ऑस्‍ट्रेलिया को 2023 वर्ल्‍ड कप खिताब कैसे जिताया? कप्‍तान पैट कमिंस ने आखिरकार किया खुलासा

India v Australia: Final - ICC Men
पैट कमिंस ने कहा कि उन्‍होंने योजना में बदलाव किया जो कारगर साबित हुई

ऑस्‍ट्रेलियाई (Australia Cricket Team) कप्‍तान पैट कमिंस (Pat Cummins) ने हाल ही में खुलासा किया कि कैसे पिछले महीने उन्‍होंने 2023 वर्ल्‍ड कप (2023 Odi World Cup) खिताब भारत में जीता। तेज गेंदबाज ने खुलासा किया कि ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa Cricket Team) में वनडे सीरीज गंवाने के बाद प्‍लान ए से प्‍लान बी में स्विच किया था, जिसका पूरा फायदा मिला।

पैट कमिंस ने कहा कि उन्‍होंने देखा कि उनकी टीम के साथी लंबे गेंदबाजी स्‍पेल करके थक रहे हैं और फिर फिर उनकी कुटाई हो रही। ऐसा इसलिए क्‍योंकि दक्षिण अफ्रीका की उमस और नमी, भारत जैसी है। इसके कारण कमिंस ने ऑस्‍ट्रेलिया के हेड कोच एंड्रयू मैकडोनाल्‍ड से नई योजना के बारे में बातचीत की।

कमिंस कलाई में चोट के कारण दक्षिण अफ्रीका के ख‍िलाफ सीरीज नहीं खेल सके थे, लेकिन उन्‍होंने बातचीत की शुरुआत की। कमिंस के हवाले से सिडनी मॉर्निंग हेराल्‍ड ने कहा, 'तो दूर से ही, आप उसे देखेंगे तो थोड़ा दबाव हटेगा। ऐसा लगा कि आपने चीजें अलग तरह से देखी और हम आमतौर पर मैदान में जो करते हैं, वो अलग होता है।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'एंड्रयू के पास बैठने का मतलब था कि हम सीरीज से पहले उड़ान के समय कई विषयों पर बात कर सकते हैं। मेरे ख्‍याल से सेंचुरियन में गर्मी थी करीब 40 डिग्री सेलसियस' का तापमान था। लड़के इतनी गर्मी में 3 घंटे तक बाहर रहे। फिर आपके सामने दो क्रीज पर जमे बल्‍लेबाज हो और आप दौड़कर यॉर्कर गेंद डालने की कोशिश करें और बाहरी होने के नाते आपको ऐसा करना बेहद मुश्किल है।'

ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान ने साथ ही कहा, 'लड़के थके हुए दिखे। वो घंटों से बाहर थे। तो मेरे दिमाग में आया कि आपको बातचीत शुरू करनी होगी कि चला हमने अपना सर्वश्रेष्‍ठ दिया और हम यॉर्कर डालने में भी कामयाब हुए। मगर 40 ओवर तक हम मैदान पर रहे और थक गए तो अपने पक्ष में बाजी कैसे लाएंगे? तो धीमी गति की गेंदें, बाउंसर या फिर कटर जैसी चीजें अपनाकर अंतर लाने की कोशिश करेंगे।'

पैट कमिंस की कप्‍तानी में ऑस्‍ट्रेलिया ने वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप और वनडे वर्ल्‍ड कप व एशेज सीरीज अपने नाम की। कमिंस ने कहा, 'यह साल ऐसा रहेगा, जिसे मैं संभवत: अपने करियर की हाइलाइट के रूप में याद रखूंगा। बहुत व्‍यस्‍त साल है, लेकिन क्रिकेट के रूप में मेरे लिए सबसे संतुष्टिदायक रहा। इस साल कई समझौते किए। लड़कों ने घर से ज्‍यादा समय दूर बिताया। तो इस समय एक-दूसरे से मिलना और जश्‍न मनाना बेहतर है।'

Quick Links

Edited by Rahul