Create
Notifications

'इशान किशन के सामने फीकी लगती है विराट कोहली की बल्‍लेबाजी'

इशान किशन और विराट कोहली
इशान किशन और विराट कोहली
reaction-emoji
Vivek Goel

आकाश चोपड़ा ने भारतीय क्रिकेट में गहराई के लिए आईपीएल (IPL) को श्रेय दिया है। उन्‍होंने इशान किशन का उदाहरण दिया, जिनकी डेब्‍यू मैच की पारी कप्‍तान विराट कोहली की पारी पर भारी पड़ी थी।

किशन ने इंग्‍लैंड के खिलाफ इस साल टी20 इंटरनेशनल मैच में डेब्‍यू करते हुए केवल 32 गेंदों में 56 रन बनाए थे। भारतीय कप्‍तान विराट कोहली के साथ दूसरे विकेट के लिए किशन ने 94 रन की साझेदारी की थी, जिसमें युवा बल्‍लेबाज ज्‍यादा हावी दिखाई दे रहे थे।

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल के माध्‍यम से भारतीय टीम में गहराई के राज पर प्रकाश डाला। क्रिकेटर से कमेंटेटर बने आकाश चोपड़ा ने बताया कि आईपीएल के दौरान घरेलू क्रिकेटरों को उच्‍च-दबाव वाले मैच खेलने का मौका मिलता है, जो उनके परिपक्‍व होने में अहम भूमिका निभाता है।

चोपड़ा ने कहा, 'आईपीएल ने फर्स्‍ट-क्‍लास क्रिकेटर्स को भरे हुए स्‍टेडियम में खेलने की अनुमति दी। मेरा डेब्‍यू टेस्‍ट पहला मैच था, जब मैंने दर्शकों के बीच मैच खेला था। इशान किशन ने आईपीएल में काफी खेला और जब उसे भारत के लिए मौका मिला तो उसकी बल्‍लेबाजी के सामने विराट कोहली की बल्‍लेबाजी फीकी लगी।'

चोपड़ा ने साथ ही कहा कि न सिर्फ इशान किशन बल्कि कई भारतीय क्रिकेटरों को आईपीएल में खेलने का फायदा मिला है।

उन्‍होंने कहा, 'नितीश राणा ने डेब्‍यू नहीं किया, लेकिन उन पर दबाव नहीं है। वह लगातार दर्शकों के सामने जाकर खेलते रहे और कोई दबाव महसूस नहीं हुआ। आप किसी को भी देख लीजिए। सूर्यकुमार यादव ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट की पहली गेंद पर स्‍कूप शॉट की मदद से छक्‍का जमा दिया। देवदत्‍त पडिक्‍कल की भी वही कहानी है।'

आईपीएल ने दिया बड़ा मौका

आईपीएल ने निश्चित ही युवा क्रिकेटरों के लिए बड़ा मंच प्रस्‍तुत किया है, जिससे वह अपनी प्रतिभा दिखाकर दबावमुक्‍त होना सीख लेते हैं।

आकाश चोपड़ा ने ध्‍यान दिलाया कि आईपीएल ने युवा भारतीय खिलाड़‍ियों को विश्‍व क्रिकेट के दिग्‍गजों के साथ और खिलाफ खेलने का मौका दिया है।

उन्‍होंने कहा, 'इस तूफान ने भारत के दुनिया में नंबर-1 क्रिकेट देश के सफर को गति प्रदान कर दी है। आईपीएल ने आपको ताकत दी है। इसने आपको सपना देखने के लिए प्रोत्‍साहित किया। इसने कई घरेलू क्रिकेटरों को दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़‍ियों के साथ खेलने का मौका दिया।'

43 साल के आकाश चोपड़ा ने बताया कि आईपीएल ने खिलाड़‍ियों को अपने खेल का स्‍तर बढ़ाने के लिए जोर दिया है। उन्‍होंने कहा, 'आपको पता चलता है कि कैसे दबाव और उम्‍मीदों को संभालना है। आपको अपने क्रिकेट के गुण को सुधारना भी पड़ता है। इसलिए मुझे लगता है कि आईपीएल शानदार है। यह आपको भारत के लिए खिलाने का शानदार वाहन है।'


Edited by निशांत द्रविड़
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...