Create

सौरव गांगुली ने लॉर्ड्स टेस्‍ट में जीत के बाद भारतीय टीम के बारे में दिया बड़ा बयान

सौरव गांगुली
सौरव गांगुली

भारतीय टीम (India cricket team) ने इंग्‍लैंड (England Cricket team) को हैरान करते हुए सोमवार को लॉर्ड्स में खेला गया दूसरा टेस्‍ट 151 रन के विशाल अंतर से जीत लिया। इसी के साथ विराट कोहली (Virat Kohli) के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम ने पांच मैचों की सीरीज (IND vs ENG) में 1-0 की बढ़त बना ली है।

मोहम्‍मद शमी और जसप्रीत बुमराह ने ऑलराउंड प्रदर्शन किया। दोनों ने पहले 9वें विकेट के लिए 89 रन की साझेदारी की और इसके बाद दूसरी पारी में चार विकेट आपस में बाटे।

क्रिकेट के मक्‍का कहे जाने वाले लॉर्ड्स मैदान पर भारत की यह तीसरी जीत रही। इससे पहले 2014 में एमएस धोनी के नेतृत्‍व में टीम इंडिया को लॉर्ड्स पर आखिरी टेस्‍ट जीत मिली थी।

बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने भारतीय टीम के बारे में बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने टीम के चरित्र और साहस की तारीफ की है। गांगुली ने ट्वीट किया, 'भारत के लिए शानदार जीत। क्‍या चरित्र और साहस टीम ने दिखाया। हर किसी ने यह करके दिखाया। इतने करीब से मैच देखने में अच्‍छा लगा।' याद दिला दें कि गांगुली खुद भी लॉर्ड्स मैदान पर इस मैच देखने के लिए उपस्थित थे।

बता दें कि टीम इंडिया ने लॉर्ड्स में पहले बल्‍लबाजी की और पहली पारी में 364 रन बनाए थे। इसके जवाब में इंग्‍लैंड ने पहली पारी में 391 रन बनाए थे। मेजबान टीम ने पहली पारी के आधार पर 27 रन की बढ़त हासिल की थी। फिर भारत ने अपनी दूसरी पारी 298/8 के स्‍कोर पर घोषित करके इंग्‍लैंड के सामने 272 रन का लक्ष्‍य रखा था। इसका पीछा करते हुए मेजबान टीम 120 रन पर ढेर हो गई थी।

गांगुली ने लॉर्ड्स के अपने अनुभव साझा किए

हाल ही में सौरव गांगुल ने लॉर्ड्स टेस्‍ट के दौरान स्‍टेडियम से जुड़े अपने अनुभव साझा किए थे। गांगुली ने कहा था, 'यह शानदार है। मैंने इस स्‍टेडियम को बढ़ते हुए देखा है। मैं 1996 में यहां बतौर खिलाड़ी आया, तब स्‍टैंड्स अलग थे और जब मैं कमेंटेटर बनकर आया, तो यह पहले से भी बेहतर थ। पिछले दो साल में स्‍टैंड्स को इस तरह बढ़ते देखकर बहुत अच्‍छा लगा। यह मैदान बढ़ रहा है। इसका समृद्ध इतिहास है। इन्‍होंने पुराने स्‍टैंड को वैसा ही रखा और मैदान के अन्‍य हिस्‍सों में नए स्‍टैंड्स तैयार रखे। क्रिकेट खेलने के लिए यह बेहतरीन जगह है।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment