेता टीम के चयनकर्ता रहे क्रिस श्रीकांत ने मांजरेकर के बयान को बेतुका बताते हुए कहा कि संजय मांजरेकर को अकेला ही छोड़ दें। उनके पास कोई और काम नहीं है। वह राहुल के टेस्ट चयन को लेकर सवाल उठा रहे है, जबकि राहुल ने टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया है। मैं उनकी बात से सहमत नहीं हूँ। आप सवाल करके किसी भी तरह का विवाद पैदा नहीं कर सकते। केएल राहुल ने सभी फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन किया है। आप उनके रिकॉर्ड देख सकते हैं, जो भी संजय मांजरेकर ने कहा है वो सब बेतुका है और मैं उनके इन बयानों से सहमत नहीं हूँ।

श्रीकांत ने संजय मांजरेकर पर पक्षपात का भी आरोप लगाया और कहा कि संजय बम्बई के खिलाड़ियों के अलावा किसी और राज्य के ख़िलाड़ी के बारे में नहीं सोचते। यही उनकी सबसे बड़ी परेशानी है। वह बम्बई के अलावा कुछ नहीं सोचते, संजय जैसे लोगों के लिए हर एक चीज़ बंम्बई है। उन्हें बंम्बई से बाहर का भी सोचना चाहिए। हमने भी सूर्यकुमार यादव के चयन न होने को लेकर चर्चा की, जबकि दिनेश कार्तिक और आर अश्विन के पक्ष में हमने कुछ नहीं कहा।

Published 28 Oct 2020, 18:30 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit