Create

क्रेग ब्रैथवेट ने ब्रिजटाउन टेस्ट के दौरान हासिल की बड़ी उपलब्धि, ब्रायन लारा का 18 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा 

West Indies v England - 2nd Test: Day Four
West Indies v England - 2nd Test: Day Four

वेस्टइंडीज और इंग्लैंड (WI vs ENG) के बीच ब्रिजटाउन में खेले गया दूसरा टेस्ट मैच कैरेबियाई कप्तान क्रेग ब्रैथवेट (Kraigg Brathwaite) के लिए यादगार रहा। उन्होंने दोनों पारियों में इंग्लिश गेंदबाजों का शानदार तरीके से सामना किया और अपनी टीम को मैच बचाने में मदद की। इस मैच में ब्रैथवेट ने वेस्टइंडीज की पहली और दूसरी पारी को मिलाकर कुल 673 गेंदों का सामना किया और किसी भी कैरिबियाई बल्लेबाज द्वारा एक टेस्ट मैच में सर्वाधिक गेंदों का सामना करने का रिकॉर्ड बनाया। इस तरह वेस्टइंडीज के कप्तान ने ब्रायन लारा (Brian Lara) का 18 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया।

इससे पहले वेस्टइंडीज के लिए एक टेस्ट में सबसे ज्यादा गेंदे खेलने वाले बल्लेबाजों में ब्रायन लारा का नाम सबसे ऊपर था, जिन्होंने 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ 582 गेंदों का सामना किया था। उनके बाद पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर सर गैरी सोबर्स का नाम आता है। सोबर्स ने 1958 में 575 गेंदों का सामना किया था।

ब्रैथवेट ने पहली पारी में 489 गेंदों का सामना करते हुए 160 रन बनाये थे और उसके बाद अंतिम दिन अपनी टीम को मुश्किल से बाहर निकालते हुए मैच ड्रॉ कराने के लिए 184 गेंदों का सामना किया और इस दौरान 56 रन बनाये। उनकी इस पारी की वजह इंग्लिश टीम जीत से वंचित रह गयी।

वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच दूसरा टेस्ट रहा ड्रॉ

West Indies v England - 2nd Test: Day Five
West Indies v England - 2nd Test: Day Five

इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 9 विकेट पर 507 रन बनाए थे। इसके जवाब में वेस्टइंडीज ने अपनी पहली पारी में 411 रन बनाए थे और मेहमान टीम को 96 रनों की बढ़त हासिल हुई थी। इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी 6 विकेट पर 185 रन बनाकर घोषित कर दी और वेस्टइंडीज के सामने जीत के लिए 282 रनों का टारगेट रखा था। जवाब में कैरेबियाई टीम ने दूसरी पारी में बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट पर 135 रन बनाए। इस तरह ब्रिजटाउन टेस्ट ड्रॉ रहा।

सीरीज के शुरूआती दोनों मैच अभी तक ड्रॉ हुए हैं और सीरीज जीतने के लिए दोनों टीमें 24 मार्च से ग्रेनाडा में खेले जाने वाले अंतिम टेस्ट में अपना दमखम दिखाना चाहेंगी।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment