Create
Notifications

आईपीएल 2020 - एम एस धोनी के नंबर 7 पर बैटिंग करने का कोई फायदा नहीं है - गौतम गंभीर

Photo Credit - IPL
Photo Credit - IPL
Nitesh

कोलकाता नाइट राइडर्स के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच के दौरान एम एस धोनी के बैटिंग ऑर्डर को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मुकाबले के दौरान एम एस धोनी 7वें नंबर पर बैटिंग के लिए आए थे और इसको लेकर काफी तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। गौतम गंभीर ने कहा है कि एम एस धोनी के नंबर 7 पर बैटिंग करने का कोई फायदा नहीं है। क्योंकि उन्होंने जितने भी रन बनाए वो टीम के काम नहीं आए और वो उनके पर्सनल रन थे।

ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर गौतम गंभीर ने कहा कि मैं इस फैसले से काफी ज्यादा हैरान था। धोनी ने खुद से पहले ऋतुराज गायकवाड़ और सैम करन को बैटिंग के लिए भेजा, लेकिन इसका कोई मतलब ही नहीं बनता है। आपको आगे आकर टीम का नेतृत्व करना चाहिए। इतने बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए आप नंबर 7 पर बैटिंग करने आते हैं और तब तक मैच खत्म हो चुका था। फाफ डू प्लेसी ने अकेले संघर्ष किया।

ये भी पढ़ें: आईपीएल इतिहास में सबसे महंगा 20वां ओवर डालने वाले 3 गेंदबाज

एम एस धोनी के राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच के दौरान 7वें नंबर पर आने को लेकर काफी चर्चा हुई। कई फैंस का मानना था कि धोनी को और पहले बैटिंग के लिए आना चाहिए था। वहीं टीम के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने भी धोनी के बैटिंग ऑर्डर को लेकर प्रतिक्रिया दी।

स्टीफन फ्लेमिंग ने भी एम एस धोनी के बैटिंग ऑर्डर को लेकर दी प्रतिक्रिया

मैच के बाद पत्रकारों से बातचीत में स्टीफन फ्लेमिंग ने एम एस धोनी के बैटिंग ऑर्डर को लेकर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि एम एस धोनी पारी के आखिर में एक स्पेशलिस्ट बल्लेबाज हैं और वो हमेशा से यही काम करते आए हैं। सैम करन कुछ बड़े शॉट लगाकर हमें मैच में बनाए रखने की कोशिश कर रहे थे। ऋतुराज गायकवाड़ का ये पहला मैच था और हम चाहते थे कि वो बैटिंग ऑर्डर में ऊपर खेलें। हम एक आक्रामक क्रिकेट खेलना चाहते थे।

चेन्नई सुपर किंग्स को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 16 रन से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि मैच में उन्होंने मुंबई के खिलाफ जीत हासिल की थी।

ये भी पढ़ें: आईपीएल के एक ओवर में 30 या उससे ज्यादा रन देने वाले 7 गेंदबाज


Edited by Nitesh

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...