रवि शास्त्री ने अपने करियर का सबसे बड़ा पल बताया, ऋषभ पन्त की यादगार पारी का किया जबरदस्त जिक्र

Rahul
Australia v India: 4th Test: Day 5
ऋषभ पन्त ने 89 रनों की मैच जिताऊ और यादगार पारी खेली थी

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कोच और दिग्गज ऑलराउंडर रहे रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को आज बीसीसीआई (BCCI) की तरफ से लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड दिया गया है। रवि शास्त्री के अलावा फारुख इंजिनियर को भी इस सम्मान से नवाजा गया। अवॉर्ड लेने के बाद रवि शास्त्री से उनके क्रिकेट करियर के सबसे बड़े पल को लेकर सवाल किया गया, जिसपर रवि शास्त्री ने कई पलों को गिनाया लेकिन अंत में ऋषभ पन्त (Rishabh Pant) द्वारा ब्रिसबेन में खेली गई मैच जिताऊ पारी को उन्होंने 'सोने पर सुहागा' बताया है।

रवि शास्त्री ने जवाब में कहा कि, 'ऐसे बहुत सारे पल है और एक चुनना मुश्किल होगा। 1985 में पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मुकाबला, 1983 में वर्ल्ड कप जीत, वेस्टइंडीज की धरती पर शतक और अगर बात कमेंट्री की करें तो उसमें धोनी द्वारा लगाया गया वर्ल्ड कप विनिंग छक्का और टी20 वर्ल्ड कप 2007 की जीत और कोच के रूप में ऑस्ट्रेलिया में लगातार दो सीरीज जीत लेकिन अगर आप मुझसे एक पल के बारे में पूछोगे जो सोने पर सुहागा होगा, वो गाबा में हमने आखिरी दिन जीत की दहलीज को पार किया था।'

पूर्व भारतीय कोच द्वारा गाबा टेस्ट जीत पर समारोह में बैठे सभी खिलाड़ी और अधिकारी तालियाँ बजाने लगे और इस दौरान रवि शास्त्री ने आगे कहा कि, 'ऋषभ पन्त ने जो मैच फिनिश किया उससे बड़ा मैडल कोई और नहीं हो सकता।'

आपको बता दें कि साल 2021 की शुरुआत में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का निर्णायक मुकाबला ब्रिसबेन के गाबा स्टेडियम में खेला गया। भारतीय टीम को टेस्ट मैच और सीरीज जीतने के लिए 328 रन बनाने थे। ऋषभ पन्त ने 89 रनों की नाबाद और मैच जिताऊ पारी खेली। उन्होंने चौका लगाकर भारतीय टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाई और इस दौरान भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री रहे थे।

Quick Links

Edited by Rahul