Create

मिस्बाह उल हक ने पाकिस्तान के मध्यक्रम में सुधार की जरूरत बताई

Naveen Sharma

पाकिस्तान (Pakistan) के मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक (Misbah Ul Haq) ने दक्षिण अफ्रीका में एकदिवसीय श्रृंखला की जीत को युवा कप्तान बाबर आज़म के लिए बड़ा आत्मविश्वास बढ़ाने वाला करार दिया है। उन्होंने कुछ मुद्दों को का जिक्र किया है, जिन्हें आगे बढ़ाने की जरूरत है। मिस्बाह ने मध्यक्रम के गेम प्लान को और ज्यादा बेहतर बनाने पर जोर दिया है।

मिस्बाह ने कहा कि पाकिस्तान की 2-1 से श्रृंखला जीतने में नम्बर 6 और 7 की पावर-हिटिंग सफल नहीं थी।" हमें उस पर एक नजर डालनी होगी। जाहिर है कि हसन ने हमारे लिए अंत में यही किया। नवाज, आसिफ और दानिश भी हमारे लिए अच्छा कर सकते थे। पाक कोच ने यह भी कहा कि उनमें क्षमता है लेकिन हमें यह मानना होगा कि वे ओवरसीज में अलग परिस्थितियों में खेल रहे थे।

मिस्बाह उल हक का पूरा बयान

मिस्बाह उल हक ने कहा कि हमें मध्य क्रम से कुछ शक्ति के साथ अधिक निरन्तरता से रन चाहिए। इसके लिए बड़े रन बनाने की जरूरत है। यदि आप कल का मैच देखते हैं, तो 320 का स्कोर एक समय में सुरक्षित नहीं दिख रहा था। आज के क्रिकेट में, 330-350 के स्कोर आम हैं और इसके लिए आपके मध्य क्रम में क्षमता होनी चाहिए। हमें वैसे ही खत्म करना होगा जैसे हमारे लिए शीर्ष क्रम से शुरुआत होती है।

मिस्बाह ने सुधार के क्षेत्रों की ओर भी इशारा किया, जब स्पिन और बल्लेबाजी दोनों की बात आती है, तो यह देखते हुए कि भारत में स्पिन के लिए मददगार जगह पर वर्ल्ड के मुख्य टूर्नामेंट हैं। इस साल के अंत में टी20 विश्व कप के बाद भारत 2023 में 50 ओवर के विश्व कप की भी मेजबानी भी भारत करेगा। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए मिस्बाह ने स्पिन गेंदबाजी और मध्यक्रम की बल्लेबाजी को और ज्यादा सुदृढ़ करने की बात कही।


Edited by Naveen Sharma

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...