Create

"जेम्‍स एंडरसन के संन्‍यास का प्रबंधन इस टीम के लिए आगे बढ़ते हुए सबसे अहम होगा", पूर्व कप्‍तान का बयान

इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज जेम्‍स एंडरसन अपने करियर के अंतिम पड़ाव पर हैं
इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज जेम्‍स एंडरसन अपने करियर के अंतिम पड़ाव पर हैं

इंग्‍लैंड (England Cricket team) के पूर्व कप्‍तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) का मानना है कि जेम्‍स एंडरसन (James Anderson) के बाद लाल गेंद क्रिकेट में जिंदगी का प्रबंधन करना टीम के भविष्‍य के लिए अहम होगा। वॉन ने कहा कि जो रूट के लिए एशेज सीरीज में शिकस्‍त के बाद टेस्‍ट टीम को दोबारा पटरी पर लाना कड़ी चुनौती होगी।

जेम्‍स एंडरसन 39 की उम्र में भी निरंतर बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन उनका लंबे समय तक खेलना मुश्किल है। दाएं हाथ के तेज गेंदबाज एंडरसन ने मौजूदा एशेज सीरीज में इंग्‍लैंड के लिए दमदार प्रदर्शन किया है। एंडरसन कह चुके हैं कि वो संन्‍यास लेने की जल्‍दबाजी में नहीं है।

द टेलीग्राफ के लिए लिखे अपने कॉलम में वॉन ने बताया कि एंडरसन के संन्‍यास के बाद इंग्‍लैंड के उबरने से उनका भविष्‍य तय होगा। एंडरसन के स्‍तर को ध्‍यान में रखते हुए वॉन ने ध्‍यान दिलाया कि आसानी से बदलाव की जरूरत है।

उन्‍होंने लिखा, 'इस टीम के लिए आगे बढ़ने की अहम चीज होगी कि जेम्‍स एंडरसन के संन्‍यास का प्रबंधन कैसे करेंगे। उनका भविष्‍य टीम में बड़ा अंतर पैदा करेगा। जेम्‍स एंडरसन का विकल्‍प खोजना इंग्‍लैंड के लिए आसान नहीं होगा, लेकिन समय रहते उन्‍हें दोबारा निर्माण करने की जरूरत होगी। ऐसा नहीं कि एंडरसन को बर्खास्‍त कर दिया जाए। सही चीज होगी बदलाव करना, लेकिन इज्‍जत के साथ।'

वॉन ने आगे कहा, 'आप ऐसा तभी कर सकते हैं जब जेम्‍स एंडरसन से मजबूती से बात करें कि क्‍या होगा। सिर्फ इसलिए कि आप प्रदर्शन कर रहे हैं, मतलब नहीं कि आप बस खेलते जाएं।'

सिडनी में जेम्‍स एंडरसन ने अपना 169वां टेस्‍ट मैच खेला और वह टेस्‍ट इतिहास में सबसे ज्‍यादा टेस्‍ट खेलने वाले दुनिया के दूसरे खिलाड़ी बने।

टेस्‍ट टीम को इस तरह के खिलाड़‍ियों की जरूरत: वॉन

वॉन ने इंग्‍लैंड के टेस्‍ट में खराब प्रदर्शन पर बात करते हुए कहा कि टीम को ऐसे खिलाड़‍ियों के समूह की जरूरत है जो अपनी जिम्‍मेदारी समझे।

वॉन ने लिखा, 'टेस्‍ट टीम को ऐसे खिलाड़‍ियों के समूह की जरूरत है जैसे 2019 वर्ल्‍ड कप स्‍क्‍वाड था। जब वह प्रतियोगिता में पहुंचे तो ऐसे सीनियर खिलाड़ी थे, जिन्‍होंने चार साल साथ खेला और उन्‍हें अपनी जिम्‍मेदारी पता थी। यह टेस्‍ट टीम का दृष्टिकोण होना चाहिए। उन्‍हें यहां सीनियर खिलाड़‍ियों के समूह के साथ आना चाहिए, जिसका मतलब अगले चार साल में यह खिलाड़ी काफी टेस्‍ट मैच का अनुभव हासिल कर ले।'

यह देखना होगा कि मौजूदा एशेज सीरीज के बाद जो रूट को कप्‍तानी से हटाया जाता है या नहीं। बेन स्‍टोक्‍स कप्‍तान बनने के उपयुक्‍त दावेदार हैं।

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment