संन्यास के बाद मोहम्मद आमिर ने मिस्बाह उल हक और वकार यूनिस पर साधा निशाना

Nitesh
मोहम्मद आमिर
मोहम्मद आमिर

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने अपने रिटायरमेंट के बाद चौंकाने वाली प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने अपने संन्यास को लेकर पाकिस्तान के हेड कोच मिस्बाह उल हक और गेंदबाजी कोच वकार यूनिस पर बड़ा आरोप लगाया है। मोहम्मद आमिर के मुताबिक इन दोनों दिग्गजों ने उनकी इमेज को खराब करने की कोशिश की।

अपने अफिशियल यू-ट्यूब चैनल पर मोहम्मद आमिर ने रिटायरमेंट को लेकर पाकिस्तान टीम मैनेजमेंट पर बड़ा आरोप लगाया। उन्होंने कहा " मिस्बाह उल हक और वकार यूनिस ने धीरे-धीरे लोगों को भ्रमित करना शुरु कर दिया कि मैं टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहता हूं और पैसे कमाने के लिए केवल टी20 क्रिकेट पर ध्यान दे रहा हूं। उन्होंने लोगों के अंदर ये धारणा पैदा कर दी कि मेरे ऊपर इतना निवेश करने के बावजूद मैंने टीम का साथ छोड़ दिया।"

मोहम्मद आमिर ने आगे कहा "उन्होंने मेरी इमेज खराब करने की कोशिश की जिसे बनाने में काफी समय लगता है। ये मेरे लिए काफी मुश्किल फैसला था लेकिन मेरे हिसाब से अब समय आ गया है कि मैं चुप ना रहूं। इस मामले को उठाने के लिए ही मैंने ये फैसला लिया और लोगों को बताया कि क्या हो रहा है।"

ये भी पढ़ें: टेस्ट क्रिकेट इतिहास में भारतीय टीम के 3 सबसे कम स्को

मोहम्मद आमिर के मुताबिक टेस्ट क्रिकेट से रिटायर होने के बाद उन्होंने खुद को लिमिटेड ओवर्स के लिए उपलब्ध रखा था। इसके बावजूद वर्तमान टीम मैनेजमेंट ने उन्हें दरकिनार कर दिया। उन्होंने कहा " जब न्यूजीलैंड दौरे के लिए उन्होंने 35 सदस्यीय टीम में मेरा चयन नहीं किया तब मुझे काफी दुख हुआ था। उन्हें लगा कि मुझे सिर्फ लीग्स में खेलने से मतलब है और इस तरह टीम से ड्रॉप किए जाने के बाद मैं कोई प्रतिक्रिया नहीं दूंगा।"

मोहम्मद आमिर ने हाल ही में किया था संन्यास का ऐलान

आपको बता दें कि हाल ही में मोहम्मद आमिर ने वर्तमान टीम मैनेजमेंट पर मानसिक रूप से प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को इस समय छोड़ने का फैसला लिया। मोहम्मद आमिर इस समय महज 28 वर्ष के हैं।

ये भी पढ़ें: 3 महान क्रिकेटर जिन्होंने नाटकीय अंदाज में की थी भारतीय टीम में वापसी

Quick Links

Edited by Nitesh