Create

"अगर मैं परफॉर्म नहीं करूंगा तो कोई और मेरी जगह ले लेगा", बांग्‍लादेश के प्रमुख खिलाड़ी का अहम बयान

मेहदी हसन मिराज ने निरंतर बेहतर प्रदर्शन करने को सफलता के लिए अहम बताया
मेहदी हसन मिराज ने निरंतर बेहतर प्रदर्शन करने को सफलता के लिए अहम बताया

बांग्‍लादेश (Bangladesh Cricket team) ने अफगानिस्‍तान (Afghanistan cricket team) को वनडे सीरीज में मात दी। इसमें बढ़‍िया बात यह रही कि बांग्‍लादेश की जीत में कई खिलाड़‍ियों का योगदान रहा, सिर्फ सीनियर्स का नहीं। अफीफ हुसैन (Afif Hossain), मेहदी हसन मिराज (Mehidy Hasan Miraz), लिटन दास (Liton Das) और तस्कीन अहमद (Taskin Ahmed) ने पहले दो मैचों में मैच विजयी प्रदर्शन किए, जिसकी मदद से बांग्‍लादेश ने 2-0 की अजेय बढ़त बनाई।

मिराज ने कहा कि मौके को देखते हुए युवा खिलाड़ी अब जानते हैं कि बांग्लादेश के लिए मैच विनर बनने के लिए उन्हें क्या करना होगा। उन्‍होंने कहा कि उनके योगदान टीम का हौसला बढ़ाएंगे विशेषकर जब सीनियर्स के ग्रुप के साथ खेल रहे हो, जो पिछले 10 साल से निरंतर रहे हैं।

मिराज ने कहा, 'सीनियर्स हमेशा चाहते हैं कि जूनियर्स अच्‍छा प्रदर्शन करें, जिससे टीम को मदद मिलती है। वो हमेशा हमारा साथ देते हैं, हमसे बात करते हैं। लिटन, मुस्‍ताफिजुर रहमान और मैं करीब पांच-छह साल से यहां हैं। तो हमें कुछ अनुभव हो गया है। हम इसका उपयोग अच्‍छा क्रिकेट खेलने में लगाना चाहते हैं। जब हमारे पास मौका था, तो हमने साधारण क्रिकेट खेलकर साझेदारी बनाने की कोशिश की। जब बड़ी साझेदारी हुई तो हमने मैच जीतने के बारे में सोचा। इस तरह के मौके पाने से हमें भविष्‍य में फायदा मिलेगा।'

मिराज ने आगे कहा, 'हमने सीनियर्स से सीखा कि कौन देश के लिए बड़ी उपलब्धि लेकर आया। वो बांग्‍लादेश को अगला कदम लेने में मदद करेंगे। उन्‍होंने बांग्‍लादेश को कई मैच जिताए हैं। जब वो ऐसा कर रहे थे तब जूनियर सदस्‍य होने के नाते हम सोचते थे कि जब भी हमें ऐसा मौका मिलेगा तो टीम को जीत जरूर दिलाएंगे। जब हम मैदान में गए तो विश्‍वास जरूर था। जब हमने अपने अर्धशतक पूरे किए तब हमने एक-दूसरे से कहा कि अगर हमने मैच नहीं जीता तो इस अर्धशतक के कोई मायने नहीं बचेंगे। अगर हम मैच जीते, तो यह उपलब्धि होगी।'

अफीफ और मिराज ने पहले वनडे में 174 रन की साझेदारी करके बांग्‍लादेश को जीत दिलाई थी। तब बांग्‍लादेश ने 45/6 की बुरी स्थिति से उबरकर 216 रन का लक्ष्‍य हासिल किया था। फिर दूसरे वनडे में लिटन दास ने पांचवां वनडे शतक जमाया जबकि तस्कीन अहमद ने बीच के ओवरों में शानदार गेंदबाजी की। जहां चारों खिलाड़ी पहले भी बांग्‍लादेश क लिए बेहतर प्रदर्शन कर चुके हैं। लिटन, मिराज और तस्कीन पिछले महीने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्‍ट जीत का हिस्‍सा भी थे। ये तीनों लगातार निरंतर प्रदर्शन नहीं करने के कारण संदेह के घेरे में थे।

बांग्‍लादेश ने अगली पीढ़ी के क्रिकेटरों को सर्वश्रेष्‍ठ स्‍तर पर लगातार बेहतर प्रदर्शन करते देखने के लिए लंबा इंतजार किया। इंग्‍लैंड के खिलाफ 2016 में मिराज के लाजवाब प्रदर्शन ने ध्‍यान आकर्षित किया था। मगर निरंतरता उन्‍हें ज्‍यादा सफलता दिला सकती है।

मिराज ने कहा, 'आप प्रदर्शन के कारण राष्‍ट्रीय टीम में खेल सकते हैं। हम भले ही उम्र में युवा हो, लेकिन सीनियर या जूनियर का बहाना नहीं दे सकते हैं। अगर मैं प्रदर्शन नहीं करूंगा तो कोई और मेरी जगह ले लेगा। जल्‍द ही मुझे खुद को अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में जमाना होगा। इस स्‍तर पर मेरा लंबा करियर हो सकता है।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment