Create

दिल्‍ली कैपिटल्‍स के प्रदर्शन के बारे में हेड कोच रिकी पोंटिंग ने दिया बड़ा बयान

दिल्‍ली कैपिटल्‍स के हेड कोच रिकी पोंटिंग ने कहा कि टीम को लय हासिल करने की जरूरत है
दिल्‍ली कैपिटल्‍स के हेड कोच रिकी पोंटिंग ने कहा कि टीम को लय हासिल करने की जरूरत है

दिल्‍ली कैपिटल्‍स (Delhi Capitals) की टीम सात मैचों में तीन जीत और चार हार के साथ अंक तालिका में इस समय सातवें स्‍थान पर है और गुरुवार को वो अपना अगला मुकाबला कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) के खिलाफ खेलेगी।

दिल्‍ली कैपिटल्‍स आईपीएल 2022 के अहम दूसरे हाफ की तैयारी में जुटी है। डीसी के हेड कोच रिकी पोंटिंग ने कहा कि टीम को आगामी मैचों के लिए लय हासिल करने की जरूरत है।

सीजन के पहले हाफ पर प्रकाश डालते हुए पोंटिंग ने कहा, 'इस साल मैंने कई बार कहा कि जहां 36 से 37 ओवर हमने अच्‍छा प्रदर्शन किया तो दो या तीन ओवर में हमारे हाथ से बाजी फिसल गई। इन मैचों में यही फर्क रहा। हमने सीजन के पहले हिस्‍से में खुद को तैयार नहीं रखा, बस प्रयास किया और आगे बढ़ने की कोशिश की। मगर हमारा प्रदर्शन एक मैच जीतना, एक मैच हारना और एक मैच जीतना रहा। तो हमें कुछ लय हासिल करने की शुरूआत की जरूरत है।'

आगामी दूसरे हाफ के बारे में बात करते हुए पोंटिंग ने कहा, 'मुझे पता है कि हम चीजें बदलने के करीब हैं। हमें विश्‍वास करना होगा। हमें सकारात्‍मक रहना होगा। और अगर हमने ऐसा किया तो चीजें निश्चित ही बदलेंगी।'

केकेआर के खिलाफ गुरुवार को होने वाले मुकाबले के बारे में बात करते हुए पोंटिंग ने कहा, 'यहां से हम जितनी कड़ी मेहनत करेंगे, उतनी चीजें आसान होती जाएगी। हमें बस आराम से रहने की जरूरत है। हम जो अच्‍छा काम करते रहे हैं, उसे दोहराने की जरूरत है। निश्चित ही नतीजे हमारे पक्ष में आएंगे। हमारी टीम अच्‍छी है।'

रिकी पोंटिंग पांच दिन का एकांतवास पूरा करने के बाद दोबारा टीम से जुड़े हैं। उनके परिवार का सदस्‍य कोविड-19 की चपेट में आया था। पोंटिंग ने कहा, 'दोबारा बाहर आकर काफी राहत महसूस कर रहा हूं। पांच दिन एकांतवास में रहा तो खेल की कमी खली। मैच में चीजें अंत में सही नहीं हुई, अंत में थोड़ा ड्रामा हुआ। मगर दोबारा बाहर आकर अच्‍छा लगा।'

पृथकवास में रहकर टीम का मैच देखने के अनुभव बताते हुए पोंटिंग ने कहा, 'यह निराशाजनक था। मेरे ख्‍याल से मैंने तीन या चार रिमोट तोड़े और पानी की कुछ बोतलें दीवारों पर दे मारी और ऐसी कुछ चीजें की। पोंटिंग ने फिर जोरदार ठहाका लगाया, उन्‍होंने मजाक में ये बात कही थी।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'जब आप मैदान में नहीं हो। टीम के कोच हों और मैदान में हो रही चीजों को नियंत्रित नहीं कर सके तो बहुत मुश्किल होता है। मगर जब आप मैदान में नहीं हो तो ज्‍यादा निराशा होती है।'

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment